सुनिश्चित करें शिक्षक व छात्रों की बायोमैट्रिक उपस्थिति : राज्यपाल

0
24

राज्यपाल-सह-कुलाधिपति फागू चौहान ने सोमवार को बीएन मंडल विविद्यालय, मधेपुरा, पाटलिपुत्र विविद्यालय, पटना तथा तिलका मांझी भागलपुर विविद्यालय, भागलपुर की शैक्षणिक एवं अकादमिक गतिविधियों एवं कार्य-प्रगति की समीक्षा की। बैठक में राज्यपाल के प्रधान सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा, बीएनमंडल विविद्यालय के कुलपति डॉ. एके राय, पाटलिपुत्र विविद्यालय के कुलपति प्रो. (डॉ.) गुलाब चंद राम जायसवाल तथा तिलका मांझी भागलपुर विविद्यालय के वरीय अधिकारी सहित राज्यपाल सचिवालय एवं शिक्षा विभाग के वरीय अधिकारियों ने भाग लिया।राज्यपाल श्री चौहान ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि उच्च शिक्षा में गुणवत्ता-विकास के प्रयासों को तेज करते हुए विविद्यालयों के शैक्षणिक वातावरण में त्वरित सुधार के प्रयास किए जायेंगे। राज्यपाल ने कक्षाओं में शिक्षकों एवं छात्रों की उपस्थिति सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि ‘‘बायोमैट्रिक उपस्थिति’ के उपकरण सिर्फ शोभा की वस्तु नहीं हैं, उनका समुचित उपयोग करते हुए शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों, छात्रों एवं शिक्षकेत्तर कर्मियों की नियमित उपस्थिति हर हालत में सुनिश्चित करायी जाये। राज्यपाल ने निदेर्शित किया कि विद्यार्थियों का नामांकन, कक्षा-संचालन, परीक्षा-आयोजन तथा परीक्षाफल-प्रकाशन राज्य के विविद्यालयों में निर्धारित समय पर सुनिश्चित कराया जाये ताकि छात्रों को सत्र में विलम्ब के चलते राज्य के बाहर के विविद्यालयों में जाना नहीं पड़े। राज्यपाल ने कहा कि बायोमैट्रिक उपस्थिति प्रतिवेदन के आधार पर ही वेतन-भुगतान किया जाये ताकि शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मी नियमित रूप से शिक्षण संस्थानों में समय पर आयें। राज्यपाल ने कहा कि सभी विविद्यालय ‘‘रोस्टर क्लीयरेंस’ कराते हुए विविद्यालयों में शिक्षकों की रिक्ति से संबंधित प्रतिवेदन यथाशीघ्र शिक्षा विभाग को भेज दें। उन्होंने ‘‘सीएफएमएस’ से शिक्षक एवं शिक्षकेत्तकर कर्मियों को शीघ्र राज्य सरकार के निदेशानुरूप जोड़े जाने की भी हिदायत दी ताकि वेतनादि के नियमित भुगतान में कोई समस्या आड़ेनहीं आये। राज्यपाल ने कहा कि स्ववित्तपोषत पाठ्यक्रम जिन अंगीभूत महाविद्यालयों में संचालित हो रहे हैं, वहाँ सुयोग्य शिक्षकों की नियुक्ति प्रावधानों के अनुरूप होनी चाहिए। सभी विविद्यालय-परिसरों में ‘‘प्लेसमेंट सेल’ की भी स्थापना आश्वयक है, ताकि विद्यार्थियों का रोजगार के लिए ‘‘कैम्पस सेलेक्श’ भी हो सके। राज्यपाल ने राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के 150वें जयन्ती-वर्ष के उपलक्ष्य में सभी विविद्यालयों में गांधी-दर्शन पर संगोष्ठियाँ, सेमिनार, ‘‘स्वच्छता अभियान’, आदि आयोजित करने का भी निर्देश दिया। राज्यपाल ने टीएनबीयू, भागलपुर तथा पाटलिपुत्र विविद्यालय प्रशासन को विविद्यालयीय क्रीड़ा प्रतियोगिता ‘‘एकलव्य’ तथा सांस्कृतिक प्रतियोगिता -‘‘तरंग’ भव्य रूप में आयोजित करने के लिए आवश्यक निर्देश दिया।

यह भी पढ़े  रोजगारोन्मुखी हो रही उच्च शिक्षा:राज्यपाल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here