सूबे में बेदर्द मौसम का कहर जारी दो दिनों के अंदर 184 लोगो की मौत ,61 लोगों के मरने की सरकारी पुष्टि

0
156
पिछले काफी दिनों से जारी प्रचंड गर्मी ने अब महाकाल का रूप धारण कर लिया है. पूरा सूबा भयंकर लू और हीट स्ट्रोक की चपेट में है. रविवार को दूसरे दिन भी लू और हीट स्ट्रोक से 113 लोगों की मौत हो गयी. सबसे अधिक   औरंगाबाद में 36 लोगों की जान चली गयी, जबकि गया में 28, पटना में नौ, रोहतास (दो दिनों) में नौ, बक्सर में छह, नवादा में पांच, नालंदा, भागलपुर व शेखपुरा में तीन-तीन, खगड़िया व मुजफ्फरपुर में दो और सीवान, मुंगेर, लखीसराय, कटिहार, दरभंगा, जहानाबाद व जमुई एक-एक लोगों की मौत हो गयी.
इस तरह दो दिनों में कुल 184 लोगों की मौत हो गयी है. हालांकि आपदा प्रबंधन विभाग ने दो दिनों में तीन जिलों औरंगाबाद, गया और नवादा में लू से 61 लोगों के ही मरने की पुष्टि की है. विभाग के अनुसार औरंगाबाद में 30, गया 20 और नवादा में 11 की मौत हुई है. मरने और बीमार लोगों में बच्चों और वृद्धों की अधिक संख्या है. मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल सहित विभिन्न अस्पतालों में डेढ़ सौ से ज्यादा लोग जीवन के लिए मौत से जूझ रहे हैं.
अस्पतालों में हाहाकार मचा है. सड़कों से घरों तक लू का खौफ नजर आ रहा है. मृतक के परिजनों की मानें, दोपहर की बात दूर, सुबह के समय भी लोग हीट स्ट्रोक की चपेट में आ रहे हैं और चंद घंटों के अंदर ही मौत हो जा रही है. जिला प्रशासन और सेहत महकमा हर स्तर पर लोगों का जीवन बचाने में जुटे हैं, पर लू से मौत का सिलसिला जारी है. औरंगाबाद में दूसरे दिन गर्मी की मार से बेहाल और 36 मरीजों की मौत हो गयी.
विभिन्न अस्पतालों में 25 से अधिक लोग भर्ती हैं. 40 से अधिक मरीजों को जिले से बाहर मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल, गया सहित बड़े अस्पतालों के लिए रेफर किया गया है. इस प्रकार औरंगाबाद में दो दिनों में 69 लोग काल के गाल में समा गये. यहां शनिवार को 33 लोगों की मौत हो गयी थी. वहीं, गया में दूसरे दिन 28 मरीजों की मौत हो गयी. सभी मगध मेडिकल व प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती थे. मगध मेडिकल में 85 मरीज अब भी मौत से जूझ रहे हैं.
इधर, नवादा में रविवार को पांच मरीजों की मौत हो गयी. कौआकोल में एक नया मरीज सामने आया है. शनिवार को जिले में 13 मरीजों की मौत की सूचना मिली थी. हालांकि, प्रशासन ने छह की ही पुष्टि की है. उधर, रोहतास में पिछले दो दिनों में विभिन्न प्रखंडों में गर्मी से नौ लोगों की मौत हो चुकी है.  सीवान में रविवार को लू से एक बुजुर्ग की मौत हो गयी.
हालांकि, उसकी पहचान नहीं हो पायी है. लखीसराय के पीरी बाजार थाने के बेलदरिया गांव 45 वर्षीय व्यक्ति  फूलचंद बिंद की लू से मौत हो गयी. वह भांजी की शादी में पश्चिम बंगाल से बेलदरिया आया हुआ था. कटिहार जिले के कोढ़ा के बासगड़ा में लू लगने से 45 वर्षीय मजदूर नारायण की मौत हो गयी, जबकि खगड़िया जिले के गोगरी प्रखंड की वासुदेवपुर पंचायत के बरैठा निवासी कृष्णदेव पौद्धार की पत्नी प्रीति देवी (40) की लू से मौत हो गयी.
पटना के फुलवारीशरीफ में लू लगने से 60 वर्षीया महिला आमना खातून और 47 वर्षीय मुहम्मद असलम की मौत हो गयी, जबकि राजेंद्र नगर टर्मिनल पर एक युवक और दानापुर में एक छात्रा समेत दो लोगों की माैत हो गयी. इसके अलावा पटना सिटी, नौबतपुर, पंडारक व फतुहा में भी एक-एक लोगों की मौत हो गयी. जमुई  जिले के सिमुलतला की कनौदी पंचायत के ढोढरी गांव में लू लगने से एक वृद्ध की मौत हो गयी.वहीं,  भागलपुर के सन्हौला में लू से एक युवक प्रदीप पासवान की मौत हो गयी.
औरंगाबाद में चारों तरफ गूंज रही चीख-पुकार
जानकारी के मुताबिक, औरंगाबाद में रविवार को फिर से मौतों का सिलसिला जारी रहने से चारों तरफ चीत्कार गूंजता रहा. चार लोगों की मौत तो अहले सुबह ही हो गयी, जबकि अन्य की मौत दोपहर तक हुई. इस बीच, 25 नये मरीज भी भर्ती किये गये हैं. कुछ लोगों की मौत अस्पताल पहुंचने से पहले, तो कुछ की गांव में ही हो गयी, जिसकी सूचना परिजनों ने दी है.
सदर अस्पताल के डॉक्टरों का मानना है कि तापमान में वृद्धि होने से ज्यादातर लोग पहले बेहोश हुए और फिर रिकवरी नहीं होने की स्थिति में उनकी मौत हो गयी. इधर, सुबह से ही सदर अस्पताल में हीट स्ट्रोक से प्रभावित मरीजों की कतार लगी रही.
हालांकि, शनिवार की अपेक्षा रविवार को सदर अस्पताल में बेहतर व्यवस्था दिखी. सिविल सर्जन डॉ सुरेंद्र प्रसाद, डीएस डॉ राजकुमार प्रसाद सहित लगभग एक दर्जन डॉक्टर पूरी स्थिति पर निगरानी रखे हुए नजर आये.
इस बीच, सदर अस्पताल सहित दूसरे अस्पतालों से 40 से अधिक लोगों की स्थिति गंभीर होने पर उन्हें बड़े अस्पताल में रेफर किया गया. रविवार की सुबह स्वास्थ्य सेवा के अपर निदेशक डॉ विजय कुमार भी सदर अस्पताल पहुंचे और सिविल सर्जन व तमाम डॉक्टरों से बात कर अस्पताल में बेहतर व्यवस्था बहाल करने का निर्देश दिया.
 
रोहतास में प्रशासन ने मृतकों की संख्या मांगी
उधर, रोहतास जिले में दो दिनों (शनिवार और रविवार) में प्रचंड गर्मी व लू लगने से तीन प्रखंडों में नौ लोगों की मौत हो चुकी है. चेनारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थापित एंबुलेंस कर्मी स्वामीनाथ दुबे, इसी प्रखंड के पेवंदी गांव निवासी 55 वर्षीय शिव बच्चन बैठा और 60 वर्षीय शिववचन पाल की लू लगने से मौत हो गयी है.
बैठा और पाल के परिजनों के अनुसार, दोनों को लू लगी थी और दोनों का इलाज निजी क्लिनिक में चल रहा था. वहीं, अकोढ़ीगोला प्रखंड में पांच वृद्धों की मौत हुई है. प्रखंड के बाक गांव के 50 वर्षीय दीनानाथ भगत, 45 वर्षीय भीम सिंह, अस्सी वर्षीय रामसूरत सिंह, 65 वर्षीय ठाकुर यादव व मथुरापुर निवासी साठ वर्षीय लखन सिंह की भी लू लगने से मृत्यु हो गयी.
उधर, कोचस प्रखंड के सावन डिहरी निवासी 85 वर्षीय वृद्ध सुरेश खरवार की मौत दोपहर में घर आने के दौरान तेज धूप व लू लगने से हो गयी. इस संबंध में अनुमंडल पदाधिकारी राजकुमार गुप्ता ने बताया कि लू व गर्मी से मृत होनेवालों की संख्या मांगी गयी है. देर शाम तक आंकड़ा आ जायेगा. आंकड़ा आने के बाद ही सटीक जानकारी दी जा सकेगी.
बेदर्द मौसम
औरंगाबाद, गया, नवादा व रोहतास में अस्पतालों में हाहाकार, सड़कों से घरों तक लू का खौफ
डेढ़ सौ से ज्यादा मरीज मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल सहित जिलों के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती
दो दिनों में औरंगाबाद में मृतकों की संख्या 69, गया में 53, नवादा में 18 और रोहतास में नौ लोगों की हुई मौत
कहां कितनी मौतें
औरंगाबाद 36
गया 28
पटना 09
रोहतास 09
बक्सर 06
नवादा 05
शेखपुरा 03
भागलपुर 03
नालंदा 03
खगड़िया 02
मुजफ्फरपुर 02
सीवान 01
 लखीसराय 01
कटिहार 01
जमुई 01
जहानाबाद 01
मंुगेर 01
दरभंगा 01
आपदा प्रबंधन विभाग ने लू से दो दिनों में 61 लोगों के मरने की पुष्टि की
यह भी पढ़े  आज राष्ट्रीय युद्ध स्मारक का उद्घाटन करेंगे PM नरेंद्र मोदी, पूरी होगी 6 दशक पुरानी मुराद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here