विकास के साथ समाज सुधार अभियान जरूरी :मुख्यमंत्री

0
97
NISHCHEY AND SAMIKSHA YATRA KE ABSAR PER DHAKJARI,BENI PATTI MADHUBANI MEN NIRAKSHAN SHILA NIYAS, UDGHATN KERTE C M NITISH KUMAR

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह मेरे काम करने का तरीका है। सरकार की योजनाओं को धरातल पर कैसे लागू किया जा रहा, मैं खुद देखकर आश्वस्त होना चाहता हूं। इसलिए यहां पहुंचा हूं।

नीतीश कुमार शुक्रवार को प्रथम चरण की विकास समीक्षा यात्रा के चौथे दिन जिले के बेनीपट्टी प्रखंड के धकजरी गांव स्थित जमा दो श्री जगदीश उच्च विद्यालय मैदान में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व मुजफ्फरपुर के जारंग में योजनाओं का जायजा लिया और सभा को संबोधित किया।

धकजरी में सीएम ने कहा कि विकास यात्रा के दौरान तीन फरवरी 2009 को इसी स्कूल परिसर में प्रशासनिक अमले संग टेंट मेंं रात्रि विश्राम किया था। यहां के ग्रामीणों संग योजनाओं के बारे में हुई बातचीत को याद करते कहा कि तब लिए गए निर्णयों को क्रियान्वित होते देखने से बेहद खुशी है।

सीएम ने कहा कि विकास के साथ समाज सुधार के अभियान को भी अंजाम देने की मेरी परिकल्पना आपके सहयोग से सफलीभूत हो रही है। शराबबंदी के बेहतर परिणाम सबने देखे हैं। अब बाल विवाह व दहेज प्रथा के खिलाफ निर्णायक संघर्ष छेड़ा है। इसमें आपका सहयोग अपरिहार्य है। मेरा मानना है कि विकास के मान्य आयामों को क्रियान्वित कर और इन अभियानों को सफल कर ही बिहार को प्रगति के पथ पर ले जा सकते हैं।

यह भी पढ़े  जोकीहाट सीट पर उपचुनाव कल, एनडीए और महागठबंधन में है मुकाबला

सात निश्चय के कार्यक्रम से गांवों में खुशहाली

अब गांव छोड़कर लोगों को शहर जाने की इच्छा नहीं होगी। हर घर नल का जल, पक्की नाली, शौचालय पर तेजी से काम चल रहे हैं। अब महिलाओं को शर्मनाक स्थिति का सामना नहीं करना पड़ेगा। खुले में शौच से मुक्ति और नल का जल मिलने से नब्बे फीसद रोगों से छुटकारा मिलेगा। पहले बिजली सपना थी। अगले साल तक  हर घर को बिजली मुहैया हो चुकी होगी।

किसानों के हित में उठाए कदम

वर्ष 2008-12 में हमने पहला कृषि रोड मैप, 2012-17 में दूसरा और 2017-22 के लिए तीसरा कृषि रोड मैप लांच कर किसानों की आमदनी बढ़ाने की दिशा में कदम उठाए हैं। प्रयास है कि हर भारतीय की थाली में बिहार का एक व्यंजन जरूर रहे। इसमें यहां का मखाना भी होगा।

मधुबनी में मेडिकल कॉलेज

हर जिले में इंजीनियरिंग कॉलेज, पॉलीटेक्निक कॉलेज, महिला आइटीआइ, अनुमंडलों में आइटीआइ, एएनएम स्कूल खोले जा रहे हैं। सूबे में पांच मेडिकल कॉलेज खोले जाने हैं। इसमें मधुबनी में भी एक है। नर्सिंग कॉलेज भी खोले जाएंगे।

यह भी पढ़े  पटना के गांधी मैदान में 'दीन बचाओ-देश बचाओ' रैली, तीन तलाक पर एक राय बनाने की कोशिश

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here