सीएम ने किया ऐतिहासिक खोज के लिए खुदाई अभियान का शुभारंभ

0
110

लखीसराय :  बिहार विरासत विकास समिति, पटना एवं विश्व भारती विविद्यालय, शांति निकेतन के संयुक्त तत्वावधान में लखीसराय के पुरातात्विक महत्व की वृहद जानकारी जुटाने के लिए खुदाई कार्य का शुभारंभ शनिवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुदाई स्थल पर फावड़ा चलाकर किया। इसके पूर्व उनके हैलीकॉप्टर से उतरते ही लाली पहाड़ी पर ही उन्हें गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया गया। सीएम ने लाली पहाड़ी पर पुरातत्व विभाग के द्वारा चिन्हित किये गये विभिन्न खुदाई स्थलों एवं पूर्व से प्राप्त प्रतिमाओं का भी अवलोकन किया। इस दौरान उन्हें बिहार विरासत विकास समिति के कार्यपालक निदेशक डा. विजय कुमार चौधरी एवं शांति निकेतन के पुरातत्वविद डा. अनिल कुमार, शोध अन्वेशक मानस रंजन मनवंश ने लगाई गई प्रदर्शनी एवं लाली पहाड़ी के ऐतिहासिक महत्वों के बारें में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। मुख्यमंत्री के साथ जल संसाधन विभाग के मंत्री राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, जिला बीस सूत्री प्रभारी मंत्री सह ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री श्रवण कुमार, श्रम संसाधन विभाग के मंत्री सह क्षेत्रीय विधायक विजय कुमार सिन्हा, कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री कृष्ण कुमार ऋशि, सूर्यगढ़ा विधायक सह राजद जिलाध्यक्ष प्रहलाद यादव आदि मौजूद रहे। सीएम के आगमन के मद्देनजर विधि-व्यवस्था बनी रहे इसके लिए मुंगेर प्रमंडलीय आयुक्त राजेश कुमार, भागलपुर प्रक्षेत्र के आरक्षी महानिरीक्षक सुशील मान सिंह खोपड़े, आरक्षी उप महानिरीक्षक विकास वैभव, जिलाधिकारी लखीसराय अमित कुमार, पुलिस अधीक्षक अरविंद ठाकुर आदि तैनात रहे। जबकि आस-पास का पूरा ईलाका सैन्य पुलिस एवं जिला पुलिस बल के जवानों की छावनी के रूप में तब्दील दिखा। चारों ओर से वाहनों के आवागमन पर हैलीकाप्टर के लैंड करते ही पाबंदी लगा दी गई। इतना ही नहीं सुरक्षा कारणों सें पहाड़ी के उपर जाने वाले हर रास्ते पर पुलिस का सख्त पहरा लगाया गया था। कई जगहों पर बांस-बल्ला लगाकर बैरिकेटिंग भी प्रशासन ने कर रखे थे। 

यह भी पढ़े  CBI और ED इस वजह से तेजस्वी-राबड़ी पर नहीं कर रही है कड़ी कार्रवाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here