सांप्रदायिकता और भ्रष्टाचार से कभी समझौता नहीं करेंगे:

0
39

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सभी बिहारवासियों को बधाई दी. पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में सीएम नीतीश ने झंडा फहराया. उन्होंने सभी स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धा सुमन अर्पित किया जिन्होंने आजादी के लड़ाई में अपनी प्राणों की आहूति दी. इसके साथ ही देश के सरहदों पर तैनात सुरक्षा कर्मी को भी नमन किया. उन्होंने कहा कि इतिहास गवाह है कि बिहार ने स्वतंत्रता आंदोलन में अग्रणी भूमिक निभाई है. बिहार के लोगो ने हमेशा राष्ट्र निर्माण में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया है.

इस दौरान उन्होंने अपनी सरकार की तरफ से किए गए विकास कार्यों का उल्लेख किया. मुख्यमंत्री के भाषण के दौरान बारिश बाधक बनी लेकिन उन्होंने अपनी बात जारी रखी और छाता लगाकर सरकार के कार्यों को गिनाया. सीएम नीतीश ने कहा कि उनकी सरकार ने बिहार में कानून व्यवस्था और सामाजिक सौहार्द का माहौल किया है. उन्होंने कहा कि ये हमारा पूर्ण संकल्प है कि सांप्रदायिकता और भ्रष्टाचार से कभी समझौता नहीं होगा. वैसे लोग जो भष्ट्राचार के जरिए धन अर्जित करने में लगे हैं उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई जारी रहेगी. चाहे वो जनप्रतिनिधि हों या फिर सरकारी अफसर ही क्यों न हों.

नीतीश कुमार ने कहा कि हमलोगों ने समाज सुधार के लिए सभी कोशिशे की हैं. महिलाओं ने विशेष रूप मांग की तो शराबबंदी लागू किया गया. उन्होंने कहा कि सिर्फ कानूनी तौर पर शराबंदी पर काबू नहीं पाया जा सकता. कानूनी कार्रवाई के साथ-साथ इसे एक अभियान के तहत करना होगा तभी इसका लाभ मिलेगा. कुछ लोग गड़बड़ी करते हैं तो उनपर कार्रवाई चलती रहती है. उन्होंने कहा कि उनकी  सरकार ने बाल विवाह और दहेज प्रथा के प्रति भी अभियान चलाया है.

यह भी पढ़े  आरएसएस प्रमुख पहली बार विदेशी मीडिया से बातचीत करेंगे

बिहार में सड़क निर्माण का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हर गांव को पक्की सड़क से जोड़ने का लक्ष्य है. इसे पूरा करने के नजदीक हैं. राज्य के किसी कोने से राजधानी पटना आने में पांच घंटे से अधिक का समय नहीं लगेगा. नीतीश कुमार ने बताया कि रोजनगार के लिए भी कई योजनाएं चलाई गई है. इसके लिए 500 करोड़ रुपये के फंड की व्यवस्था की गई है. मुजफ्फरपुर के सरकारी अस्पताल में 2500 बेड की व्यवस्था कराई जाएगी.

नीतीश कुमार ने कहा कि बेटी के जन्म होने पर 2000 रुपये, आधार कार्ड से जोड़ने पर एक हजार रुपये और दो साल के अंदर उसका सम्पूर्ण टीकाकरण पर 2000 रुपये की व्यवस्था की गई है. लड़कियों के लिए साइकिल और पोशाक के लिए मिलने वाली राशि को बढ़ा दिया गया है. लड़कियों को 12वीं के बाद 10 हजार रुपये और ग्रेजुएट होने पर 25 हजार रुपये की राशि की व्यवस्था की है. कई छात्रवास की व्यवस्था की जा रही है. उस छात्रावास में रहने वाले प्रत्येक छात्र को 1000 रुपये ओर 15 kg अनाज की व्यवस्था की गई है. सभी पिछड़े वर्ग के कैंडिडेट्स को, अगर यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा पास करते हैं तो 50 हजार रुपये और मेन्स पास करते हैं तो एक लाख रुपये दिया जा रहा है.

यह भी पढ़े  पहले शोक संवेदना फिर खाए गोलगप्पे, जेडीयू ने तेजस्वी की राजनीतिक परिपक्वता पर उठाए सवाल

बाढ़ और सूखे को लेकर नीतीश कुमार ने कहा कि इससे लड़ने के लिए वे सजग हैं. 18 अगस्त को फिर से समीझा की जाएगी. राज्य के सरकारी खजाने पर पहला अधिकार आपदा पीड़ितों का है. इसलिए चिंता करने की की जरूरत नहीं है. वहीं उन्होंने जलवायु परिवर्तन पर भी अपनी बात रखी और कहा कि पर्यावरण संकट विकसित देशों की वजह से उत्पन्न हुआ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here