हर शनिवार को होगी दारोगा व सीओ की बैठक :मुख्यमंत्री

0
47
PATNA C M SECRETARIAT SANWAD MEIN PATNA ZILA SAMIKSHA BAITHAK KO SAMBODHIT KERTE

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोक शिकायत निवारण अधिनियम के अन्तर्गत शिकायतों का निष्पादन निर्धारित समय सीमा के अंदर करने का निर्देश जिलाधिकारियों को दिया। उन्होंने कहा कि आपलोगों को ब्लॉक एवं सब डिविजन का दौरा करने की जरूरत है। ज्यादातर शिकायतें भूमि संबंधित विवाद को लेकर आती हैं। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि शनिवार को दारोगा एवं सीओ की नियमित बैठक हो, इसका अनुश्रवण सुनिश्चित किया जाय। लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी के समक्ष जान-बूझकर उपस्थित नहीं होने वाले अधिकारियों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद सभाकक्ष में सारण, गोपालगंज एवं सीवान जिलों में चल रहे विकास कायरे की समीक्षा की। इस दौरान सारण, गोपालगंज एवं सीवान जिले में सात निश्चय एवं अन्य विकासात्मक कायरे की जिलावार अद्यतन स्थिति एवं उनमें आ रही कठिनाइयों को दूर करने पर विस्तृत रूप से र्चचा की गई।बैठक में सात निश्चय योजनान्तर्गत चल रहे युवाओं के लिये कार्यक्रम स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड, स्वयं सहायता भत्ता पाने वाले युवाओं में रोजगार की स्थिति, कौशल विकास कार्यक्रम पर भी र्चचा की गयी। बैठक में हर घर बिजली का कनेक्शन, हर घर तक पक्की गली-नाली, हर घर नल का जल, शौचालय निर्माण की समीक्षा की गयी। संबंधित विभागों के प्रधान सचिव/सचिव और जिलाधिकारियों ने उपलब्धियों एवं लक्ष्य को मुख्यमंत्री के समक्ष रखा। इंजीनियरिंग कॉलेज, पॉलिटेक्निक कॉलेज के निर्माण के लिये भूमि की उपलब्धता पर भी र्चचा की गयी। जिलों में धान उत्पादन एवं अब तक की गयी धान अधिप्राप्ति की जानकारी मुख्यमंत्री को दी गयी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर उद्योग विभाग के प्रधान सचिव डॉ. एस. सिद्धार्थ ने सासामूसा चीनी मिल के संबंध में विस्तृत अद्यतन जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मिल मालिक और मजदूरों की आपसी सहमति तथा बातचीत से इस मिल को पुन: चालू कराया जायेगा। बैठक में प्रधान सचिव पथ निर्माण अमृत लाल मीणा ने जिलों के पथ से संबंधित विस्तृत जानकारी दी। बैठक में सारण, गोपालगंज एवं सीवान जिले के विधायक, विधान पार्षद, सारण मेयर और तीनों जिलों के जिला परिषद अध्यक्ष ने शिक्षा, स्वास्य, भूमि, सड़क, पुल-पुलिया, सिंचाई, कृषि जैसे अन्य क्षेत्रों से जुड़ी समस्यायें एवं शिकायतें मुख्यमंत्री के समक्ष रखीं। समस्याओं के समाधान के लिये मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। समीक्षा बैठक में उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और स्वास्य मंत्री मंगल पांडेय के अलावे विधायकों में शत्रुघ्न तिवारी, विजय शंकर दूबे, केदारनाथ सिंह, मुन्द्रिका प्रसाद राय, सीएन गुप्ता, रामानुज प्रसाद, चन्द्रिका राय, हरिशंकर यादव, कविता सिंह मिथिलेश तिवारी, अमरेन्द्र कुमार पांडेय, मो. नेमुतुल्लाह और विधान पार्षद केदारनाथ पांडेय सहित कई अन्य विधायक एवं विधान पार्षद, मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, विकास आयुक्त शिशिर सिन्हा, पुलिस महानिदेशक पीके ठाकुर, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव अतीश चन्द्रा और मनीष कुमार वर्मा, संबंधित विभागों के प्रधान सचिव/सचिव, आयुक्त सारण प्रमंडल नर्मदेश्वर लाल, तीनों जिलों के डीएम एवं एसपी सहित वरीय अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़े  कैफ के साथ तेजप्रताप के फोटो के मामले की सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here