हर वर्ष होगी औद्योगिक प्रशिक्षण उच्च माध्यमिक स्तर भाषा परीक्षा

0
22
PATNA BIHAR SCHOOL EXAMINATION BOARAD MEIN PRESS KO SAMBODHIT KERTE BOARD KE CHAIRMAN ANAND KISHORE

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि श्रम संसाधन विभाग से प्राप्त अनुरोध के आलोक में बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा अब से प्रत्येक वर्ष औद्योगिक प्रशिक्षण उच्च माध्यमिक स्तरीय भाषा (हिन्दी/अंग्रेजी) परीक्षा ली जायेगी। औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के छात्रों के लिए आयोजित परीक्षा का नाम ‘‘औद्योगिक प्रशिक्षण उच्च माध्यमिक स्तरीय भाषा’ होगा। कक्षा 10वीं उत्तीर्ण करने के बाद दो या दो से अधिक वर्ष का औद्योगिक प्रशिक्षण पाठ्यक्रम, जो नेशनल काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग (एनसीवीटी)/ स्टेट काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग (एससीवीटी) से मान्यता प्राप्त कोर्स में प्रवेश लेकर उक्त कोर्स में प्रथम वर्ष उत्तीर्ण कर लेने के पश्चात विद्यार्थी उक्त परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं।

औद्योगिक प्रशिक्षण पाठ्यक्रम उत्तीर्ण कर लेने के पश्चात् विद्यार्थी उक्त परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं। औद्योगिक प्रशिक्षण पाठ्यक्रम उत्तीर्ण विद्यार्थी भविष्य में कभी भी उक्त परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं। श्रम संसाधन विभाग द्वारा बिहार विद्यालय परीक्षा समिति को समय-समय पर अद्यतन औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) की अभिप्रमाणित सूची उपलब्ध करायी जाएगी।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा इस परीक्षा से संबंधित विज्ञापन जनवरी 2019 में प्रकाशित किया जाएगा, जिसमें किस प्रकार आवेदन भरा जाएगा, आवेदन प्रपत्र का प्रारूप एवं उसे भरने के लिये आवश्यक जानकारी जैसे परीक्षा शुल्क की राशि, छात्र की पहचान, जन्म तिथि आदि का उल्लेख होगा। आईटीआई के प्रत्येक छात्र के लिए परीक्षा एवं अन्य शुल्क मिलाकर कुल 1170 रुपये शुल्क सामान्य श्रेणी के लिए देय होगा। आरक्षित कोटि के छात्र/ छात्राओं के लिए परीक्षा शुल्क 225 रुपये घटाकर अर्थात कुल 945 रुपये शुल्क देय होगा।

यह भी पढ़े  नए टाइटल और पांच कट के साथ पास होगी ‘पद्मावती’

आईटीआई छात्रों को परीक्षा के लिये आवेदन पत्र एवं शुल्क, संबंधित शिक्षण संस्थान के प्रधान के माध्यम से बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की बेवसाइट पर ऑनलाइन भरा जाएगा, जिसके लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा संस्थानों के प्रधान को यूजर आईडी एवं पार्सवड उपलब्ध कराया जाएगा। ऑनलाइन आवेदन प्राप्त होने के पश्चात विद्यार्थियों की संख्या के अनुसार बिहार विद्यालय परीक्षा समिति, पटना द्वारा उनकी परीक्षा लेने की कार्रवाई की जाएगी, जिसके लिए सभी अभ्यर्थियों को बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा समाचार पत्रों के माध्यम से तथा उनके ई-मेल एवं मोबाइल पर एसएमएस के माध्यम से सूचित किया जायेगा। उक्त परीक्षा के दोनों विषयों में 50 प्रतिशत वस्तुनिष्ठ प्रश्न एवं 50 प्रतिशत विषयनिष्ठ प्रश्न पूछे जायेंगे। दोनों विषयों में अलग-अलग उत्तीर्णता का अंक 30 प्रतिशत होगा।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा हिन्दी एवं अंग्रेजी परीक्षा में सम्मिलित सभी परीक्षार्थियों का प्राप्तांक एवं प्रमाण पत्र संस्थान के प्रधान को बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा। इसकी पहली परीक्षा के लिये जनवरी 2019 में आवेदन आमंत्रित किये जायेंगे तथा माह मई 2019 में पहली परीक्षा आयोजित की जायेगी। इस परीक्षा में उत्तीर्ण आईटीआई उत्तीर्ण विद्यार्थियों को इंटर के समकक्षीय माना जायेगा। मान्यता वाले संकाय में ही नामांकनवैसे शिक्षण संस्थान जिन्हें राज्य सरकार/बिहार विद्यालय परीक्षा समिति से उच्च माध्यमिक स्तर प्लस-टू की सम्बद्धता प्राप्त नहीं है, उस संकाय में छात्रों का नामांकन, सूचीकरण एवं परीक्षा प्रपत्र नहीं लिये जाने का निर्णय लिया गया। छात्र हित में वर्ष 2019 की इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए वैसे प्रस्वीकृत/ मान्यता प्राप्त महाविद्यालय, जिनके असम्बद्ध संकाय में विद्यार्थियों द्वारा सूचीकरण एवं परीक्षा आवेदन प्रपत्र भरा गया है, उन्हें किसी प्लस-टू मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान से सम्बद्ध करा कर परीक्षा में सम्मिलित कराने का निर्णय लिया गया।

यह भी पढ़े  पटना के युवाओं की टीम गरीबो के लिए किसी मसीह से कम नही ...

गेस्ट हाउस का होगा जीर्णोद्धार : बिहार राज्य शैक्षणिक आधारभूत संरचना विकास निगम लि., पटना द्वारा समिति के माध्यमिक प्रभाग के अतिथि गृह के जीर्णोद्वार एवं फर्निशिंग कार्य के लिये तैयार कर तकनीकी स्वीकृति के साथ उपलब्ध करायी गयी योजना एवं प्राक्कलन की कुल राशि 1,20,80,000 रुपये की प्रशासनिक स्वीकृति दी गयी। माध्यमिक प्रभाग स्थित अतिथि गृह के जीर्णोद्धार की आवश्यकता है, ताकि समिति में कई प्रकार के गोपनीय कायरें के लिए बाहर से आये प्रोफेसर, शिक्षक आदि को अतिथिगृह में ठहराया जा सकेगा।

बैठक में आनंद किशोर, अध्यक्ष (अधिपीठ), गिरिवर दयाल सिंह, पदेन सदस्य निदेशक, माध्यमिक शिक्षा, प्रो. एसएम रफीक आजम, प्रतिकुलपति सदस्य मौलाना मजहरुल हक अरबी-फारसी विविद्यालय, पटना, प्रो. कृतेश्वर प्रसाद, प्रतिकुलपति, सदस्य नालंदा खुला विविद्यालय, नालंदा, राकेश कुमार, प्राचार्य, सदस्य शिक्षण प्रशिक्षण महाविद्यालय, भागलपुर, अमरेन्द्र कुमार, परीक्षा नियंत्रक सदस्य, बिहार लोक सेवा आयोग, पटना, राम कुमार मंडल, परीक्षा नियंत्रक सदस्य, पटना विविद्यालय पटना, अनुप कुमार सिन्हा, सचिव, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति मौजूद थे।

यह भी पढ़े  सरकार सभी स्थानीय निकायों को सशक्त बनाना चाहती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here