शतक से चूकने के बाद हार्दिक ने झटके

0
104

केपटाउन टेस्ट मैच के दूसरे दिन भारतीय टीम के लिए भले ही इस मुकाबले में मुश्किलें बढ़ गई हों, लेकिन इस दौरान टीम इंडिया को एक ऐसी खुशखबरी मिली जिसकी वजह से विराट सेना की मुसीबत थोड़ी कम हो सकती है।

भारतीय टीम को मिली ये बड़ी खबर

एक साल बाद टेस्ट क्रिकेट में वापसी करने वाले डेल स्टेन भारत की पहली पारी में 17.3 ओवर गेंदबाजी करने के बाद ही चोटिल होकर पवेलियन लौटे गए। दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद दक्षिण अफ्रीकी प्रबंधन ने बताया कि गेंदबाजी करते समय उनकी एड़ी में फिर चोट आ गई है। वह इस मैच में आगे गेंदबाजी नहीं करेंगे। डॉक्टर ने उन्हें आराम करने की सलाह दी है। उन्हें ठीक होने में चार से छह माह का समय लगेगा। इसका मतलब यह है कि वह तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में आगे नहीं खेल पाएंगे।

आलराउंडर हार्दिक पांड्या ने अपने चयन को सही साबित करते हुए यहां दूसरे दिन बड़ी अर्धशतकीय पारी खेलने के बाद दक्षिण अफ्रीका के दोनों सलामी बल्लेबाजों को भी पवेलियन भेजा और भारत की पहले टेस्ट क्रि केट मैच में वापसी की उम्मीदों को बरकरार रखा। भारत के मुख्य बल्लेबाजों का फीका प्रदर्शन जारी रहा लेकिन अगर टीम 200 रन के पार पहुंच पायी तो उसका पूरा श्रेय पांड्याको जाता है जिन्होंने 95 गेंदों पर 93 रन की आकर्षक पारी खेली और इस बीच भुवनेश्वर कुमार (86 गेंदों पर 25 रन) के साथ आठवें विकेट के लिये 99 रन जोड़े। इससे एक समय सात विकेट पर 92 रन के स्कोर पर संघर्ष कर रही भारतीय टीम 209 रन तक पहुंचने में सफल रही। अपनी पहली पारी में 286 रन बनाने वाले दक्षिण अफ्रीका ने इस तरह से 77 रन की बढ़त बनायी। उसने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक दो विकेट पर 65 रन बनाये हैं। इस तरह से उसकी कुल बढ़त 142 रन की हो गयी है। भारत की तरफ से दोनों विकेट पांड्या ने लिये। सही मायनों में खेल का दूसरा दिन पंड्या का नाम रहा। उन्होंने भारत के महान आलराउंडर कपिल देव के 59वें जन्मदिन पर दिखाया कि वह वास्तव में देश का दूसरा कपिल देव बनने की क्षमता रखते हैं। बल्लेबाजी में उन्होंने कपिल की तरह बेपरवाह बल्लेबाजी करके 14 चौके और एक छक्का लगाया और इसके बाद गेंदबाजी में कमाल दिखाकर दक्षिण अफ्रीका के दोनों सलामी बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा। उन्होंने अब तक चार ओवर में 17 रन देकर दो विकेट लिये हैं। दक्षिण अफ्रीका ने दूसरी पारी में सहज शुरुआत की।

यह भी पढ़े  भारत ने एकमात्र टी-20 मैच सात विकेट से जीता

दक्षिण अफ्रीका (पहली पारी) : 286भारत (पहली पारी) :मुरली विजय का एल्गर बो फिलैंडर 01शिखर धवन का एवं बो स्टेन 16चेतेश्वर पुजारा का डुप्लेसिस बो फिलैंडर 26विराट कोहली का डिकाक बो मोर्कल 05रोहित शर्मा पगबाधा बो रबादा 11रविचंद्रन अश्विन का डिकाक बो फिलैंडर 12हार्दिक पांड्या का डिकाक बो रबादा 93ऋद्धिमान साहा पगबाधा बो स्टेन 00भुवनेश्वर कुमार का डिकाक बो मोर्कल 25मोहम्मद शमी नाबाद 04जसप्रीत बुमराह का एल्गर बो रबादा 02अतिरिक्त : 14 कुल (73.4 ओवर में, सभी आउट) 209विकेट पतन : 1/16, 2/18, 3/27, 4/57, 5/76, 6/81, 7/92, 8/191, 9/199, 10/209 गेंदबाजी : फिलैंडर 14.3-8-33-, स्टेन 17.3-6-51-2, मोर्कल 19-6-57-2, रबादा 16.4-4-34-3महाराज 6-0-20-0दक्षिण अफ्रीका (दूसरी पारी) :एडेन मारक्रम का भुवनेश्वर बो पांड्या 34डीन एल्गर का साहा बो पांड्या 25कैगिसो रबादा खेल रहे 02हाशिम अमला खेल रहे 04अतिरिक्त : 00कुल (20 ओवर में दो विकेट पर) 65विकेटपतन : 1/52, 2/59गेंदबाजी : भुवनेश्वर 6-3-16-0, बुमराह 4-0-14-0, शमी 5-1-15-0, पांड्या 4-0-17-2, अश्विन 1-0-3-0

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here