हमारे देश के सभी गर्वनर सरकार के चमचे होते हैं”:संजय निरुपम

0
38

सैम पित्रोदा के बाद कांग्रेस गलत जुबानी के चलते एक और विवाद में फंसती नज़र आ रही है। महाराष्‍ट्र में कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व सांसद संजय निरुपम ने देश के सभी गवर्नरों को सरकार का ‘चमचा’ कहा है। गुरुवार को जम्‍मू कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक के राजीव गांधी से जुड़े बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए निरुपम ने कहा, “हमारे देश के जितने गवर्नर होते हैं वो सरकार के चमचे होते हैं।” समाचार एजेंसी एएनआई को दिए एक बयान में निरुपम ने कहा कि राजीव गांधी को बोफोर्स मामले में कोर्ट ने क्‍लीन चिट दी है। वहीं सरकार के वरिष्‍ठ मंत्री अरुण जेटली भी उन लोगों में शामिल हैं जिन्‍होंने राजीव गांधी को क्‍लीन चिट दी थी।

इसी बीच प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए निरुपम ने कहा कि जब प्रधानमंत्री मोदी राजीव गांधी को ‘भ्रष्‍टाचारी नंबर 1 ‘ कहते हुए इतान कुछ कहते हैं कि फिर बोलने का मौका नहीं मिलेगा। ऐसा लग रहा है कि सत्‍यपाल मलिक मोदी जी की चापलूसी कर रहे हैं। चमचागिरी कर रहे हैं ताकि उनकी कुर्सी बची रहे। गवर्नर को अपनी गरिमा का ख्‍याल रखना चाहिए।

यह भी पढ़े  उद्धव ठाकरे से मातोश्री पर मिलेंगे अमित शाह, 2019 चुनाव से पहले शिवसेना को मनाने की कोशिश

ANI

@ANI
S Nirupam: When PM called Rajiv Gandhi ‘Bhrashtachari no.1’ he was criticised so much that he can’t say that again. Aisa lag raha hai Satya Pal Malik, Modi ji ki chaaploosi kar rahe hain, chamchagiri kar rahe hain taaki unki kursi bachi rahe. Guvs should maintain dignity. (10.05)

ANI

@ANI
S Nirupam, Congress on J&K Guv’s remark on Rajiv Gandhi: Hamare desh ke jitne Guv hote hain wo sarkar ke chamche hote hain. Satya Pal Malik bhi chamcha hi hai. Rajiv Gandhi was given clean chit by courts in Bofors case. Arun Jaitley was one of those who gave him clean chit.(10.5)

बता दें कि गुरुवार को जम्‍मू कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्‍यपाल मलिक ने राजीव गांधी पर लगे भ्रष्‍टाचार के आरोपों पर कहा था कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी शुरू में भ्रष्ट नहीं थे, लेकिन कुछ लोगों के प्रभाव में आकर वो बोफोर्स भ्रष्टाचार मामले में शामिल हो गये। सत्यपाल मलिक ने कहा कि बोफोर्स भ्रष्टाचार मामले के मद्देनजर उन्होंने और पीडीपी संस्थापक मुफ्ती मोहम्मद सईद ने राज्यसभा की सदस्यता छोड़ दी थी और जन मोर्चा का गठन किया था।

यह भी पढ़े  नमाज के लिए लाउडस्पीकर की क्या जरूरत, पढ़ना है तो घर में पढ़ो: राज ठाकरे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here