सीतामढ़ी सड़क हादसा- मुजफ्फरपुर डीटीओ समेत बस मालिक के खिलाफ FIR

0
415

बिहार के सीतामढ़ी में शनिवार की शाम हुए सड़क हादसे में 14 लोगों की मौत के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. जांच में जो बातें सामने आयी हैं उसके मुताबिक बस 28 अगस्त 2017 के बाद बिना फिटनेस लाइसेंस के ही चल रही थी.

हादसे के बाद बस के मालिक संतोष चौधरी और मुजफ्फरपुर डीटीओ के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. चंदन रथ नामक बस जो कि हादसे का शिकार हुई थी के फरार चालक के खिलाफ भी रुन्नीसैदपुर थाना में मामला दर्ज कराया गया है. ये मामला गैर इरादतन हत्या का है.

मालूम हो कि बिहार के सीतामढ़ी जिले के रुन्‍नीसैदपुर में शनिवार शाम एक बस पलटने से 14 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 38 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. घायलों को उपचार के लिए निकट के अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है जहां कई की हालत गंभीर बनी हुई है.

चीखते-चिल्लाते रहे बस में फंसे घायल यात्री

जिले के रून्नीसैदपुर थाना अंतर्गत भनसपट्टी गांव के समीप चंदन बस के पलटने के बाद यात्रियों की दर्दनाक चीख से स्थानीय लोगों की रूह कांप रही थी. बस के पलटने के बाद खून से लथपथ होकर सीटों के बीच एक-दूसरे के साथ बुरी तरह से फंसे यात्रियों की चीखें केवल बाहर आ रही थी. यात्रियों के माई गे माई और बचाओ-बचाओ की दर्दनाक चीख सभी को बेचैन कर रही थी. औरतों की आंखें नम हो रही थीं. उनकी आत्मा कंपकंपा रही थी.

यात्रियों की दर्दनाक चीख सुन कर स्थानीय लोग उन्हें बस से बाहर निकालने के लिए जल बिन मछली की तरह छटपटा रहे थे, लेकिन लाख प्रयास के बाद भी यात्रियों को निकालने में उन्हें कोई सफलता नहीं मिल रही थी. कारण था कि बस की खिड़की व दरवाजे जमीन से चिपक से गये थे. यात्रियों को बाहर निकालने का जगह कम पड़ रहा था. इस दौरान आसपास के गांव के भी सैकड़ों ग्रामीण घटनास्थल पर एकत्रित होकर दिल दहलाने वाली घटना को देख कर सन्न रह गये.

यह भी पढ़े  विधि-व्यवस्था की कल समीक्षा करेंगे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

एक घंटे तक जिंदगी व मौत से जूझते रहे घायल यात्री . घटना की सूचना पर पहले रून्नीसैदपुर पुलिस पहुंची. वहां बस का हालात देखने के बाद टॉल प्लाजा से क्रेन को लाया गया. इस दौरान घायल यात्री भी जिंदगी व मौत से जूझते रहे. क्रेन आने के बाद बस को ऊपर उठाया गया. तब पुलिस वालों ने दरवाजा खोल कर यात्रियों को बाहर निकालते हुए बचाव कार्य आरंभ किया. वहां से एंबुलेंस व निजी वाहनों से घायलों व मृतकों को एसकेएमसीएच, मुजफ्फरपुर भेजने का सिलसिला शुरू हुआ.

 घायलों में 22 महिलाएं, 13 पुरुष व छह बच्चे: घटना में कुल 41 लोग घायल हो गये है. जिसमें 22 महिला, 13 पुरुष व छह बच्चे है. घायलों में पांच माह का एक बच्चा सुमंत कुमार भी शामिल है. घायलों में मुजफ्फरपुर के औराई, अहियारपुर, दरभंगा के जाले व सीतामढ़ी जिले के रून्नीसैदपुर व बाजपट्टी प्रखंड के लोग शामिल है.

बार-बार चालक फेंक रहा था थूक फिर..

मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी एनएच 77 पर औराई जा रही बस चंदन रथ शनिवार की शाम पौने छह बजे भनसपट्टी पुल की रेलिंग तोड़ते हुए नीचे गिर गयी. जिसमें 14की मौत हो गयी, जबकि 51 से अधिक यात्री जख्मी हो गये. घायलों को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया है.

यहां भर्ती औराई थाना क्षेत्र के खेतलपुर निवासी कहकशां प्रवीण अपने डेढ़ माह के बच्चे के साथ शहर आयी थी. उसके साथ उनकी मां भी थी. उसने बताया कि चालक ने गुटखा खा रखा था. वह बार-बार खिड़की से सिर निकाल कर थूक फेंक रहा था. पुल पर गड्डा था.
पुल पर पहुंचते ही उसने थूक फेंका, इसी बीच सामने से एक बस के आने पर चालक का बस पर से नियंत्रण खो गया और बस पुल से नीचे पलट गयी. चालक ने ही उसे निकाला, लेकिन मां को निकालने के लिए बोली तो वह भाग चला.

रेलिंग तोड़ कर गड्ढे में गिरी बस,14 की मौत, 45 जख्मी, सीएम व डिप्टी सीएम ने जताया शोक

बिहार में मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी एनएच 77 पर औराई जा रही बस चंदन रथ शनिवार की शाम पौने छह बजे भनसपट्टी पुल की रेलिंग तोड़ते हुए नीचे गिर गयी. जिसमें 14 की मौत हो गयी, जबकि 45 से अधिक यात्री जख्मी हो गये. घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर भारी भीड़ जुट गयी. जख्मी को इलाज के लिए एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया है. सूचना मिलते ही सीतामढ़ी डीएम राजीव रौशन पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गये थे. देर रात तक 11 शव की पहचान हो चुकी थी. मृतकों में आठ पुरुष व छह महिलाएं थीं. वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने हादसे पर गहरी संवेदना व्यक्त की है.

यह भी पढ़े  पटना के गांधी मैदान में आज जलेगा बुराई का 70 फीट का रावण, 65 का कुंभकर्ण

कमिश्नर व आइजी पहुंचे एसकेएमसीएच
भीषण हादसे की सूचना मिलते ही तिरहुत प्रमंडल के कमिश्नर एचआर श्रीनिवास व जोनल आइजी सुनील कुमार एसकेएमसीएच पहुंच गये. दोनों अधिकारी खुद जख्मी लोगों के इलाज पर नजर रख रहे थे.

12 शव का एसकेएमसीएच में पोस्टमार्टम
डीएम धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि 12 शव का एसकेएमसीएच और दो शव का सीतामढ़ी में पोस्टमार्टम कराया गया है. मृतक की सही पहचान कर एंबुलेंस से उनका शव व चार-चार लाख का चेक उनके परिजनों के हवाले किया जायेगा.

शनिवार को ही हुआ था धर्मपुर हादसा
मीनापुर थाना क्षेत्र के धर्मपुर में भी शनिवार को यानी 24 फरवरी को बोलेरो से नौ स्कूली छात्रों की कुचल कर मौत हुई थी. यह घटना भी एनएच 77 पर हुई थी.

इनकी हुई मौत
राम विनय चौधरी, पूर्व शिक्षक, डुमरी, कटरा
सादरा खातून, नया गांव , औराई
जेबरी देवी, नया गांव परसामा, औराई
नइमा खातून उर्फ अजमेरी, औराई
शमीम उर्फ दारोगा,(पंच सदस्य) आलमपुर सिमरी
आशा देवी, बनवासपुर, औराई
विनोद राय, बनवासपुर
धर्मेंद्र महतो, चंगेल
मो शमीम, ससौली
गिरिश शर्मा, बलुआ
नरेश महतो, चंगेल कटरा
एक अज्ञात महिला
दो अज्ञात पुरुष

यह भी पढ़े  आज ही के दिन नेता जी सुभाष चन्द्र बोस का इस धरा-धाम पर अवतरण

यह है जख्मी
कुंदन कुमार, रतवारा, औराई
हरिशंकर
सुधाकर मिश्रा
कहकशां प्रवीण, खेतलपुर, औराई
सबिस्ता प्रवीण
रौशन खातून
रम्या खातून
यासमीन, बरैठा, औराई
मो बेदाल, डुमरी, कटरा
अनिता देवी
मो सयूब, धोबौली,कटरा
मरीछन पासवान
अरप्रीत
इश्वर यादव

मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सीतामढ़ी जिले के रून्नीसैदपुर थानान्तर्गत भनसपट्टी के निकट बस पलटने से लोगाें की हुई माैत पर गहरा दुख एवं संवेदना व्यक्त किया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह घटना काफी दुखद है. उन्होंने इस हादसे में मृत हुए लोगों के परिवार काे अविलंब अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री ने शाेक संतप्त परिवाराें काे दुख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है. मुख्यमंत्री ने इस हादसे में घायल लोगाें के समुचित इलाज का निर्देश दिया है अौर घायल लोगाें के शीघ्र स्वस्थ हाेने की भी कामना की है.

दुर्घटना पर उपमुख्यमंत्री ने जताया दुख
सीतामढ़ी के रुन्नीसैदपुर में हुई बस दुर्घटना में 10 यात्रियों की मौत पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने गहरा दुख व संवेदना व्यक्त किया है. सुशील मोदी ने कहा है कि दुर्घटना काफी भयावह है. जिसमें पुल की रैलिंग को तोड़ते हुए बस खाई में जा गिरी. घायलों को समुचित चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने का उन्होंने जिला प्रशासन को निर्देश दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here