सरकार महंगाई रोकने में पूरी तरह विफल : भाकपा

0
71
file photo

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के राष्ट्रीय सचिव के नारायणा ने केंद्र और राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ आंदोलन तेज करने का आह्वान किया। पार्टी 20 जून को राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम के तहत सभी प्रखंड मुख्याल में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत और महंगाई के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंकेगी और किसानों की समस्याओं को लेकर 15 जून को जिला मुख्यालय पर धरना देगी। साथ ही पार्टी अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में राजधानी पटना में रैली करेगी।श्री नारायणा बुधवार को केदार भवन में भाकपा की बिहार राज्य परिषद की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने पार्टी की 23 वीं राष्ट्रीय कांग्रेस की रिपोर्टिग करते हुए कहा कि पार्टी जन सवालों को लेकर संघर्ष तेज करेगी। पार्टी ने दलितो, आदिवासियों, महिलाओं और अल्पसंख्यकों के सवालों को लेकर आंदोलन तेज करने का निर्णय लिया है। केंद्र की मोदी सरकार अपना कोई वादा पूरा नहीं कर पायी है। न तो बेरोजगारों को रोजगार मिला और न ही विदेशों से कालाधन ला पायी। उलटे नीरव मोदी, विजय माल्या सहित कई बड़े पूंजीपति बैंकों के पैसे लेकर विदेश भाग गये। श्री नारायणा ने कहा कि भाजपा शासन काल में पेट्रोलियम पदार्थो की कीमत आसमान छूने लगी है,जबकि अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमत कम है। पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ने से आम लोगों के उपयोग की वस्तुएं महंगी हो गयी हैं। सरकार महंगाई रोकने में पूरी तरह विफल साबित हो रहा है। मोदी सरकार की आर्थिक और विदेश नीति पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। घरेलू मोर्चे पर भी सरकार असफल साबित हो रही है। भाकपा सचिव ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है। हाल ही में लोकसभा की चार और विधान सभा की दस सीटों पर हुए उप चुनाव में भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को सत्ता से हटाने के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं को अभी से जुट जाना चाहिए। उन्होंने पार्टी नेताओं को मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों से आमजनता को अवगत कराने का आह्वान किया। उन्होंने राज्य में बढ़ते अपराध, हत्या, लूट, बलात्कार की घटनाओं के लिए राज्य सरकार भी जमकर हमला बोला। बैठक की अध्यक्षता भाकपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य रामनरेश पांडेय और भोला पासवान ने की। बैठक में भाकपा के राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह, पूर्व राज्य सचिव राजेंद्र प्रसाद सिंह, मो.जब्बार आलम, जानकी पासवान, रामंचद्र महतो, पूर्व विधायक अवधेश कुमार राय, पूर्व विधान पार्षद उपा सहनी, राजश्री किरण, मिथिलेश झा, गजनफर नवाब आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़े  भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मा) का दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर शुरू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here