39 उम्मीदवारों में 17 पर दुबारा भरोषा जताया एनडीए ने

0
74

एनडीए की ओर से घोषित बिहार के 39 उम्मीदवारों में 17 ऐसे हैं, जो अभी सांसद हैं। भाजपा के 17 उम्मीदवारों में 13 वर्तमान में सांसद हैं। वहीं, जदयू से दो और लोजपा से दो सांसदों को दोबारा मौका मिला है।

भाजपा के जिन सांसदों को टिकट मिला है, उनमें पश्चिम चम्पारण से डॉ. संजय जायसवाल, पूर्वी चम्पारण से राधामोहन सिंह, शिवहर से रमा देवी, महाराजगंज से जनार्दन सिंह सीग्रीवाल, सारण से राजीव प्रताप रूडी, मुजफ्फरपुर से अजय निषाद, उजियारपुर से नित्यानंद राय, नवादा के बदले बेगूसराय से गिरिराज सिंह, आरा से राजकुमार सिंह, पाटलिपुत्र से रामकृपाल यादव, बक्सर से अश्विनी चौबे, सासाराम से छेदी पासवान और औरंगाबाद से सुशील कुमार सिंह शामिल हैं। इसी तरह लोजपा से जमुई से चिराग पासवान और समस्तीपुर से रामचंद्र पासवान तो जदयू के दोनों मौजूदा सांसद पूर्णिया से संतोष कुमार कुशवाहा और नालंदा के कौशलेन्द्र कुमार पर एक बार फिर पार्टी ने दांव आजमाया है।

यह भी पढ़े  दलालों-बिचौलियों को जेल में डाला जायेगा : उपमुख्यमंत्री

इस बार नहीं दिखेंगे नौ सांसद
हाजीपुर से चुनाव लड़ने वाले केंद्रीय मंत्री व लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान इस बार लोकसभा के चुनावी मैदान में नहीं दिखेंगे। वहीं, जदयू के हिस्से में सीट जाने के कारण भाजपा के पांच सांसद चुनावी मैदान में नहीं दिखेंगे। इसमें वाल्मीकिनगर से सतीश चंद्र दूबे, झंझारपुर से वीरेन्द्र कुमार चौधरी, गोपालगंज से जनक चमार, सीवान से ओम प्रकाश यादव और गया के सांसद हरि मांझी शामिल हैं। वहीं मुंगेर की सांसद वीणा देवी भी इस बार चुनावी मैदान में नहीं दिखेंगी। इसी तरह वैशाली के लोजपा सांसद रामा किशोर सिंह व खगड़िया से महबूब अली कैसर भी बेटिकट हो गए हैं।

11 प्रत्याशी राजनीतिक घरानों से
राजनीतिक घराने, वंशवादी या नाते-रिश्तेदारी परम्परा को एनडीए ने भी आगे बढ़ाया है। रविशंकर प्रसाद, संजय जायसवाल, रमा देवी, अजय निषाद, चिराग पासवान, रामचंद्र पासवान, पशुपति कुमार पारस राजनीतिक परिवार से हैं। इसी तरह मधुबनी के सांसद हुक्मदेव नारायण यादव के बेटे अशोक यादव को मधुबनी से भाजपा ने उम्मीदवार बनाया है। वैशाली से लोजपा प्रत्याशी वीणा देवी जदयू विधान पार्षद दिनेश सिंह की पत्नी हैं। गया से विजय कुमार मांझी पूर्व सांसद भगवतिया देवी के बेटे हैं। इसी तरह नवादा से चंदन कुमार पूर्व सांसद सूरजभान सिंह के भाई हैं।

यह भी पढ़े  नीतीश का अब बिहार में कोई राजनीतिक आधार नहीं रह गया :: तेजस्वी

सबसे वरिष्ठ राधामोहन सिंह
एनडीए उम्मीदवारों में सबसे अधिक अनुभवी पूर्वी चम्पारण के भाजपा प्रत्याशी केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह हैं। नौवीं लोकसभा में वे पहली बार सांसद बने। 16वीं लोकसभा में वे पांचवीं बार सांसद बनकर केंद्रीय मंत्री बने। 17वीं लोकसभा के लिए इस बार वे चुनावी मैदान में उतर रहे हैं।

छवि का खास ख्याल
एनडीए ने उम्मीदवारों के चयन में उनकी छवि का खास ख्याल रखा है। वैसे किसी नेता को उम्मीदवार नहीं बनाया गया है जो बाहुबली या आपराधिक छवि के हैं। कुछ उम्मीदवार ऐसे जरूर हैं जिनके पति, भाई या अन्य रिश्तेदार दबंग या बाहुबली छवि के हैं। वहीं, एनडीए ने जिन 39 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की, उनमें से किसी पर प्रत्यक्ष तौर पर कोई आपराधिक मुकदमा नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here