विकास व सुरक्षा पर जनादेश मांग रहा :राजग

0
27
Patna-May.15,2019-Prime Minister Narendra Modi is waving his hand with Bihar Chief Minister Nitish Kumar, Lok Janshakti Party president Ramvilas Paswan, BJP candidates Ravishankar Prasad and Ramkripal Yadav during an election rally for the last phase of the Lok Sabha polls at Paliganj in Patna.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को विपक्ष पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि महामिलावटी घोर नकारात्मकता के साथ चुनाव लड़ रहे हैं जबकि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) देश की सुरक्षा और विकास के मुद्दे पर जनादेश मांग रहा है। मोदी ने यहां पाटलिपुत्र और पटना साहिब संसदीय क्षेत्र के भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि ये जितने भी महामिलावटी हैं, वे घोर नकारात्मकता के साथ चुनाव लड़ रहे हैं और उनके पास दो ही मुद्दे हैं मोदी की छवि खराब करो और मोदी को हटाओ लेकिन इन महामिलावटियों को एहसास नहीं है कि मोदी को आज 130 करोड़ भारतीयों का आशीर्वाद प्राप्त है। उन्होंने कहा कि दूसरी ओर राजग देश की सुरक्षा व विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ रहा।प्रधानमंत्री ने कहा कि महामिलावटी लोग दिल्ली में एक मजबूर सरकार का सपना पाले हुए हैं, लेकिन उनकी उम्मीदों पर देश की जनता ने पानी फेर दिया है। महामिलावटी लोगों ने निजी स्वार्थ को सवरेपरि रखा। कांग्रेस का नामदार परिवार हो या फिर बिहार का भ्रष्ट परिवार, इनकी संपत्ति आज सैकड़ों हजारों करोड़ रपए में है। आखिर यह पैसे कहां से आए। उन्होंने कहा कि अगर इन महामिलावटियों को देश और गरीब की जरा सी भी परवाह होती तो भ्रष्टाचार करने से पहले ही इनके हाथ कांपते। मोदी ने कहा कि मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के रूप में उनका करीब डेढ़ दशक तक का काम रहा है। यह सब जनता के आशीर्वाद का ही फल है। जनता जनार्दन ईर का रूप है। वह जनता में ही ईर का रूप देखते हैं। इन पदों को जनता द्वारा दिया गया प्रसाद मानते हैं। उन्होंने इस प्रसाद को सिर झुका कर स्वीकार किया और प्रसाद की पवित्रता का भी विशेष ख्याल रखा लेकिन ये महामिलावटी जिन पदों पर गए उसे लालची नजरों से देखा ताकि उन्हें जनता को लूटने का अवसर मिल सके। इन महामिलावटी लोगों ने अपने और अपने परिवार के स्वार्थ को राष्ट्र की सुरक्षा और गरीब के हित से भी ऊपर रखा। प्रधानमंत्री ने कहा कि ये लोग अपनी प्रशंसा और वाहवाही सुनने के आदी हो गए हैं। दरबारियों की पूरी फौज इनके गुणगान में लगी रहती है। इन लोगों ने अपने आसपास की दीवार इतनी ऊंची कर ली है कि अब इन्हें गरीब का दर्द दिखाई नहीं देता है। गरीबों की परेशानी को ये भूल चुके हैं। उन्होंने कहा कि गरीबों की सैकड़ों एकड़ जमीन हड़पने के बाद ये लोग जमीन से पूरी तरह कट चुके हैं। इनकी आंखें आज भी चोरी का माल तलाशने के लिए खुलती हैं, जैसे ही मौका मिलता है वे उस माल को लूटने में लग जाते हैं। बिहार की जनता ही फैसला करे कि इन लोगों ने राज्य को बदनामी के अलावा और क्या दिया है। मोदी ने कहा कि महामिलावटियों ने अपने स्वार्थ के लिए देश की सुरक्षा को भी ताक पर रख दिया था । 2014 से पहले जब भी आतंकी देश में हमले करते थे तब ये लोग सिर्फ बयान देते थे । उन्होंने कहा,‘‘ आपके इस चौकीदार ने पाकिस्तान के आतंकियों से मिल रहे घाव को सहने से इनकार कर दिया। अब भारत आतंकियों को उनके घर में घुसकर मारता है।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि महामिलावटी लोगों ने बिहार को विकास से वंचित रखा। जिस जाति के नाम पर राजनीति की और पद प्रतिष्ठा के साथ अरबों-खरबों के मालिक बन गए, उनके साथ भी इन लोगों ने विासघात किया है। उन्होंने कहा कि कि उनकी पार्टी चलाने के लिए उनके परिवार के बाहर किसी को योग्य नहीं समझा गया। मोदी ने कहा कि अपनी पार्टी में दूसरे लोगों पर दबाव बनाए रखने के लिए होनहार नौजवानों को गलत रास्ता पकड़ा दिया। नौजवानों को जाति के नाम पर भ्रमित कर और उनके कंधे पर बंदूक रखकर इन लोगों ने अपने ही जमात और जाति को बंधक बना दिया। उन्होंने कहा कि अब देश और बिहार बदल रहा है। 21 वीं सदी का नौजवान अब उनके झांसे में आने वाला नहीं है। जब देश की बात आती है तो हर व्यक्ति पहले भारतीय होता है और उसके बाद कुछ और। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के हर वर्ग, क्षेत्र और समुदाय का विकास जरूरी है इसलिए उनकी सरकार सबका साथ सबका विकास के मंत्र को लेकर आगे बढ़ रही है। यही कारण है कि आजादी के बाद पहली बार सामान्य वर्ग के गरीब युवाओं को भी 10 प्रतिशत आरक्षण का लाभ मिल रहा है। मोदी ने कहा कि वह यदुवंश की धरती गुजरात से है जहां दो ‘‘मोहन’ हुए। एक से उन्हें देश की सुरक्षा और दूसरे से देश के विकास की प्रेरणा मिली। एक मोहन हैं जिन्हें कन्हैया, कृष्ण और बाल गोपाल कहा जाता है जो माखन खाते थे और उनके हाथ में बांसुरी तो दूसरे में सुदर्शन चक्र होता था। दूसरे मोहन हैं चरखा चलाने वाले मोहनदास करमचंद गांधी। उन्होंने कहा कि एक मोहन का सुदर्शन चक्र देश की रक्षा और दूसरे का चरखा उन्हें देश के विकास के लिए प्रेरित करता है। इसलिए जरूरत पड़ी तो भारत भगवान कृष्ण की तरह आतंकियों के खात्मे के लिए सुदर्शन चक्र भी धारण करेगा। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘हमने 2022 तक किसान की आय दोगुनी करने का संकल्प लिया है, अन्नदाता को सौर ऊर्जा दाता बनाने का काम हाथ में लिया है। इसके लिए बीज से बाजार तक नयी व्यवस्थाएं खड़ी की जा रही हैं। बिहार के गांव-गांव की उम्मीदों को, सपनों को नयी ऊंचाई देने के लिए, गरीब से गरीब तक टेक्नोलॉजी को हम कैसे पहुंचा रहे हैं, इसका उदाहरण है डिजिटल इंडिया अभियान।’ उन्होंने कहा कि भाजपा-राजग सरकार की नीतियों के कारण आज दुनिया में सबसे सस्ता इंटरनेट भारत में है। गरीब युवा इस सस्ते इंटरनेट का लाभ पढ़ाई के लिए कर रहे हैं। मोदी ने कहा कि पीएम किसान योजना के तहत सीधे किसानों के खाते में मदद दी जा रही है। इसी तरह पशुपालकों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से ऋण दिया जा रहा है। मछली के व्यापार से जुड़े लोगों के लिए भी किसान क्रेडिट कार्ड की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि बिहार का बहुत पैसा मछली के लिए बाहर जाता है जबकि बिहार में पानी है जिससे वह मछली की अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के बाद देश के अन्य हिस्सों में भी इसकी आपूत्तर्ि कर सकता है। उनकी सरकार ने इसे ध्यान में रखकर मछुआरों के लिए अलग विभाग बनाने का भी निर्णय लिया है।

यह भी पढ़े  ओएसडी आत्महत्या मामले की सीबीआई से कराएं जाने की मांग उठने लगी ..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here