सामाजिक न्याय की विचारधारा मजबूत करें : तेजस्वी

0
7
TEJASWI YADAV KA PRESS CONFRENCE

पटना – विधान सभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने महिमामंडन के लिए 21 जनवरी को दहेजप्रथा और बाल विवाह के विरुद्ध मानव श्रृंखला के नाम पर लाखों सरकारी कर्मचारियों और स्कूली बच्चों को कड़ाके की ठंड में परेशान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक ओर नियोजित शिक्षकों को सरकारी मानदेय की लंबित मांग को नकार रहे हैं। दूसरी ओर उन्हीं के श्रम व समय का दुरुपयोग अपने महिमामंडन के लिए करते हैं। शिक्षा, स्वास्य, रोजगार, विकास, कानून व्यवस्था की लचर स्थिति पर एकदम बेबस और लाचार हो जाते हैं पर हवा हवाई मुद्दे उठा अपना चेहरा चमकाने के लिए करोड़ों रुपये का राजस्व स्वाहा कर देते हैं। दहेज विरोधी और बाल विवाह कानून तो पहले से बने थे। लेकिन विगत 13 वर्ष में कड़ाई से लागू क्यों नहीं हो सके, इस पर मुख्यमंत्री को जवाब देना चाहिए। अब झूठा श्रेय लूटने के लिए कयावद कर रहे हैं। तेजस्वी नेकहा कि ‘‘ इस कुहासे की धुंध में आपका प्रचार द्वारा चमकाया चेहरा व्यथित जनता को नहीं दिखेगा नीतीश जी, इसलिए जब ठंड थोड़ा कम हो जाए तब यह प्रचार करिएगा ताकि धुंध छटने पर आपका चेहरा दिख सके। इससे स्कूली बच्चों को भी सहूलियत होगी। आपसे आग्रह है कि नादान स्कूली बच्चों और कर्मचारियों का ख्याल रखिये। हम इसके विरोध में नहीं हैं लेकिन सिर्फअपना चेहरा चमकाने के लिए आप मानवीय पहलू को भूल जायें इसके पक्षधर नहीं हैं।

 सामाजिक न्याय की विचारधारा और गरीबों, अभिवंचितों को समाज एवं सत्ता में भागीदारी, हर क्षेत्र में सबको न्याय और सम्मान दिलाने की लालू जी और राजद की विचारधारा को मजबूत करें। लालू जी ने जो चिट्ठी राज्य की जनता के नाम लिखी है उसे हर हाथ में पहुंचाएं। ये बातें नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने आज सारण प्रमंडल के सभी वर्तमान ,पूर्व राजद सांसद, विधायक, विधान पार्षद तथा राजद के सभी पूर्व सांसद, विधायक प्रत्याशी,राजद के जिलों एवं प्रखंडों के अध्यक्षों को संबोधित करते हुए कही।तेजस्वी प्रसाद यादव ने राजद के जिला अध्यक्ष से जानकारी ली कि उन्हें लालू जी के संदेश की कितनी प्रति मिली और उसका वितरण किस तरह हुआ। उन्होंने कहा कि पत्र की प्रति कम पड़ जाए तो स्थानीय व्यवस्था कर और अधिक प्रति छपवा लें। यदि और प्रति की आवश्यकता हो तो प्रदेश कार्यालय से संपर्क कर प्राप्त कर लें। पार्टी कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी जनता के बीच जायें। गांव टोलों में जाएं उन्हें राजद के त्याग के इतिहास को बताएं। लालू जी देश के करोड़ों लोगों के दिलों में बसे हुए हैं। लालू जी की भी चिंता देश के गरीबों,अभिवंचितों, बेसहारों को न्याय और उनका अधिकार दिलाने की है। लालू जी के रहते देश के पिछड़े, दलितों को उनके अधिकार से कोई वंचित नहीं कर सकेगा। आप सब की दुआ और ईर की कृपा से उन्हें न्याय मिलेगा। हम सब आपस में मेल जोल भाईचारा को बढ़ाएं। समाज में नफरत फैलाने वालों को चिह्नित कर उनके नापाक इरादों को नाकाम करें। समाज में समरस्ता और भाईचारा बना रहेगा तो देश तरक्की करेगा। सब का विकास होगा। समाज में नफरत फैलाने वाले देश के शुभचिंतक नहीं हैं। वे नफरत की बात कर समाज को गुमराह करना चाहते हैं। राजद के जानदार शानदार कार्यकर्ता समाज को जोड़ने मे लगे हैं। हमलोग देश की सेवा में लगे हुए हैं। मजबूती से गरीबों, अभिवंचितों की लड़ाई सड़क से संसद तक लड़ेंगे। आप लोग क्षेत्र की समस्याओं पर धयान दें। संगठन को कैसे मजबूत किया जाय उसके लिए हमसे मिल कर अपना विचार दें। बाद में नेता प्रतिपक्ष ने राजद के विभिन प्रकोष्ठों के अध्यक्षों के साथ भी बैठक की और उन्होंने राजद प्रकोष्ठ के सदस्यों की संख्या को बढ़ाने का भी निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि संगठन के मजबूत रहने से ही संगठन के सदस्यों की पकड़ समाज मे मजबूत होगी। उन्हें सम्मान मिलेगा। बैठक में राजद के कई प्रदेश अधिकारी ने भी भाग लिया और अपने विचारों को रखा।

यह भी पढ़े  मंत्रिपरिषद की बैठक में कई निर्णय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here