सुषमा स्वराज के निधन को नेताओं ने एक सुर में बताया अपूरणीय क्षति

0
42

राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने सुषमा स्वराज के निधन पर शोक व्यक्त किया है। अपने ट्विटर हैंडलर के माध्यम से ट्वीट कर कहा है कि श्रीमती स्वराज एक मुखर वक्ता और प्रभावशाली सांसद थीं। उनके निधन की सूचना काफी दुखी करने वाला था। .

विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी व विधान परिषद के कार्यकारी सभापति मो हारुन रशीद ने कहा कि सुषमा स्वराज अपने क्रिया-कलाप से देश-विदेश में अमिट छाप छोड़ी। मंत्री विनोद नारायण झा इसे व्यक्तिगत क्षति बताया है। जदयू सांसद आरसीपी सिंह, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी, गुलाम गौस, विधायक ललन पासवान, राजीव रंजन प्रसाद, अरविन्द निषाद, नवीन आर्य, मृत्युजंय सिंह, नंदकिशोर कुशवाहा, शिवशंकर निषाद, ओम प्रकाश सिंह सेतु, डॉ. मधुरेंदु पांडेय, सुमन मलिक, संजय गिरि ने शोक जताया। .

राज्यपाल फागू चौहान ने बुधवार को नई दिल्ली में सुषमा स्वाराज की पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। साथ ही उनके पारिवारिक सदस्यों से भेंटकर उन्हें ढांढ़स बंधाया। उन्होंने कहा कि सुषमा स्वराज महान राष्ट्रभक्त और संवेदनशील नेत्री थीं। उनके निधन से भारत को अपूरणीय क्षति हुई है। .

यह भी पढ़े  पटना हाईकोर्ट ने जस्टिस राकेश के सभी आदेश निरस्त किए

लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान, संसदीय चिराग पासवान, लोजपा प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस ने सुषमा स्वराज के निधन पर शोक व्यक्त किया है। रामविलास पासवान ने कहा है कि श्रीमती स्वराज के निधन की सूचना स्तब्ध करने वाली थी। उधर, रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा ने भी शोक जताया है। .

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा है कि सशक्त नेत्री, प्रखर वक्ता सुषमा स्वराज ने पार्टी और सरकार में अपनी हर भूमिका का बेहतरीन निर्वहन किया। विश्वास ही नहीं हो रहा कि वह अब हमारे बीच नहीं हैं। उनका साथ 40-42 वर्षों का रहा है। जब 1977 में वह मात्र 25 वर्ष की थीं तो मुजफ्फरपुर में जॉर्ज फर्नांडीस की सभा में उन्हें सुनने का सौभाग्य मिला था। भाजपा और भारतीय राजनीति में उनका स्थान हमेशा रिक्त रहेगा, जिसकी भरपाई संभव नहीं है। .

प्रदेश भाजपा प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि सुषमा स्वराज के निधन से भारतीय राजनीति का एक शानदार अध्याय समाप्त हो गया है। देश ने एक प्रिय नेता खो दिया है, जिन्होंने पूरा जीवन सार्वजनिक सेवा और गरीबों के लिए समर्पित कर दिया था। .

यह भी पढ़े  पप्पू को मिला महज चार पार्षदों का साथ

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा ने कहा कि सुषमा स्वराज के निधन से देश ने प्रखर वक्ता और लोकप्रिय नेता खो दिया है। कांग्रेस विधान मंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि सुषमा स्वराज ने देश की राजनीति में अमिट छाप छोड़ी। .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here