25 लाख रुपये फिरौती के लिए पड़ोसी ने अपहृत रौनक को गला दबाकर मार डाला

0
389
AGAM KUMAN THANA AREA ME RAUSHAN KUMAR KA KIDNAPPING KE BAD HATYA AROPI GIRIFTAR SSP KA PRESS CONFRENCE

पटना -25 लाखरुपये फिरौती के लिए अगमकुआं थाना क्षेत्र के कुम्हरार गुमटी के पास से अपह्त नवमी कक्षा के छात्र प्रॉपर्टी डीलर के पुत्र रौनक कुमार की हत्या आरोपित ने मफलर से गला दबाकर कर दी। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही शव को पोस्टमॉर्टम के लिए पीएमसीएच भेज दिया। कुम्हरार स्थित चाणक्य नगर निवासी आरोपित विक्की पासवान प्रापर्टी डीलर सुधीर कुमार का पड़ोसी ही निकला। कुम्हरार स्थित केशव सरस्वती विद्या मंदिर के छात्र रौशन कुमार का बुधवार को फिरौती के लिए अपहरण कर लिया गया था। विक्की ने रौशन को बाइक पर बैठाकर कुम्हरार स्थित संदलपुर के पास श्रृंगार की दुकान में हाथ-पैर बांधकर मुंह-नाक पर टेप साटकर बाहर से बंद कर दिया था। अपहरण के कुछ घंटे बाद ही आरोपित को पहचाने जाने का डर सताने लगा। इसके बाद उसने रौशन की गला दबाकर हत्या कर दी। अपहरण की घटना के बाद पटना पुलिस सक्रिय हो गयी थी। सड़क पर लगे सीसीटीवी कैमरे से आरोपित की पहचान हुई। पुलिस ने उसे बृहस्पतिवार को ही गिरफ्तार कर लिया था। पूछताछ में उसने सारा राज पुलिस के समक्ष उगल दिया। उसने पुलिस को बताया कि अपहरण के बाद उसने रौशन से 25 लाखरुपये फिरौती देने की मांग उसके पिता से करवायी थी। घटना की जानकारी पीड़ित पिता ने पुलिस को दी थी। सिटी एसपी पूर्वी विशाल शर्मा ने बताया कि विक्की द्वारा बताये गये अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। घटना के बाद पीड़ित पिता से मिलने राजद नेता तेजस्वी यादव, रामचंद्र पूव्रे, देवमुनि यादव एवं पूर्व पार्षद आभा लता उनके घर पहुंचे और सांत्वना दिया।

यह भी पढ़े  राज्य मंत्रिमंडल का फैसला
AGAM KUMAN THANA AREA ME RAUSHAN KUMAR KA KIDNAPPING KE BAD HATYA PARIJAN ROTE BILAKTE

अगमकुआं थाना क्षेत्र से स्कूल जाने के क्रम में नौवीं के छात्र रौनक कुमार (15 वर्षीय) का अपहरण कर हत्या करने वाले विक्की पासवान उर्फ विक्रांत ने गिरफ्तारी के बारह घंटे बाद शव का ठिकाना बताया। उसकी गिरफ्तारी गुरुवार की रात लगभग दस बजे कर ली गई थी, लेकिन उसने सुबह छह बजे हत्या करने की जानकारी दी। इसके बाद भी उसने दो घंटे तक शव कहां रखा है, यह नहीं बताया था। एसएसपी मनु महाराज के मुताबिक विक्रांत का अब तक कोई आपराधिक इतिहास सामने नहीं आया है, लेकिन वह शातिर अपराधी से कम नहीं है। उससे पूछताछ के बाद कई हैरतअंगेज खुलासे हो सकते हैं।

कहा था, सुंदर हैंडराइटिंग से भर देना फॉर्म : विक्रांत के मुताबिक उसने रौनक को अकेला पाकर रास्ते में रोका। रौनक उसे बड़े भाई की तरह मानता था। उसने रौनक को कह रखा था कि मुङो तुम्हारे स्कूल में अपने भाई का दाखिला करना है। मैंने फॉर्म खरीद लिया है। तुम अपनी सुंदर हैंडराइटिंग से उसे भर देना, फिर मैं तुम्हें बाइक से स्कूल छोड़ दूंगा। उस वक्त सुबह के नौ बज रहे थे। आधे घंटे बाद से स्कूल में पढ़ाई शुरू होती। इस लिए रौनक उसके साथ चला गया।

यह भी पढ़े  SP-BSP ने किया सीटों का बंटवारा, दोनों 37 - 37 पर लड़ेंगे चुनाव
AGAM KUMAN THANA AREA ME RAUSHAN KUMAR KA KIDNAPPING KE BAD HATYA AROPI GIRIFTAR

घंटेभर बाद रौनक को बताया, मैंने तुम्हारा अपहरण किया : विक्रांत के साथ रौनक बाइक पर बैठकर उसकी दुकान चला गया। दुकान के अंदर जाते ही विक्रांत ने शटर गिरा दिया। पूछने पर कहा कि फॉर्म भरते समय ग्राहक आकर परेशान न कर दें, इसलिए शटर गिरा रहा हूं। कुछ देर तक इधर-उधर की बातें की। जब रौनक को स्कूल जाने में देर होने लगी तो वह दुकान से निकलने की जिद करने लगा। इस पर उनके बीच हाथापाई हुई, जिसमें दुकान के काउंटर का शीशा टूट गया। शीशे का एक टुकड़ा उठाकर विक्रांत ने रौनक की गर्दन पर रखा और कहा कि तुम्हारा अपहरण कर लिया गया है। मुङो तुम्हारे पिता से रुपये वसूलने हैं। चुपचाप रहो तो रुपये मिलने के बाद तुम्हें रिहा कर दूंगा।

बांध दिए हाथ, फिर कराई पिता से बात : विक्रांत के अनुसार शीशे का टुकड़ा रौनक की गर्दन पर लगते ही खून निकलने लगा। खून देखकर वह सहम गया। इसका फायदा उठाकर उसने रौनक के दोनों हाथ पीछे करके बांध दिए। इसके बाद रौनक के पिता को फोन लगाकर अपहरण की जानकारी दी। उस दौरान रौनक से भी उनकी बात कराई और 25 लाख रुपये की फिरौती मांगी। सुधीर ने रुपये जुगाड़ करने के लिए समय मांगा, तब विक्रांत ने कहा कि दोबारा फोन करुंगा और कॉल काट दिया। पांच घंटे के अंदर विक्रांत ने तीन बार कॉल करके रौनक की बात कराई। इस बीच सौदा बीस लाख रुपये में तय हो गया था। विक्रांत ने सुधीर को रुपये लेकर दानापुर स्टेशन बुलाया था।

यह भी पढ़े  किसानों को उपलब्ध कराये जायेंगे गुणवत्तापूर्ण बीज : प्रेम

लग गई थी पुलिस के आने की भनक : विक्रांत फिरौती की रकम वसूलने के लिए दुकान से निकला। इससे पहले उसने रौनक के मुंह को पॉलिथीन से ढक दिया और गर्दन में रस्सी बांध दी। इधर, सुधीर ने घटना की जानकारी पुलिस को दे दी थी। पुलिस ने तत्काल तकनीकी अनुसंधान शुरू नहीं किया। कुछ पुलिसकर्मी सादे लिबास में सुधीर के साथ दानापुर स्टेशन चले गए। पुलिसिया कार्रवाई की भनक विक्रांत को लग गई थी। वह रुपये लेने के लिए बुलाई गई जगह पर नहीं पहुंचा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here