विवि में शिक्षकों की बहाली को बनेगा आयोग

0
238
Patna-June.14,2018-Bihar Governor Satyapal Mallik, Deputy Chief Minister Sushil Kumar Modi, Vice Chancellor Raas Bihari Prasad Singh and others are releasing souvenir during Chatra Samwad at S.K. Memorial hall in Patna, organized by Patna University Students Union

राज्य के विविद्यालयों में शिक्षकों की बहाली के लिए शीघ्र अलग आयोग का गठन किया जायेगा। इस वित्तीय वर्ष से ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि शिक्षकों को समय पर वेतन मिले। ये बातें उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बृहस्पतिवार को पटना विविद्यालय छात्रसंघ की ओर से आयोजित ‘‘बिहार की राजनीति में छात्र नेताओं की भूमिका सह छात्र संवाद’ में कहीं। उन्होंने कहा कि विविद्यालयों के सत्र नियमित किये जा रहे हैं और वर्तमान सत्र से सभी विविद्यालयों में ऑनलाइन नामांकन की प्रक्रिया शुरू होगी। बिहार देश का पहला ऐसा राज्य है, जिसने उच्च शिक्षा के लिए छात्रों को अपने कोष से बिना गारंटर के चार लाख रुपये के शिक्षा ऋण के अतिरिक्त रहने-खाने और किताब-कॉपी के लिए 60 हजार रुपये का कर्ज देने का फैसला किया है। यह कर्ज छात्रों को चार प्रतिशत जबकि छात्राओं को मात्र एक प्रतिशत ब्याज दर पर दिया जायेगा। नौकरी मिलने तक छात्रों से कर्ज की वसूली नहीं होगी। उप मुख्यमंत्री ने छात्रों से इस योजना का अधिक से अधिक संख्या में लाभ उठाने की अपील भी की। श्री मोदी ने कहा कि नेतृत्व का मतलब सिर्फ सांसद और विधायक बनना नहीं है। समाज के हर क्षेत्र को इसकी जरूरत है। नेतृत्वकर्ता को ईमानदार होना चाहिए। राजनीति धनार्जन के लिए नहीं, बल्कि सेवा का माध्यम होना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर कोई छात्र संघ की राजनीति से आगे आना चाहता है तो उसमें नि:स्वार्थ समाज सेवा की भावना होनी चाहिए। छात्र संघ के जरिये अनेक नेता राजनीति में आए जिनमें अरुण जेटली, सत्यपाल मलिक, विजय गोयल, आरिफ मोहम्मद खान, स्व. दिग्विजय सिंह, नीतीश कुमार, अश्विनी चौबे, संजय कुमार, अनिल शर्मा आदि प्रमुख हैं जिन्होंने देश और राज्य की राजनीति को दिशा दी है।

यह भी पढ़े  महाराष्ट्र में बीजेपी ने सरकार बनाने से किया इनकार, राज्यपाल से कहा- हमारे पास नंबर नहीं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here