सारण के विकास में आज जुड़ जाएगा एक और नया अध्याय ….

0
12
काल्पनिक छाया

राजनैतिक सामाजिक कयासों के बीच आखिरकार सूबे के मुखिया नीतीश कुमार ने शहर में प्रस्तावित डबल डेकर फ्लाई ओवर का शिलान्यास को हरी झंडी दे दी। बुधवार को विधिवत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हाथो पुलिस लाइन के प्रांगण से आधार शिला रखेगे। इससे पूर्व गत पांच जुलाई को शिलान्यास कार्यक्रम रखा गया था, लेकिन नीतीश कुमार का तबीयत नासाज हो जाने के कारण कार्यक्रम स्थगित हो गया था। फ्लाई ओवर निर्माण से सारण का विकास के अध्याय में एक और नाम जुड़ जाएगा। डबल डेकर फ्लाई ओवर निर्माण से सारण वासियों सहित सभी राजनैतिक दलों में प्रसन्नता है वही राजनीतिक दलों के नेताओं में क्रेडिट लेने का भी होर लगी है।

मुख्यमंत्री आगमन को लेकर सारण के नये जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन व पुलिस कप्तान हरकिशोर राय लगातार तैयारियों का जायजा ले रहे है। कार्यक्रम स्थल को सजाने संवारने का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है। जिलाधिकारी के लिए यह कार्यक्रम काफी मायने रखता है। इनके कार्यकाल में मुख्यमंत्री का पहला आगमन हो रहा है। जिससे डीएम लगातार प्रशासनिक कार्यो का जायजा लेने में जुटे है ताकि कही कोई प्रशासनिक चुक न हो जाय।

प्राप्त जानकारी के अनुसार महागठबंधन की सरकार में प्रस्तावित स्वीकृत डबल डेकर फ्लाई ओवर धरातल पर लाने का कार्य एनडीए की सरकार कर रही है। हालांकि सारण वासियों में फ्लाई ओवर निर्माण को लेकर संपूर्ण जनता में खुशिया व्याप्त है। इस निर्माण को लेकर विभिन्न राजनैतिक दलों, कार्यकर्ताओं एवं गणमान्य लोगों द्वारा यह कयास लगाया जा रहा था कि गत पांच जुलाई को राजनैतिक साजिश के तहत फ्लाई ओवर शिलान्यास को स्थगित कर दिया गया है। लेकिन सूबे के विकास पुरूष के नाम से जानने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा 11 जुलाई को डबल डेकर फ्लाई ओवर शिलान्यास की घोषणा ने एक बार फिर साबित कर दिया कि विकास के साथ कोई भी समझौता नही होगा।

यह भी पढ़े  राजधानी को मिलेगा ‘‘ग्रेटर पटना’ का तोहफा :सुरेश शर्मा

बता दें कि डबल डेकर फ्लाई ओवर निर्माण से निश्चय ही शहर के लोगों को जाम से निजात मिलेगी वही 411 करोड़ की लागतत से बनने वाला फ्लाई ओवर सारण वासियों के लिए एक अनोखा उपहार होगा जो अपने आप से सारण के लिए गौरव का प्रतीक होगा। सूबे का यह पहला फ्लाई ओवर होगा जो किसी भी जिला में अब डबल डेकर व इतना लम्बा नही बना है। हालांकि राजनैतिक पंडितों व गणमान्य लोगों की बात की जाय तो यह फ्लाई ओवर दोनों गठबंधन की उपलब्धि मानी जा रही है। लेकिन अमली जामा पहनाने का कार्य एनडीए सरकार कर रही है।

मुख्यमंत्री आगमन को लेकर लगभग सभी प्रशासनिक तैयारियां अंतिम चरण में है। जिलाधिकारी व पुलिस कप्तान कार्यक्रम स्थल का भी जायजा ले चुके है। सुरक्षा व्यवस्था का पुख्ता इंतजाम किया गया है। तैयारियां अंतिम चरण में है। बहरहाल, फ्लाई ओवर निर्माण से संपूर्ण सारण वासियों में खुशी व्याप्त है। सभी की निगाहे अब शिलान्यास पर टिकी है कि आखिकार मुख्यमंत्री द्वारा डबल डेकर फ्लाई ओवर कार्यक्रम में सारण की जनता के लिए क्या संदेश दे रहे है।

यह भी पढ़े  नीतीश ने बेटियों को दी बड़ी सौगात

इस बीच पार्टी के जिलाध्यक्ष व कार्यकर्ता तथा इसके सहयोगी दल भी मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर तैयारियां की जा रहीहै। वही जदयू कार्यकर्ताओं में जबरदस्त उत्साह देखी जा रही है। कार्यक्रम का जायजा लेने में जदयूके वरीय नेता शैलेन्द्र प्रताप सिंह, जिलाध्यक्ष अल्ताफ आलम राजू अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष संतोष कुमार महतो आदि व्यस्त दिखे।

इस मौके पर उपमुख्यमंत्री  सुशील कुमार मोदी, पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव व स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय मौजूद रहेंगे.

विदित हो कि देश में अब तक का सबसे लंबा डबल डेकर फ्लाईओवर मुंबई में है। इसका उद्घाटन चार वर्ष पूर्व अप्रैल 2014 में हुआ था। यह 1.8 किमी लंबा है, जबकि छपरा में बन रहा डबलडेकर फ्लाईओर करीब 3.5 किमी होगा। इसकी चौड़ाई 5.5 मीटर हाेगी। मुंबई के फ्लाईओवर की सड़कें समानान्तर हैं, जबकि छपरा में बनने वाले डबल डेकर फ्लाईओरवर की सड़कें ऊपर-नीचे गुजरेंगी।

इस तरह होगा डबल डेकर फ्लाईओवर

डबलडेकर फ्लाईओवर के निर्माण पर 411.31 करोड़ रुपए खर्च होंगे। पिछले वर्ष 10 अक्टूबर को इस प्रोजेक्ट को प्रशासनिक स्वीकृति दी गई थी। डबलडेकर फ्लाईओवर के सबसे ऊपर के हिस्से पर चढऩे के लिए रैंप भिखारी ठाकुर चौक से गांधी चौक की ओर होगा। इसपर एवीएस स्कूल के समीप से चढ़ा जा सकेगा। यह 3520 मीटर लंबा डेक होगा। इससे गांधी चौक एवं नगरपालिका चौक होते हुए बस स्टैंड तक जाया जा सकेगा। इससे सिवान की ओर से आने वाले वाहन भिखारी ठाकुर चौक होते हुए आरा, हाजीपुर और पटना जाने के लिए निकल जाएंगे।

यह भी पढ़े  आज पटना में होगी बीजेपी की अहम बैठक, अागामी चुनाव की रणनीति पर होगी चर्चा

वहीं फ्लाईओवर के नीचे के डेक का रैंप पुलिस केंद्र स्थित मंदिर के निकट से शुरू होगा। यह 2500 मीटर लंबा होगा। इस डेक का इस्तेमाल कर गांधी चौक एवं नगरपालिका चौक होते हुए राजेंद्र सरोवर के निकट आना संभव हो सकेगा। आरा, हाजीपुर और पटना की ओर से आने वाले वाहन इसका इस्तेमाल छपरा समाहरणालय, बस स्टैंड और सिवान की ओर जाने के लिए कर पाएंगे।

मुजफ्फरपुर जाने के लिए एक अलग रैंप

डबलडेकर फ्लाईओवर से मुजफ्फरपुर की ओर जाने के लिए एक अलग रैंंप बनेगा। गांधी चौक पर निचले डेक से एक 300 मीटर लंबा डेक निकलेगा, जिसका इस्तेमाल गडख़ा होते हुए मुजफ्फरपुर की ओर जाने के लिए किया जा सकेगा।

चार वर्षों में पूरा होगा निर्माण कार्य

बिहार राज्य पुल निर्माण निगम की देखरेख में बनने वाले इस फ्लाईओवर का निर्माण अगले चार वर्षों के भीतर पूरा कर लिया जाएगा। निगम का दावा है कि जून 2022 तक इसका निर्माण पूरा हो जाएगा। पुल के कैरेज वे की चौड़ाई 5.5 मीटर होगी। वहीं वाहनों के लिए प्रत्येक तल्ले की ऊंचाई भी 5.5 मीटर होगी।

छपरा के भयंकर जाम से मिलेगी मुक्ति

गांधी चौक से नगरपालिका चौक के बीच सड़क की चौड़ाई कम होने के कारण तथा मुख्य बाजार होने से निरंतर जाम की स्थिति रहती है। वहां सड़क का चौड़ीकरण भी संभव नहीं। इस कारण डबलडेकर फ्लाईओवर निर्माण का फैसला लिया गया। इससे छपरा को जाम से मुक्ति मिल जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here