श्रद्धालुओं के स्वागत को तैयार पटना : ऋषि

0
17
BHARTIYA NIRTYA KALA MANDIR ME KALA PARDARSHNI KA OPENING KERTE MINISTER KRISHNA KUMAR RISHI

पटना -350वें प्रकाश पर्व के शुकराना समारोह के अवसर पर ‘‘कला मंगल’ श्रृंखला के तहत राज्य के वरिष्ठ लोक कलाकारों के कलाकृतियों की समूह प्रदर्शनी का शुभारंभ शनिवार को हुआ। प्रदर्शनी का उद्घाटन कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि ने किया। बहूद्देशीय सांस्कृतिक परिसर में प्रदर्शनी का आयोजन कला, संस्कृति एवं युवा विभाग और बिहार ललित अकादमी के तत्वावधान में किया गया है। प्रदर्शनी में सात लोक कलाकारों के कुल 95 कलाकृतियों को लगाया गया है। प्रदर्शनी में बबीता कर्ण, नीलम कर्ण, बलेश्वर राम, रामचन्द्र राम, मनोज कुमार पंडित, उलूपी झा और विभा श्रीवास्तव की कलाकृतियों का प्रदर्शन किया गया है। प्रदर्शनी में मधुबनी पेंटिंग व मंजुषा कला की कुल 35 कलाकृतियां, वेणुशिल्प की 30 कलाकृतियां और क्रोशिया के 30 कलाकृतियों को प्रदर्शित किया गया है। प्रदर्शित सभी कलाकृतियों को बारी-बारी से मंत्री ने अवलोकन किया और कलाकृतियों के बारे में कलाकारों से जानकारी ली। इस अवसर पर प्रदर्शनी के लिए मुद्रित कैटलॉग का भी विमोचन किया गया। इसके साथ ही अकादमी में संरक्षित राष्ट्रीय स्तर के नामचीन कलाकारों के कलाकृतियों को भी प्रदर्शित भूतल कला दीर्घा में की गई है। इस मौके पर कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के अपर सचिव आनंद कुमार, उप निदेशक संजय कुमार सिंह, सुनील कुमार, राज कुमार झा, तारानंद महतो वियोगी, संजय कुमार सिन्हा, भवन निर्माण विभाग के उप सचिव विनय कुमार, बिपार्ड के सहायक निदेशक सत्य प्रकाश मिश्र, मनोज कुमार मनीष समेत अन्य वरिष्ठ कलाकार और समीक्षक मौजूद थें। 

सिख धर्म के दसवें गुरु श्री गुरु गोविन्द सिंह जी महाराज के 350वें प्रकाश पर्व के शुकराना समारोह में भारतीय नृत्य कला मंदिर में उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र इलाहाबाद की ओर से भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया गया। जिसमें प्रथम दर्शक के रूप में कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि थे। इस दौरान उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि सिख धर्म के दसवें गुरु श्री गोविंद सिंह जी महाराज के जन्म दिवस पर यह पर्व मनाया जाता है। सिख धर्म में दस गुरु हुए और सबों ने धार्मिक सद्भाव और सामाजिक समरसता का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि पटना की ऐतिहासिक धरती एक बार फिर से अतिथियों के स्वागत के लिए तैयार है। पटना पूरी तरह सज कर तैयार है। राज्य सरकार के अधिकारी से लेकर पटना की आम जनता फिर से शुकराना समारोह को यादगार बनाने के लिए तत्पर हैं।

 

यह भी पढ़े  राष्ट्रीय जनता दल के नेता झूठ की राजनीति बंद करें : राजीव रंजन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here