सिमरिया कुंभ में जुटेंगे देश भर के साधु-संत : रजनीश

0
661

मिथिला, मगध और अंग के संगम बेगूसराय के सिमरिया में तुलार्क कुंभ का आयोजन 6 अक्टूबर से 17 नवम्बर तक होगा । भाजपा विधान पार्षद सह कुंभ सेवा समिति के महासचिव रजनीश कुमार ने इस आशय की जानकारी दी। भाजपा नेता श्री कुमार ने कहा कि कुंभ के दौरान आध्यात्मिक, सांस्कृतिक, आर्थिक और राजनीतिक समागम के जरिये सम्पूर्ण बिहार की समृद्धि, सशक्ति और खुशहाली के लिए र्चचा होगी। देश भर से आये महान साधु-संत, विद्वान, बुद्धिजीवी , पत्रकार, कला मर्मज्ञ, राजनीतिक व आर्थिक विशेषज्ञ र्चचा में भाग लेंगे। इस पावन अवसर पर काशी, अयोध्या, प्रयाग, द्वारिका, उज्जैन और चित्रकूट अखाड़ों से संतों के पधारने की संभावना है।श्री कुमार ने कहा कि मां गंगा की उत्तरवाहिनी धारा का पावन स्पर्श करती सिमरिया की धरा पर बृहस्पति के तुला राशि में रहने पर कुंभ का आयोजन हो रहा है। इसलिए यह कुंभ तुलार्क कुंभ के नाम से जाना जाएगा। तुलार्क कुंभ बिहार के लिए गौरव का अवसर प्रदान करेगा। यह आध्यात्मिक महामेला बिहार में पर्यटन के विकास की असीम संभावनाओं का द्वार खोलने वाला साबित होगा। श्री कुमार ने बताया कि देश के पांचवें और बिहार के पहले कुंभ स्थल के रूप में स्थापित हो रहे सिमरिया का आध्यात्मिक इतिहास सदियों पुराना है। सिमरिया का पौराणिक महत्व और अरसे से कल्पवास की परंपरा का वृहत स्वरूप 2011 में अर्ध कुंभ के रूप में दिखा। आध्यात्मिक और पौराणिक परम्परा को आगे बढ़ाते हुए ही 2017 में 06 अक्टूबर से 17 नवम्बर तक कुंभ का आयोजन होना सुनिश्चित हुआ है। कुंभ के दरम्यान तीन शाही स्नान होना तय है। विभिन्न भारतीय पंचागों के अनुसार प्रथम शाही स्नान 19 अक्टूबर को, दूसरा 29 अक्टूबर को और तीसरा 09 नवम्बर को होगा। श्री कुमार ने कहा कि कुंभ सेवा समिति इस पूरे आयोजन में सरकार, नागरिक व्यवस्था और समारोह के बीच समन्वय का महत्वपूर्ण कार्य कर रही है ।

यह भी पढ़े  छात्रओं ने सीखा तनावमुक्त रहने का तरीका

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here