वाराणसी हादसाः कोचिंग के लिए बेटे को कोटा छोड़ने जा रहा था पिता, दोनों की मौत

0
96

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में फ्लाईओवर गिरने से मलबे में दब कर बिहार के सारण जिले के बाप-बेटे की मौत हो गयी है. घटना की सूचना मिलने पर उनके गांव सारण जिले के रसूलपुर स्थित टेसुआर गांव में सन्नाटा पसर गया. गांव में उनकी सिर्फ बूढ़ी मां और उनके चचेरे भाई का परिवार रहता है.

जानकारी के मुताबिक, सारण जिले के रसूलपुर स्थित टेसुआर गांव निवासी पशुपति सिंह के पुत्र रामबहादुर सिंह वायुसेना से सेवानिवृत्त होने के बाद बैंक में क्लर्क के पद पर ज्वाइन कर लिया था. उनकी पोस्टिंग वाराणसी में थी. वह सपरिवार वाराणसी में ही रहते थे. गांव में उनकी सिर्फ बूढ़ी मां और उनके चचेरे भाई रहते हैं. बताया जाता है कि रामबहादुर सिंह का बेटा कोटा में रह कर पढ़ाई करता था. वह अपने बेटे को कोटा छोड़ने के लिए जा रहे थे. इसी दरमियान फ्लाईओवर के गिर जाने से मलबे में रामबहादुर सिंह और उनका बेटा दब गये, जिससे उनकी मौत हो गयी. बाप-बेटे की मौत की सूचना मिलने पर उनके गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया.

यह भी पढ़े  रात्रि में सैकड़ों भक्तों की उपस्थिति में मनाया गया श्रीकृष्ण जन्मोत्सव

बताया जाता है कि हादसे में रामबहादुर सिंह की पत्नी और बेटी बच गये हैं. घटना की जानकारी मिलने पर उनके चचेरे भाई बनारस रवाना हो गये हैं. वहीं, गांव वालों ने बताया कि रामबहादुर सिंह मिलनसार स्वभाव का होने के साथ-साथ काफी ऊर्जावान थे. वह जब भी गांव आते थे, तो युवाओं को प्रोत्साहित भी करते थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here