लोकसभा चुनाव 2019: बीजेपी के उम्मीदवारों की सूची पर 16 मार्च को लगेगी अंतिम मुहर,, पांच सांसदों का कट सकता है टिकट

0
114

लोकसभा चुनाव को लेकर एनडीए में प्रत्याशियों के चयन का काम अंतिम दौर में हैं. मिली जानकारी के मुताबिक अगले एक से दो दिन के अंदर एनडीए का कौन सा दल किस सीट पर चुनाव लड़ेगा इसकी घोषणा कर दी जाएगी.
इससे पहले सोमवार को बिहार भाजपा कार्यालय में उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय और पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने प्रदेश संगठन मंत्री नागेन्द्र जी के साथ प्रदेश चुनाव समिति की बैठक को लेकर मीटिंग की. गौरतलब है कि प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में उम्मीदवारों के नामों का चयन किया जाएगा फिर उसे केन्द्रीय चुनाव समिति को भेजा जाएगा.
सूत्रों के मुताबिक 16 मार्च को केन्द्रीय चुनाव समिति की बैठक बुलाई गयी है. इस बैठक के बाद भाजपा एक सौ पन्द्रह नामों के साथ अपना पहला लिस्ट जारी कर सकती है हालांकि भाजपा की ओर से कहा जा रहा है कि सभी फैसले होली के पहले हो जायेगें. मालूम हो कि बिहार में लोकसभा की 40 सीटों के लिए बीजेपी को 17 उम्मीदवारों की घोषणा कर रही है.

यह भी पढ़े  दिल्‍ली में PM मोदी से होगी CM नीतीश की मुलाकात, उठेगी बिहार को विशेष दर्जे की बात

लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद बिहार में भारतीय जनता पार्टी नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) और राष्ट्रीय जनता दल नीत महागठबंधन में सीट बंटवारे और उम्मीदवारी को लेकर सरगर्मी तेज हो गई. ऐसे में बीजेपी के कम से कम पांच मौजूदा सांसदों के भी टिकट कटने की चर्चा जोरों पर है. कई नेता दिल्ली तक दौड़ भी लगा रहे हैं. बीजेपी के एक नेता ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी 22 सीटों पर विजयी हुई थी, इस चुनाव में एनडीए के घटक दलों में समझौते के अनुसार 17 सीटों पर बीजेपी अपने उम्मीदवार उतारेगी. ऐसे में तय है कि उसे पिछले चुनाव में जीती पांच सीटें छोड़नी हैं.

पटना साहिब से सांसद शत्रुघ्न सिन्हा पार्टी से नाराज बताए जा रहे हैं, जबकि दरभंगा के बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद अब कांग्रेस का ‘हाथ’ थाम चुके हैं और बेगूसराय के सांसद भोला सिंह का निधन हो चुका है. नवादा सीट भी लोक जनशक्ति पार्टी के हिस्से में जाना तय माना जा रहा है. ऐसे में वहां के सांसद गिरिराज सिंह का टिकट कट सकता है. हालांकि सूत्रों का कहना है कि उन्हें बेगूसराय सीट से चुनाव लड़ाने की बात चल रही है.

यह भी पढ़े  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पवित्र संगम में लगाई डुबकी, स्वच्छता कार्यकर्ताओं के धोए पैर

बीजेपी के एक नेता कहते हैं, “पार्टी स्थानीय लोगों की नाराजगी और सहयोगी दलों की पकड़ वाले क्षेत्रों का अध्ययन कर रही है. ऐसे में संभावना है कि कुछ वर्तमान सांसदों को इस चुनाव में टिकट से वंचित होना पड़े. वैसे, अभी उम्मीदवार को लेकर चर्चा चल रही है. अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी.”

इधर, एलजेपी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस ने फोन पर बताया कि 18 मार्च से पहले एनडीए की सीटों और उम्मीदवारों की हो घोषणा हो जाएगी. उन्होंने कहा कि एलजेपी को छह सीटें मिली हैं. पारस ने कहा कि एनडीए बिहार की सभी 40 सीटों पर अपने उम्मीदवार की घोषणा एक साथ करेगी.

बीजेपी के विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि पटना साहिब से शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट कटना तय है, जबकि दरभंगा से कीर्ति आजाद पहले ही पाला बदल चुके हैं. कहा जा रहा है कि महाराजगंज सीट से जनार्दन सिंह सिग्रीवाल और सारण के सांसद राजीव प्रताप रूड़ी भी टिकट से वंचित हो सकते हैं.

यह भी पढ़े  सुधा का दही खाओ, इनाम पाओ प्रतियोगिता आज

बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को 22 सीटें मिलीं थीं, जबकि सहयोगी एलजेपी को छह और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) को तीन सीटें मिली थीं. उस समय जेडीयू के दो प्रत्याशी ही विजयी हुए थे. इस चुनाव में बीजेपी और जेडीयू 17-17 और एलजेपी छह सीटों पर चुनाव लड़ेगी. आरएलएसपी इस चुनाव में एनडीए के साथ नहीं है.

बिहार में बीजेपी और जेडीयू दोनों 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि 6 सीटें लोजपा के खाते में गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here