विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा भारत बंद आज, समर्थकों ने कहीं रोकी ट्रेन तो कहीं किया सड़क जाम

0
38
13 प्वाइंट रोस्टर को लेकर विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा किए गये भारत बंद का असर बिहार में दिखने लगा है. बंद समर्थकों ने कहीं ट्रेन रोकी है तो कहीं सड़क यातायात को भी बाधित किया है. आरा में ट्रेन रोक रहे 10 से ज्यादा आइसा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया.
बंद समर्थक रेलवे स्टेशन पहुंचे थे जहां जीआरपी और आरपीएफ ने उन्हें हिरासत में ले लिया. आइसा कार्यकर्ताओं ने अहमदाबाद-पटना ट्रेन के परिचालन को बाधित किया था. नवादा में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं के द्वारा पटना-रांची एनएच 31 को जाम कर जमकर प्रदर्शन किया गया. प्रदर्शन के कारण एनएच 31 पर दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई. सद्भावना चौक को पूरी तरह से ठप्प कर दिया गया जिसके कारण गया, पटना, रांची आने जाने वाले सभी वाहन जाम में फंसे रह गए.
विवि में 13 प्वाइंट रोस्टर लागू करने के विरोध में दलित संगठन भीम आर्मी और गैर राजनीतिक संगठनों ने  मंगलवार को भारत बंद बुलाया है. जिग्नेश मेवानी, प्रो रतन लाल आदि आदि ने इसका समर्थन किया है. बिहार में राजद, हम, माकपा, भाकपा और भाकपा माले ने भारत बंद का समर्थन किया है. बंद समर्थकों ने सरकार से विवि शिक्षकों की नियुक्ति में पहले की आरक्षण की व्यवस्था (200 प्वाइंट रोस्टर) लागू रहने देने की मांग कर की है.
पटना : संविधान बचाओ संघर्ष समिति के मंगलवार को भारत बंद  का रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने समर्थन किया है.
पार्टी के प्रधान महासचिव सत्यानंद प्रसाद दांगी ने बताया कि 13 प्वाइंट रोस्टर को लागू कर पिछड़ों, शोषितों, दलितों व वंचितों के सामाजिक उत्थान के लिए संवैधानिक रूप से मिले आरक्षण को मोदी सरकार समाप्त करने की साजिश की है. इसके विरुद्ध  पार्टी भारत बंद का  समर्थन करती है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार लगातार आरएसएस के एजेंडा को लागू करना चाहती है. डाॅ भीमराव आंबेडकर द्वारा भारत के संविधान में आरक्षण की जो व्यवस्था है, उसे खत्म करनी की कोशिश  हो रही है.
ओबीसी के 27 प्रतिशत आरक्षण के बावजूद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में पिछड़ी जाति के प्रोफेसर नगण्य हैं. दलित व अतिपिछड़ा की भी उपस्थिति नहीं के बराबर है. इस आशय की जानकारी महासचिव सह मीडिया प्रभारी अनिल यादव ने दी.
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी और भारत की कम्युनिस्ट पार्टी पांच मार्च को आयोजित भारत बंद का समर्थन किया है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव सत्य नारायण सिंह ने 13 प्वाइंट रोस्टर के खिलाफ 5 मार्च को आयोजित भारत बंद का समर्थन करने की घोषणा की है। भाकपा राज्य सचिव ने सोमवार को बयान जारी कर कहा कि 13 प्वाइंट रोस्टर पण्राली को समाप्त कर विविद्यालय स्तरीय रोस्टर के माध्यम से कॉलेज और विविद्यालय शिक्षक की नियुक्ति होनी चाहिए। उन्होंने इसके लिए केन्द्र सरकार से तत्काल आध्यादेश लाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि 13 प्वाइंट रोस्टर पण्राली लागू होने से दलित, आदिवासी और पिछड़े वर्ग के लोग कॉलेज और विविद्यालय शिक्षक नहीं बन पायेंगे। इसी के मद्देनजर भाकपा ने भारत बंद का समर्थन करने का फैसला लिया है। वहीं माकपा राज्य सचिव अवधेश कुमार ने बंद का समर्थन करते हुए कहा कि 13 प्वाइंट रोस्टर अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों और ओबीसी के शैक्षणिक पदों पर हमला है।
यह भी पढ़े  नीतीश मंत्रिमंडल का विस्तार,रजक उद्योग व चौधरी भवन निर्माण मंत्री बने

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here