हमारी सेना साइबर अटैक से भी निबटने में है सक्षम

0
115

पटना – नेउरा स्थित बीएड संस्थान एबीसी कॉलेज ऑफ एजुकेशन की ओर से शनिवार को ‘‘भारतीय सेना व उसकी चुनौतियां’ विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया। इस मौके पर कॉलेज के छात्रों के बीच 1994 से बिहार रेजिमेंट में अपनी सेवा दे रहे कर्नल डीडी स्वाइन और कैप्टेन संथोई शर्मा मुख्य वक्ता के तौर पर मौजूद थे। कार्यक्रम की शुरुआत कॉलेज की प्राचार्य डॉ शशि प्रभा ने कर्नल डीडी स्वाइन और कैप्टन संथोई शर्मा को गुलदस्ता एवं शॉल भेंट देकर किया। छात्रों को संबोधित करते हुए कर्नल डीडी स्वाइन ने कहा कि अब दुश्मन जमीन से हम पर अटैक करने की बजाय साइबर अटैक पर अपना ध्यान केन्द्रित कर रहे हैं। इस कारण अब हमारी सेना भी जवानों को इस नए खतरे से लड़ने के लिए उन्हें लगातार प्रशिक्षित कर रही है। भारतीय सेना देश में सबसे ज्यादा प्रशिक्षित मानव संसाधन उपलब्ध कराती है क्योंकि सेना में अप्रशिक्षित लोग ही आते हैं जिन्हें सम्पूर्ण तौर पर प्रशिक्षण देने के लिए सेना की पूरी मशीनरी लगी रहती है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना में उन्हीं युवाओं को आना चाहिए, जो देशभक्त हों और पैसे के पीछे न भागें क्योंकि भारतीय सेना अपने उत्तरदायित्व और कर्तव्य को बेहतर समझती है और यह जानती है कि उसे हर वक्त देश की रक्षा में मुस्तैद रहना है। इस कारण हमारी सेना अन्य की तरह अपनी मांगों के लिए हड़ताल नहीं करती। कैप्टेन शर्मा ने छात्रों को बताया कि हमें जो वेतन मिलता है, हम उसमें संतुष्ट हैं और जो हमें आप लोगों के द्वारा सम्मान मिलता है, वही हमारे लिए अंतिम पुरस्कार है। इस मौके पर मौजूद एबीसी कॉलेज ऑफ एजुकेशन के सचिव व कॅरियर कंसल्टेंट आशीष आदर्श ने कहा कि आज यदि हम अपने घरों में चैन से हैं और एक अच्छे कॅरियर की परिकल्पना कर पा रहे हैं, तो इसका पूरा श्रेय इस देश के सुरक्षित माहौल को जाता है जो भारतीय सेना के जवानों के अथक प्रयास से कायम है। कार्यक्रम में आयोजित प्रश्नकाल के दौरान छात्रों ने सेना के इन अफसरों से कई सवाल भी किये।

यह भी पढ़े  20 तक पूरा करें बिहार दिवस समारोह से जुड़े काम : आनंद किशोर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here