शराब कारोबारियों से राशि जुटा रहे जदयू नेता : तेजस्वी

0
200
TEJASWI YADAV KA PRESS CONFRENCE

पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि महागठबंधन की सरकार से नाता तोड़ने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की शराबबंदी सिर्फ कागजों में ही सिमट कर रह गयी है। जदयू के पदाधिकारी अवैध शराब कारोबारियों से पार्टी के लिए राशि जुटाने में जुटे हैं। श्री यादव मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि महागठबंधन की सरकार के कार्यकाल में पूर्ण शराबबंदी लागू की गयी थी। उस समय नीतीश कुमार ने विधानमंडल के दोनों सदनों में सदस्यों के साथ शपथ ली थी शराब न पीयेंगे और न पीने देंगे। विधान सभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि शराबबंदी का अभियान अब सिर्फ कागजों में सिमट कर रह गया है। जदयू के पदाधिकारी ही जहरीली शराब का धंधा कर पार्टी के लिए फंडिंग कर रहे हैं। जदयू के पदाधिकारियों को यह पता है कि इस मामले में उनकी न तो गिरफ्तारी होगी और न ही उन्हें कोई पकड़ने वाला है। नीतीश कुमार का सीधा संरक्षण जदयू पदाधिकारियों को मिला हुआ है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को बताना चाहिए कि शराब के मामले में पार्टी के कितने कार्यकर्ता और पदाधिकारी गिरफ्तार किये गये हैं। सिर्फ शराबबंदी को लेकर कड़ा कानून बनाने से कुछ होने वाला नहीं है। आरा में वर्ष 2012 में हुए जहरीली शराब कांड के मुख्य आरोपी और उदवंतनगर जदयू के प्रखंड अध्यक्ष प्रकाश कुमार सिंह उर्फ राकेश सिंह को मुख्यमंत्री आवास में बुलाकर सम्मानित किया गया। प्रतिपक्ष के नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री आवास में प्रवेश पाने के लिए जदयू के विधायक, सांसद और मंत्रियों को काफी मशक्कत करनी पड़ती है। ऐसी स्थिति में शराबकांड के आरोपी को नीतीश कुमार के साथ बैठकर तस्वीर खिंचवाना आसान नहीं है। आरोपी के साथ मुख्यमंत्री की तस्वीर सोशल मीडिया में भी वायरल हुई है। जहरीली शराब कांड में जेल जाने के बाद भी मुख्य आरोपी राकेश जदयू का प्रखंड अध्यक्ष अब तक कैसे से बना हुआ है। श्री यादव ने कहा कि पिछले वर्ष नालंदा में भी जदयू के ही एक पदाधिकारी के घर से अवैध शराब बरामद की गयी थी और उस समय मद्य निषेध विभाग के तत्कालीन प्रधान सचिव केके पाठक का तबादला कर दिया गया था। अपनी छवि चमकाने के लिए नीतीश कुमार एक कानून बनाकर उसे भूल जाते हैं।

यह भी पढ़े  रांची से दिल्ली शिफ्ट किए जाएंगे लालू, एम्स में होगा इलाज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here