सिंहासन को ले युवराजों में छिड़ी जंग : मंगल पांडेय

0
16

राजद में नेतृत्व को लेकर छिड़े गृह कलह पर स्वास्य मंत्री मंगल पांडेय ने चुटकी ली है। उन्होंने कहा कि महाभारत की तरह राज सिंहासन को लेकर युवराजों में जंग छिड़ी हुई है। बड़े भाई तेजप्रताप यादव की राजद में बढ़ती पकड़ को छोटे भाई तेजस्वी यादव पचा नहीं पा रहे हैं। स्थिति यह है कि पार्टी की महत्वपूर्ण बैठकों से बड़े भाई को न तो बुलाया जा रहा है और न ही किसी विषय पर राय ली जाती है। यह न तो सिर्फ तेजस्वी यादव के तानाशाही रवैये को दर्शाता है बल्कि सत्ता पाने के लिए तेजस्वी यादव अपनों से भी लड़ने को तैयार हैं। श्री पांडेय ने कहा कि कहानी की पटकथा लिखी जा चुकी है। यह तो ट्रेलर है। पूरी फिल्म बिहार के लोगों को जल्द ही सियासी पर्दे पर देखने को मिलेगी। विरासत को लेकर दोनों भाइयों की खींचतान जमीन पर आ चुकी है। यहीं नहीं दोनों भाइयों के समर्थकों में भी नाराजगी देखी जा सकती है। राजद में विरासत को लेकर महत्वाकांक्षा इस कदर हावी है कि दोनों भाई साथ बैठने को तैयार नहीं हैं। श्री पांडेय ने कहा कि बिहार की जनता को इसी से समझ लेना चाहिए कि जो अपने भाई का नहीं हुआ वह गद्दी मिलने पर जनता की आकांक्षाओं पर कहां तक खरा उतरेगा । श्री पांडेय ने कहा कि दागी होने के बाद भी पार्टी में तेजस्वी की अकड़ ऐसी है कि पार्टी मीटिंग में वरिष्ठता का खयाल नहीं रखते हैं। प्रदेश अध्यक्ष जैसे वरिष्ठ नेताओं को दरकिनार कर उनकी बातों को नजरअंदाज कर उन पर हुक्म चलाते हैं। ऐसे नेता पार्टी में उपेक्षित ही नहीं बल्कि कुपित भी हैं। यही स्थिति रही तो वह दिन दूर नहीं जब दोनों भाइयों की चाहत राजद की नैया डुबोयेगी। तेजस्वी एक बात कान खोल कर सुन लें कि राहुल गांधी के प्रधानमंत्री और उनके मुख्यमंत्री बनने का सपना दोनों की कुंडली में नहीं लिखा है। साक्षर बिहार में निरक्षर मुख्यमंत्री की कोई संभावना नहीं है।

यह भी पढ़े  नीतीश ने सभी वर्गो को किया सशक्त : जदयू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here