लोकसभा चुनाव में आपसी गुटबाजी और भितरघात बड़ी समस्या

0
30
काल्पनिक प्रतिबिम्ब

लोकसभा चुनाव में आपसी गुटबाजी और भितरघात रोकने के लिए जदयू नयी रणनीति पर काम कर रहा है. इसके लिए पार्टी अपने सभी प्रकोष्ठों के पदाधिकारियों और वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को सभी चालीस लाेकसभा क्षेत्रों में चुनाव संचालन और उसकी निगरानी की जिम्मेदारी सौंप रही है.

एक लोकसभा क्षेत्र के निवासी पार्टी पदाधिकारियों की तैनाती दूसरे लोकसभा क्षेत्र में की जा रही है. उनके माध्यम से पार्टी मुख्यालय से सभी लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों पर नजर रखी जायेगी. इसका मकसद चुनाव में पार्टी का बेहतर प्रदर्शन करना है.

पार्टी सूत्रों ने उदाहरण के तौर पर बताया कि जहानाबाद लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के रहने वाले पार्टी पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं की तैनाती अन्य क्षेत्र पटना या अरवल में की जा रही है. इन लोगों को जिस क्षेत्र में भेजा जायेगा, वहां जाकर ये लोग पार्टी के स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं को बेहतर चुनाव संचालन के लिए प्रशिक्षित करेंगे.

उन सभी के बीच आपसी तालमेल को मजबूत करेंगे. साथ ही पार्टी मुख्यालय के संपर्क में रहेंगे और अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों की रिपोर्ट पार्टी मुख्यालय को भेजेंगे.

यह भी पढ़े  पीएमसीएच को विश्व स्तरीय संस्थान बनाना चाहते हैं : नीतीश

रिपोर्ट पर पार्टी मुख्यालय में होगी समीक्षा : लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों से रिपाेर्ट मिलने पर पार्टी मुख्यालय में उसकी समीक्षा होगी. रिपोर्ट के आधार पर स्थान विशेष के लिए नयी रणनीति बनाकर संबंधित क्षेत्र के पार्टी पदाधिकारियों को उसकी जानकारी दी जायेगी. इस नयी रणनीति को स्थानीय स्तर पर वहां के नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा लागू करवाने की जिम्मेदारी बाहर से गये पार्टी पदाधिकारियों की होगी.

जदयू ने बनाये 11 नारे

पटना : लोकसभा चुनाव को लेकर लोगों को साफ-साफ संदेश देने के लिए जदयू कार्यकर्ता इन दिनों नये-नये तरीके अपना रहे हैं. इन्हीं के तहत वरिष्ठ जदयू नेता रवींद्र सिंह परमहंस की देखरेख में कार्यकर्ताओं ने 11 नारे बनाये हैं.

इनमें नयी उड़ान-नया आसमान-आधी आबादी को पूरा सम्मान, नीक बिहार-ठीक बिहार, सुशासन का प्रतीक बिहार, अब न बिहार अन्हार चाहिए-साइकिल पर बिटिया सवार चाहिए, नेता नीति नीयत बेजोड़ चाहिए-बिहार को एनडीए का गठजोड़ चाहिए, नशे की बोतल बाहर-घर में दूध-मलाई, मां का बिके ना गहना, बेटा करे पढ़ाई, मेवा नहीं सेवा की सरका- हमारा परिवार पूरा बिहार, सच्चा है-अच्छा है चलो नीतीश के साथ चलें, बिहार की जनता की आस नीतीश-मोदी-रामविलास, नेता वो जो निर्णय ले नीतीश कुमार एनडीए सरकार, परिवर्तन के रथ पर सवार अभय बिहार, अजय बिहार शामिल हैं.

यह भी पढ़े  बकरीद को लेकर गांधी मैदान में दुरुस्त रहेंगे इंतजाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here