श्वेत व हरित क्रांति शास्त्री की देन

0
142
Patna-Jan.11,2018-JDU MP RCP Singh and others are sitting during Anti Dowry Sankalp Sabha and 52nd death anniversary of former Prime Minister Lal Bahadur Shastri at Rabindra Bhawan in Patna. Photo by – Sonu Kishan.

जदयू के राष्ट्रीय महासचिव राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह ने कहा कि श्वेत व हरित क्रांति लाल बहादुर शास्त्री की देन है। ये न होते तो देश दूध उत्पादन व कृषि के क्षेत्र में आत्मनिर्भर नहीं होता। राज्यसभा सांसद श्री सिंह आज शास्त्री जी की 52वीं पुण्यतिथि पर रवीन्द्र भवन में जदयू कलमजीवी प्रकोष्ठ के द्वारा आयोजित दहेज विरोधी संकल्प सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शास्त्री जी ने राजनीति में मिसाल कायम की। 1954 में जब में रेल मंत्री थे तब रेलवे दुर्घटना के बाद न केवल अपना इस्तीफा दिया था बल्कि रेल दुर्घटना में अपनी नैतिक जिम्मेबारी का एहसास कराते हुए प्रधानमंत्री को इस्तीफा मंजूर करने को बाघ्य किया था। उन्हीं की प्रतिमूर्ति बनकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी रेल मंत्री रहते रेल दुर्घटना होने पर प्रधानमंत्री को इस्तीफा मंजूर करने पर बाध्य किया था। उन्होंने कभी भी लोकतंत्र में परिवारवाद का समर्थन नहीं किया जबकि आज नेता ऐसे हैं जो अपने परिवार के विकास के लिए लोकतंत्र को परिवारतंत्र के माध्यम से राजतंत्र बना रहे हैं। इस मौके पर जदयू के विधान पार्षद प्रो. रणवीर नंदन ने कहा कि सामाजिक सरोकारों के साथ सामाजिक कुरीतियों को दूर कर ही समाज का निर्माण हो सकता है। आज हमारे नेता नीतीश कुमार के सामाजिक आह्वान को बिहार की जनता ने गंभीरता से लिया है। प्रो.नंदन ने कहा कि शास्त्री जी की जब जन्मतिथि मनायी जा रही थी तब हमारे नेता नीतीश कुमार का यह निर्देश हुआ कि उनकी पुण्यतिथि मनाइये और इस मौके पर शास्त्री जी की रहस्यमय मौत पर र्चचा कर उस रहस्य से पर्दा उठाने का काम भी करें। पूर्व मंत्री व जदयू कलमजीवी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष रंजीत सिन्हा ने बताया कि शास्त्री जी नवीन प्रयोग के लिए जाने जाते थे। धरना प्रदर्शन के विरुद्ध लाठी चार्ज के बदले पानी की बौछार,महिला कंडक्टर,सी.पी.ओ में महिला की बहाली आदि का प्रयोग इन्हीं के कार्यकाल में किया गया। संचालन महानगर अध्यक्ष धीरज सिन्हा,स्वागत डा. प्रभात चन्द्रा व धन्यवाद ज्ञापन विशाल वर्मा ने किया। इस मौके पर सागरिका चौधरी,विनय वर्मा, मिस इंडिया मोनिका सिंह, मिसेज इंडिया आरती सिंह, लोकगीत गायिका नीतू नवगीत,डॉ. कृष्णा शर्मा,नीता सिन्हा,कृष्णा शगुन, राजाराम सिंह,रीता राजपूत ,दिव्यानी दुबे, प्रिंस श्रीवास्तव सहित सैकड़ों महिलाओं व जदयू कार्यकर्ताओं ने कैंडल जलाकर दहेज न लेने देने का संकल्प लिया।

यह भी पढ़े  विकास का वाहक बनेगा कृषि रोडमैप : जदयू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here