सूबे में 626 प्रत्याशियों के भाग्य का खुलेगा पिटारा

0
31

बिहार में 40 संसदीय सीटों के लिए सात चरणों में हुए मतदान के बाद मतगणना की सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं। मतगणना बृहस्पतिवार को राज्य के 35 केंद्रों पर सुबह आठ बजे शुरू होगी। साथ ही बिहार विधानसभा की दो सीटों के लिए हुए उप चुनाव की भी मतगणना होगी। पहले डाक मतपत्रों की गिनती होगी। इसके बाद ईवीएम में डाले गये वोटों की गिनती की जायेगी। मतगणना समाप्त होने के बाद प्रत्येक विधानसभा के पांच-पांच मतदान केंद्रों के वीवीपैट पर्ची की गिनती की जायेगी। साढ़े आठ बजे से ट्रेंड और दोपहर 12 बजे से परिणाम भी आने लगेंगे। हालांकि वीवी पैट पर्ची के मिलान के कारण आधिकारिक परिणाम घोषित होने में समय भी लग सकता है, लेकिन देर रात तक सभी परिणाम आ जायेंगे। मतगणना को लेकर सुरक्षा के तगड़े प्रबंध किये गये हैं। विजय जुलूस निकालने पर रोक लगा दी गयी है। मतगणना से बिहार में एक बार फिर बनी भाजपा-जदयू की दोस्ती के साथ साथ राजद के नेतृत्व में बने कांग्रेस, रालोसपा, हम और वीआईपी गठबंधन की राजनीतिक जमीन का पता चलेगा। राजनीतिक दिग्गजों सहित 626 उम्मीदवारों के भाग्य का पिटारा खुलेगा। अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने कहा कि मतगणना की सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी है। सभी जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी और आरक्षी अधीक्षकों को स्वतंत्र, निष्पक्ष और स्वतंत्र वातारण में मतगणना कराने की हिदायत दी गयी है। 40 लोकसभा सीटों की मतगणना 35 मतगणना केंद्रों पी की जायेगी। प्रत्येक राउंड के परिणाम मतगणना केंद्र पर घोषित किये जायेंगे। केंद्रीय चुनाव आयोग और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी की वेबसाइट पर भी उपलब्ध रहेगा। भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट ईसीआई.एनआईसी.इन और मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी की वेबसाइट सीईओबिहार. एनआईसी. इन पर कोई व्यक्ति व्यक्ति ट्रेंड और परिणाम देख सकते हैं। प्रत्येक विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र में 14 टेबुल पर मतगणना की जायेगी। साथ ही 15 वां टेबुल सहायक निर्वाची पदाधिकारी का होगा और 16 वें टेबुल पर कंपाइल किया जायेगा। उन्होंने कहा कि 72,723 ईवीएम में डाले गये मतों की गिनती की जायेगी। नालंदा, बेगूसराय और आरा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में सात-सात विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र शामिल हैं। इसलिए इन लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में एक राउंड में 98 ईवीएम में डाले गये वोटों की गिनती होगी। वहीं अन्य 37 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में एक राउंड में 84 ईवीएम में डाले गये वोटों की गिनती होगी। उन्होंने कहा कि मतगणना केंद्र की सुरक्षा में केंद्रीय सुरक्षा बल की एक दर्जन से अधिक कंपनियां लगायी गयी हैं। इसके अतिरिक्त राज्य सरकार के पुलिस और सैप के जवान भी तैनात किये गये हैं। मतगणना कार्य के लिए प्रत्येक टेबुल पर मतगणना प्रेक्षक, मतगणना सहायक और माइक्रो प्रेक्षक की प्रतिनियुक्ति की गयी है। उन्होंने कहा कि उम्मीदवारों द्वारा प्रत्येक टेबुल पर मतगणना अभिकर्ता की नियुक्ति की गयी गयी है। जो मतगणना कार्य कर निगरानी रखेंगे। मतगणना अभिकर्ता को प्रत्येक राउंड की गिनती के बाद उक्त टेबुल के परिणाम से अवगत कराया जायेगा। इसकी जानकारी उम्मीदवार और निर्वाचन अभिकर्ता को भी दी जायेगी। उन्होंने कहा कि चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार लोकसभा, राज्य सभा और विधान सभा के सदस्य हैं तो वे अपने सुरक्षा कर्मियों को बारह छोड़कर मतगणना कक्ष में जा सकते हैं। एसपीजी सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति एक एसपीजी कर्मी के साथ सादे वस्त्र में मतगणना केंद्र पर जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि सबसे पहले डाक मतपत्रों की गिनती की जायेगी। इसके बाद सभी मतगणना कक्षों में ईवीएम से प्राप्त मतों की गिनती की जायेगी। डाक मतपत्रों की गणना के लिए निर्वाची पदाधिकारी अधिकतम चार टेबुल स्थापित कर सकते हैं। मतगणना केंद्र में प्रेक्षक, निर्वाची पदाधिकारी और सहायक निर्वाची पदाधिकारी को मोबाइल ले जाने की छूट दे दी गयी है। अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि बिहार विधानसभा की दो सीटों नवादा और डिहरी के उप चुनाव की भी मतगणना की जायेगी। लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष मीरा कुमार, दिग्गज समाजवादी नेता अध्यक्ष शरद यादव, पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, केंद्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, केंद्रीय राज्य मंत्री गिरिराज सिंह, केंद्रीय राज्य मंत्री रामकृपाल यादव, केंद्रीय राज्य मंत्री आरके सिंह, केंद्रीय राज्य मंत्री अश्वनी कुमार चौबे,बिहार सरकार के मंत्री दिनेश चंद्र यादव, ललन सिंह, पशुपति कुमार पारस, जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार, रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा,राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की पुत्री मीसा भारती, पूर्व वित्त मंत्री अब्दुल बारी सिद्दिकी, राजद के रणनीतिकार जगदानंद सिंह सहित 626 उम्मीदवारों के राजनीतिक भाग्य का फैसला होगा। इनमें महिला उम्मीदवारों की संख्या 56 हैं।अस्वीकृत डाक मतपत्र से हार-जीत का अंतर कम होने पर फिर से होगी गिनतीसहारा न्यूज ब्यूरोपटना। अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने कहा कि पहले डाक मतपत्रों की गिनती की जायेगी। उम्मीदवारों के हार-जीत में अंतर अस्वीकृत पोस्टल मतपत्र से कम होगा तो सभी अस्वीकृत डाक मतपत्रों की गिनती फिर से की जायेगी। इसके बाद ही चुनाव का परिणाम घोषित किया जायेगा।

यह भी पढ़े  विधानमंडल में नहीं हुई होली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here