सीबीएसइ 12वीं का रिजल्ट : पटना की मरियम रजा बिहार में अव्वल

0
41
PATNA DAV BSEB MEIN CBSE XII RESULT KE BAD KHUSHI MANATI AND EK DUSRE KO MUBARAKBAD DETI CHATRAYEIN

सीबीएसइ ने 12वीं कक्षा का रिजल्ट गुरुवार को घोषित कर दिया, जिसमें लड़कों के मुकाबले लड़कियां अव्वल रहीं. गाजियाबाद की हंसिका शुक्ला व मुजफ्फरनगर की करिश्मा अरोड़ा 500 में से 499 अंक लाकर टॉपर बनीं. वहीं, ऋषिकेश की गौरांगी चावला, रायबरेली की ऐश्वर्या व जींद की भाव्या को 500 में से 498 अंक मिले और तीनों ने दूसरा स्थान हासिल किया. दिल्ली से नीरज जिंदल व महक तलवार उन 18 छात्रों में शामिल हैं, जिन्होंने तीसरा स्थान हासिल किया है. हंसिका का एक नंबर सिर्फ अंग्रेजी में कटा है, जबकि राजनीतिक विज्ञान, हिस्ट्री, मनोविज्ञान और म्यूजिक में उनके पूरे 100-100 नंबर हैं.

हंसिका शुक्ला के पिता साकेत कुमार शुक्ला राज्यसभा में डिप्टी सेक्रेटरी हैं. बिहार सब जोन में 61़ 58% परीक्षार्थी सफल रहे हैं. बिहार की टॉप थ्री सूची में पहले स्थान पर नोट्रेडम एकेडमी पटना की मरियम रजा खान हैं. उन्होंने 500 में 489 (97.8%) अंक हासिल किये. पटना जोन (बिहार-झारखंड) के टॉपर देव पब्लिक स्कूल हजारीबाग के अक्षत अग्रवाल हैं, जिन्होंने इस जोन में सबसे अधिक 490 (98%) अंक हासिल किये. बिहार राज्य की टॉपर सूची में दूसरे स्थान पर चार परीक्षार्थी रहे.
इनमें मुजफ्फरपुर स्थित जीडी मदर इंटरनेशनल स्कूल के राघव झुनझुनवाला, डीपीएस लोधीपुर शाहपुर पटना के राघव टिबड़ेवाल, लाेयला हाइस्कूल कुर्जी पटना के सार्थक वत्स और संत माइकल हाइस्कूल पटना के मो जुनैद महमूद शामिल हैं. सभी ने 487 (97.4%) अंक हासिल किये. तीसरे स्थान पर संयुक्त रूप से भागलपुर स्थित एसआर विद्या मंदिर मुकुरंदपुर के जयंत कुमार गुप्ता, गया के क्रेन मेमो हाइस्कूल कटारी हिल रोड की श्रुति मेघा, पटना की बीएसइबी कालोनी स्थित डीएवी पब्लिक स्कूल के अरमान खान, लोदीपुरा शाहपुर पटना स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल के केशव कृष्णा, पटना दीघा स्थित सेंट माइकल हाइस्कूल के तनिष्क तेजस्वी, पाटिलपुत्र स्थित नोट्रेडम की एकेडमी की इशा और साक्षी सुमन हैं.
इन परीक्षार्थियों ने 484 (96.8) अंक हासिल किये. गौरतलब है कि सीबीएसइ इंटरमीडिएट परीक्षा 2019 में 57907 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी. इनमें कुल 35660 परीक्षार्थियों ने परीक्षा पास की है. हालांकि, सीबीएसइ ने इस परीक्षा के लिए कुल 59012 परीक्षार्थियों को रजिस्टर्ड किया था.
अक्षत अग्रवाल रहे झारखंड स्टेट टॉपर
पटना : सीबीएसइ ने झारखंड टॉपर्स की भी सूची जारी की. हजारीबाग केनारी हिल रोड स्थित देव पब्लिक स्कूल के अक्षत अग्रवाल स्टेट टाॅपर हैं.
उन्हें 490 अंक हासिल हुए, जबकि झारखंड में दूसरे स्थान पर बोकारो स्थित होली क्रॉस स्कूल के तनीष बंसल हैं, जिन्होंने 489 अंक हासिल किये. तीसरे स्थान पर बीएस सिटी स्थित देव पब्लिक स्कूल बोकारो की निकिता सिन्हा, गिरिडीह स्थित बीएनएस देव पब्लिक स्कूल के आदित्य प्रकाश, रांची स्थित जवाहर विद्या मंदिर के जरूबी आकांक्षा रहीं. इन सभी ने 488 अंक हासिल किये हैं.
हालांकि, झारखंड राज्य का रिजल्ट बिहार की अपेक्षाकृत बेहतर रहा. राज्य में 83़ 75 फीसदी परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए. राज्य में कुल 35566 परीक्षार्थियों का नामांकन किया गया था, जबकि परीक्षा में 35208 उपस्थित रहे. इनमें 29487 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए.
मरियम रजा खान, नोट्रेडम एकेडमी
सेकेंड स्टेट टॉपर
राघव झुनझुनवाला, जीडी मदर स्कूल, मुजफ्फरपुर
राघव टिबड़ेवाल, डीपीएस लोधीपुर, शाहपुर, पटना
सार्थक वत्स, लाेयला हाइस्कूल, कुर्जी, पटना
मो जुनैद महमूद, संत माइकल हाइस्कूल, पटना
कोटा में पढ़ रहे पटना के आर्यन को 98% अंक
पटना के नेहरू नगर निवासी और कोटा में पढ़ाई कर रहे आर्यन सिंह ने सीबीएसइ 12वीं में 98% अंक लाकर बिहार का नाम रोशन किया है. वह कोटा के अरिहंत पब्लिक स्कूल के छात्र हैं. उनके पिता नीरज कुमार सिंह मुजफ्फरपुर के सिटी एसपी हैं. वह जेइइ मेन में भी 99. 96 पर्सेंटाइल के साथ 529 रैंक ला चुके हैं.
500 में 499 अंक लाकर हंसिका शुक्ला और करिश्मा अरोड़ा देश भर में टॉपर
हंसिका ने बताया उम्मीद से अच्छा रिजल्ट बनना है साइकोलॉजिस्ट
जब रिजल्ट आया, तो मुझे बेहद खुशी हुई और काफी आश्चर्य हुआ कि मैंने खुद को साबित किया है. अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद तो थी, लेकिन इतने मार्क्स की उम्मीद तो बिल्कुल भी नहीं थी.
मैंने पढ़ाई के दौरान अपनी तैयारी को बेहतर बनाने पर ध्यान दिया, नंबर को लेकर किसी प्रकार के कन्फ्यूजन में नहीं थी. हिस्ट्री, पॉलिटिकल साइंस और साइकोलॉजी मेरे पसंदीदा विषय हैं. मुझे आशा थी कि सभी विषयों में मेरा प्रदर्शन अच्छा होगा. इंग्लिश में लग रहा था कि नंबर कुछ कम हो सकते हैं, लेकिन कुल मिलाकर बेहतर रहा. मेरी कामयाबी में सबसे बड़ी भूमिका मेरे शिक्षकों की है, जिनकी वजह से मेरी तैयारी बेहतर हो पायी.
सोशल मीडिया से दूरी बनाने की कोशिश की: पढ़ाई के दौरान मैंने पूरी कोशिश की कि सोशल मीडिया से दूरी बनाकर रखूं. कई बार खुद को कंट्रोल करती थी. लोग व्हॉट्सअप या फेसबुक पर ग्रुप बनाकर पढ़ाई करना पसंद करते हैं. इससे कंसेप्ट क्लियर होता जाता है. ग्रुप स्टडी के भी अपने फायदे हैं. पढ़ाई और तैयारी करने का सबका अपना-अपना तरीका होता है. लेकिन, सबसे जरूरी है रेगुलर होना. नियमित तौर पर पढ़ने के विशेष फायदे हैं.
आगे मैंने साइकोलॉजी ऑनर्स करने का फैसला किया है. करियर को लेकर कोई अभी विशेष प्लान तैयार नहीं किया है. फिलहाल, ग्रेजुएशन में एडमिशन की तैयारी कर रही हूं. एक साइकोलॉजिस्ट के तौर पर अपना करियर बनाना चाहूंगी. जो लोग आगे की तैयारी कर रहे हैं, उनके लिए मेरा मानना है कि किसी प्रकार का कोई प्रेशर लेकर तैयारी न करें, खुद पर विश्वास रखें और अपना 100 प्रतिशत देने का प्रयास करें. खुद में लगातार सुधार करते रहने से सफलता की राह आसान हो जाती है.
पढ़ाई के अलावा बैडमिंटन खेलना पसंद है. लिखना और पढ़ना हमेशा से मेरा शौक रहा है. ऑटोबायोग्राफी पढ़ना मुझे रोचक लगता है. कभी-कभी फिक्शन भी पढ़ती हूं. मेरी मां मेरे लिये रोल मॉडल हैं, मैं उनके जैसा ही बनना चाहूंगी. बैडमिंटन खेल को इंज्वाय करती हूं. इसलिए मेरे लिए खेल का आदर्श केरोलिना मार्लिन और पीवी सिंधु हैं.
…बातचीत- ब्रह्मानंद मिश्र
करिश्मा ने कहा आठ घंटे की पढ़ाई, अब डांस थेरेपिस्ट बनना है सपना
करिश्मा अरोड़ा का सपना डांस थेरेपिस्ट बनना है. वह पिछले सात साल से दिल्ली की कत्थक गुरु गीतांजलि लाल से कत्थक और अन्य डांस का प्रशिक्षण ले रही हैं. रोज आठ घंटे पढ़ाई करने के बाद उन्हें यह सफलता मिली है.
0.4 % रिजल्ट सुधरा
83.4 % : 2019
83.0% : 2018
12.87 लाख : कुल विद्यार्थी
7,48,498 : लड़के
5, 38,861 : लड़कियां
लड़कों से 9% ज्यादा लड़कियां हुईं पास
लड़कियां : 88.70%
लड़के : 79.40%
ट्रांसजेंडर : 83.30%
टॉप परफॉर्मिंग रीजन
98.20% : तिरुवनंतपुरम
92.93% : चेन्नई
91.87% : दिल्ली
सरकारी स्कूल
98.54% : केंद्रीय विद्यालय
96.62% : नवोदय विद्यालय
टॉप-2 में पांचों लड़कियां
नाम नंबर स्कूल
हंसिका शुक्ला 499/500 डीपीएस, मेरठ रोड गाजियाबाद
करिश्मा अरोड़ा 499/500 एसडी पब्लिक स्कूल, मुजफ्फरनगर
गौरांगी चावला 498/500 निर्मल आश्रम स्कूल, ऋषिकेश
ऐश्वर्या 498/500 केंद्रीय विद्यालय, रायबरेली
भाव्या 498/500 बीआरएसके इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल, जींद

यह भी पढ़े  जब नीतीश कुमार ने पार्टी नेताओं से कहा, 'अगर मैं मर जाऊं?'

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here