समीक्षा यात्रा :सीएम नीतीश आज पहुंचेंगे छपरा, विकास कार्यों की करेंगे समीक्षा

0
404

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज समीक्षा यात्रा के क्रम में छपरा के एकमा पहुच रहे हैं. समीक्षा यात्रा के क्रम में मुख्यमंत्री यहां सिर्फ दो घंटे रुकेंगे, लेकिन इस दौरान वह करोड़ों की लागत वाले 331 योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन करेंगे. यहां सबसे अधिक खुशी उस गांव के लोगों को है, जहां मुख्यमंत्री के सात निश्चय योजनाओं को पूरा किया गया है और मुख्यमंत्री खुद इसे देखने जा रहे हैं.

छपरा एकमा प्रखंड का गंजपर गांव इन दिनों सुर्खियों में है. हो भी क्यों नहीं, सूबे के मुखिया खुद इस गांव में आने वाले है ताकि वे देख सके कि इस गांव का कितना विकास हुआ है.

मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की घोषणा के बाद छपरा के प्रशासनिक अधिकारियों ने दिन-रात एक कर इस गांव के हर घर में नल का जल, शौचालय, बिजली और सड़क जैसी महत्वपूर्ण योजनाएं पूरी कर दी है. इसके आलावा भी मुख्यमंत्री कुछ महत्वपुर्ण सौगात छपरा को देंगे, जो इस तरह हैं.

यह भी पढ़े  कन्हैया पर पटना और बेगुसराय में एफआईआर दर्ज

पूर्णिया :सीएम ने किया 438.15 करोड़ रुपये की 219 योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास

मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा कि सरकार शराबबंदी को और कारगर तरीके से लागू करने के लिए तंत्र को सुदृढ़ कर रही है लेकिन सामाजिक चेतना के बिना इसमें पूर्ण सफलता नहीं मिलेगी।श्री कुमार बुधवार को विकास समीक्षा यात्रा के पांचवें चरण में यहां जलालगढ़ प्रखंड के हांसी बेगमपुर गांव पहुंचे और सात निश्चय एवं विभिन्न विकासात्मक योजनाओं के तहत चल रहे कायरे की जानकारी ली। उन्होंने जनसभा स्थल से रिमोट के जरिए 438.15 करोड़ रुपये की 219 योजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया। सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार शराबबंदी को और कारगर तरीके से लागू करने के लिए तंत्र को सुदृढ़ कर रही है, लेकिन सामाजिक चेतना के बिना इसमें पूर्ण सफलता नहीं मिलेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास यात्रा के दौरान लोगों ने पूर्णिया को नगर निगम बनाने की मांग की थी, जो अब नगर निगम बन गया है। उन्होंने कहा कि उस समय 30 मेगावाट नियमित रूप से पूर्णिया में बिजली आपूत्तर्ि की मांग को लेकर लोगों ने आवाज उठाई थी और आज यहां 75 से 80 मेगावाट बिजली की आपूत्तर्ि की जा रही है। उन्होंने कहा कि हर गांव तक बिजली पहुंचा दी गई है। जो कुछ टोले बचे हैं, वहां अप्रैल महीने तक यह सुविधा उपलब्ध करा दी जाएगी। साथ इस वर्ष के अंत तक बिजली कनेक्शन लेने के इच्छुक परिवारों को सुविधा मुहैया करा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि लोगों को यदि स्वच्छ पानी और खुले में शौच से छुटकारा मिल जाए तो 90 प्रतिशत बीमारियों से मुक्ति मिल जाएगी। जहां पानी गुणवत्ता प्रभावित है वहां लोक स्वास्य अभियांण विभाग के माध्यम से जबकि जहां गुणवत्ता की समस्या नहीं है, वहां पंचायतों के माध्यम से वार्डवार पानी दिया जा रहा है।

यह भी पढ़े  वायु प्रदूषण से पटना, मुजफ्फरपुर व गया में हर साल 4082 मौतें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here