वो पांच गेंदें जिन्होंने मुंबई को IPL से कर दिया बाहर

0
68

दिल्ली ने अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर मुम्बई को 11 रनों से हराकर जीत के साथ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें सीजन का समापन किया. दिल्ली की टीम पहले ही प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुकी थी जबकि मौजूदा चैम्पियन मुम्बई की टीम दिल्ली के हाथों मिली इस हार के साथ खिताबी दौड़ से बाहर हो गई. इस पूरे मैच में वैसे तो ज्यादातर मुंबई का ही पलड़ा भारी था लेकिन सही वक्त पर मुंबई के विकेट चटकाने के बाद इस उतार चढ़ाव भरे मैच में जीत अपने नाम कर ली. मुंबई की बल्लेबाजी की गहराई भी टीम के काम न आ सकी और पूरी ही टीम को दिल्ली के गेंदबाजों ने 20 ओवर से पहले ही केवल 163 के स्कोर पर पवेलियन वापस भेजकर अपनी जीत सुनिश्चित कर दी.
दिल्ली के दिए 175 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई के लिए पारी की शुरूआत करने उतरे सूर्यकुमार यादव (12) पहले ही ओवर में एक बार जीवन दान पाकर दूसरी बार नेपाल के गेंदबाज संदीप लामिचाने की गेंद से नहीं बच सके और पहले ओवर की चौथी गेंद पर विजय शंकर के हाथों बाउंड्री के पास लपके गए. इसके इवान लेविस (48) और ईशान किशन (5) की अच्छी साझेदारी के दम पर पावरप्ले में 57 रन बनाकर अपनी स्थित मजबूत बनाई ही थी कि तभी अमित मिश्रा की गेंद पर लंबा शॉट मारने वाले किशन बाउंड्री पर विजय शंकर के हाथों लपके गए. किशन और लेविस ने 45 रन जोड़े थे.इसके बाद, मुंबई के बल्लेबाजों पर मैच जीतने का दबाव साफ दिखाई दिया. केरन पोलार्ड (7) ने लेविस के साथ तीसरे विकेट के लिए 17 रन जोड़े और टीम को 74 के स्कोर तक पहुंचाया. इसी स्कोर पर मिश्रा ने लेविस को विकेट के पीछे खड़े पंत के हाथों कैच आउट करा मुंबई का तीसरा विकेट गिराया. लेविस इस सीजन में तीसरा अर्धशतक लगाने से चूक गए. उन्होंने 31 गेंदों का सामना करते हुए तीन चौके और चार छक्के लगाए. नौवें ओवर की आखिरी गेंद पर लेविस का विकेट गिरा. इसके बाद, 10वें ओवर की पहली गेंद पर पोलार्ड भी पवेलियन लौट गए. पोलार्ड लामिचाने की गेंद पर लंबा शॉट मारने की कोशिश में बोल्ट के हाथों लपके गए.पावरप्ले में अपनी स्थिति मजबूत करने वाली मुंबई बाद के ओवर में कमजोर हो रही थी. पोलार्ड के आउट होने के बाद कप्तान रोहित शर्मा (13) और क्रुणाल पांड्या (5) टीम की पारी संभालने उतरे, हालांकि वे भी खुलकर नहीं खेल सके और मंबई ने जल्दी ही क्रुणाल के रूप में अपना एक और विकेट गंवा दिया. क्रुणाल भी 79 के स्कोर पर लामिचाने की गेंद पर कैच आउट होकर पवेलियन लौट गए.कप्तान रोहित ने यहां हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या (27) के साथ मिलकर टीम को संभालने की कोशिश की, लेकिन वह भी ज्यादा देर तक मैदान पर नहीं टिक पाए और 14वें ओवर में हर्षल पटेल की गेंद पर वे भी बोल्ट के हाथों लपके गए, रोहित और हार्दिक ने छठे विकेट लिए 43 रन जोड़े. रोहित के आउट होने के बाद हार्दिक को भी दिल्ली के गेंदबाजों ने मैदान पर टिकने नहीं दिया. उन्हें मिश्रा ने राहुल तेवतिया के हाथों कैच आउट करवाया और मुंबई का सातवां विकेट भी गिरा दिया. हार्दिक जब आउट हुए तब टीम का स्कोर 122 था.
इसके बाद मयंक मारकंडे (3) के साथ टीम की पारी संभालने आए बेन कटिंग (37) के दो चौकों और छक्कों ने मुंबई को लक्ष्य के करीब पहुंचना में थोड़ी मदद दी. अब मेजबान मुंबई को 12 गेंदों में 23 रनों की जरूरत थी, लेकिन 157 के स्कोर पर बोल्ट ने मारकंडे को आउट करने के साथ ही मुंबई की उम्मीदों को बड़ा झटका दिया. मुंबई को आखिरी ओवर में लक्ष्य हासिल करने के लिए 18 रनों की दरकार थी. यहां कटिंग ने हर्षल की गेंद पर एक छक्का लगाया लेकिन अगली ही गेंद पर वह लपके गए जिससे मुंबई के डगआउट में हताशा छा गई. कटिंग जब आउट हुए तब टीम का स्कोर 163 था. इसी स्कोर पर हर्षल ने जसप्रीत बुमराह को भी बोल्ट के हाथों कैच आउट कर टीम की पारी समाप्त कर दी. इस पारी में दिल्ली के लिए नेपाल के युवा गेंदबाज संदीप लामिचाने, हर्षल पटेल और अमित मिश्रा ने तीन-तीन विकेट लिए, वहीं ट्रैंट बोल्ट को एक सफलता मिली. मिश्रा को दबाव में शानदार और किफायती गेंदबाजी करने के लिए मैन ऑफ द मैच चुने गए

यह भी पढ़े  IPL 2018 : मुंबई-राजस्थान के बीच हारने वाले का प्लेऑफ में पहुंचना होगा बहुत मुश्किल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here