विविद्यालय जल्द कराएं परीक्षाएं :राजभवन

0
30
फाइल फोटो

सभी विविद्यालयों जल्द से जल्द लंबित परीक्षाएं लें। विविद्यालयों में एकेडिमिक एवं परीक्षा कैलेण्डर को आगामी सत्र से समयबद्ध रूप से कार्यान्वित करें। पटना विविद्यालय को छोड़कर विभिन्न विविद्यालयों में नामांकन की प्रक्रिया को आगामी सत्र से ऑनलाइन कार्यान्वित करने पर बिहार सेकेन्डरी स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड के साथ समन्वय स्थापित कर तेजी से अमल किया जाएगा।राजभवन में आज राज्य के विविद्यालयों के कुलपतियों की मासिक बैठक सम्पन्न हुई, जिसमें सभी विविद्यालयों के कुलपतियों के अतिरिक्त शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव आरके महाजन एवं राज्यपाल के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह के अतिरिक्त राज्यपाल सचिवालय एवं शिक्षा विभाग उच्च शिक्षा के सभी प्रमुख वरीय अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में मगध विविद्यालय के सेन्ट्रल पैनल को छोड़कर राज्य के अन्य सभी विविद्यालयों में शांतिपूर्ण, स्वच्छ एवं निष्पक्ष छात्रसंघ चुनाव सम्पन्न कराने पर कुलाधिपति सह राज्यपाल द्वारा प्रसन्नता जाहिर किये जाने की बात राज्यपाल के प्रधान सचिव ने सभी कुलपतियों को संसूचित की। आज की बैठक में राज्य के विविद्यालयों में एकेडिमिक एवं परीक्षा कैलेण्डर को आगामी सत्र से समयबद्ध रूप से कार्यान्वित करने पर गंभीरतापूर्वक विचार किया गया। साथ ही यह निर्णय लिया गया कि पटना विविद्यालय को छोड़कर विभिन्न विविद्यालयों में नामांकन की प्रक्रिया को आगामी सत्र से ऑनलाइन कार्यान्वित करने पर बिहार सेकेन्डरी स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड के साथ समन्वय स्थापित कर तेजी से अमल किया जाएगा। इस क्रम में विभिन्न विविद्यालयों को अपनी लंबित परीक्षाएं यथाशीघ्र आयोजित कराने को भी कहा गया। राज्य के नवस्थापित पाटलिपुत्र विविद्यालय, मुंगेर विविद्यालय एवं पूर्णिया विविद्यालय में आगामी सत्र से शिक्षण प्रारंभ कर देने के उद्देश्य से परिसंपत्ति एवं कार्यबल के वितरण तथा अन्य व्यवस्थाओं को सुनिश्चित कराने हेतु तीनों विविद्यालयों के लिए अलग-अलग समितियां गठित करने का निर्णय लिया गया। इसमें संबंधित विविद्यालयों के कुलपति, कुलसचिव, उच्च शिक्षा के निदेशक, राजभवन के एक अधिकारी तथा वित्त विभाग के एक अधिकारी आदि रहेंगे। समिति से अपेक्षा की जाएगी कि वह 3 मई 2018 तक अपना प्रतिवेदन निश्चित रूप से समर्पित कर दे। ताकि नये विविद्यालयों के सुसंचालन में सुविधा हो। राज्य सरकार के ‘‘सात निश्चय’ कार्यक्रम के आलोक में विविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में ‘‘वाई-फाई’ संस्थापित किए जाने की योजना को गति प्रदान करने के उद्देश्य से भी एक बैठक शिक्षा विभाग में आगामी 21 अप्रैल, 2018 को आयोजित करने का निर्णय लिया गया, जिसमें सर्विस प्रोवाइडर एजेन्सी एवं विविद्यालयों के नोडल ऑफिसर भाग लेंगे। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि सभी विविद्यालय ‘‘नैक एक्रीडिटेशन के मानकों के अनुरूप अपनी आवश्यक आधारभूत संरचनाओं की प्राथमिकता निर्धारित कर शिक्षा विभाग में अपना प्रतिवेदन अपेक्षित राशि वर्णित करते हुए यथाशीघ्र प्रस्तुत करेंगे, ताकि राज्य के विविद्यालयों/महाविद्यालयों के ‘‘नैक प्रत्ययन’ में कोई कठिनाई नहीं रह जाए। बैठक में राज्य के विविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में छात्राओं के लिए वाशरूम/शौचालय के निर्माण तथा वाई-फाई तथा बायोमैट्रिक संस्थापन की व्यवस्था सभी विविद्यालय ही अपनी कार्यकारी एजेन्सियों के माध्यम से सुनिश्चित करायेंगे। बैठक के दौरान बीएड कॉलेजों में आगामी सत्र से ‘‘कम्बाइंड इंटरेंस टेस्ट’ के माध्यम से नामांकन व्यवस्था को अंतिम रूप दिये जाने पर जोर दिया गया, साथ ही बीएड कॉलेजों के निरंतर निरीक्षण के लिए भी कुलपतियों को कहा गया। विविद्यालयों /महाविद्यालयों में खेलकूद एंव सांस्कृतिक आयोजनों की गतिविधियों पर विचार के क्रम में यह निर्णय लिया गया कि मगध विविद्यालय अन्तर विविद्यालय खेलकूद की प्रतियोगिता -‘‘एकलव्य’ तथा ललित नारायण मिथिला विविद्यालय, दरभंगा सांस्कृतिक महोत्सव की प्रतियोगिता ‘‘तरंग’ का आयोजन इस वर्ष अपने-अपने विविद्यालय-मुख्यालयों में करायेंगे। सभी विविद्यालय 2018-19 के लिए खेलकूद एवं सांस्कृतिक गतिविधियों का अपना वार्षिक कैलेण्डर भी शीघ्र तैयार कर प्रस्तुत करेंगे।

यह भी पढ़े  ईडी ने मीसा भारती व शैलेश से की 8 घंटे पूछताछ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here