लालू यादव को दोषी करार दिए जाने पर बयानबाजी तेज

0
294

लालू प्रसाद के जेल जाने के बाद सूबे में राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है . सभी दल अपने अपने अनुसार ब्यान दे रहे है . राजद के तरफ से भी मोर्चा संभाल रखा है उनके पुत्र और पुत्री ने …चारा घोटाले के एक मामले में राजद प्रमुख लालू प्रसाद को दोषी करार दिए जाने के बाद से बिहार की सियासत गर्म हो गई है। लालू प्रसाद के पक्ष और विपक्ष में लोग लामबंद हो रहे हैं।

बिना कुर्बानियों के कोई भी जंग नहीं जीती जा सकती : तेजस्वी

अरबों रुपये के चारा घोटाले के एक मामले में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिये जाने पर उनके पुत्र और राज्य के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव और सांसद बेटी मीसा भारती ने सोशल मीडिया के जरिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आज तीखा हमला करते हुए कहा कि अन्याय के खिलाफ बिना कुर्बानियों के कोई भी जंग नहीं जीती जा सकती है। श्री यादव के छोटे पुत्र तेजस्वी यादव ने माइक्रो ब्लॉ¨गग साइट ट्विटर पर लिखा, बिना कुर्बानियों के अन्याय के खिलाफ जंग नहीं जीती जाती। उन्होंने किसी का नाम लिये बगैर सत्तारूढ़ दल पर हमला बोलते हुए कहा कि सत्ता तेरा जुल्म बहुत, तो हमारी भी तैयारी है। लालू जी के साथ खड़ा एक-एक बिहारी है। राजद सुप्रीमो के बड़े पुत्र और राज्य के पूर्व स्वास्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने भी ट्वीट कर कहा, रोक ना सकोगे वो तूफान बनकर आयेगा। हर गुनाह, हर सितम का अंजाम बन कर आएगा। होश में आओ 56 इंच के सीना वाले साहिब, पहले एक लालू था। अब पूरा प्रदेश लालू बन कर आयेगा। उन्होंने आगे लिखा कि नरेंद्र मोदी सरकार लालू यादव के नाम से थरथर कांप रही है। पिछले विधानसभा चुनाव में लालू यादव के नये अवतार ने भाजपाइयों को भयभीत कर दिया है। वहीं मीसा भारती ने ट्विटर पर लिखा, बचपन से सुनते आए थे कि न्यायालय सबूतों के आधार पर निर्णय लेते हैं, संभावना, दुर्भावना, कल्पना, आशंका, नैतिक..। एक अन्य ट्वीट में श्रीमती भारती ने कहा कि बिहार में 90 से पहले यह निर्धारित होता था कि किस जाति के लोग पहले भोज खायेंगे, कौन उनका पत्तल उठाएंगे, कौन अंत में खायेंगे और कौन आसपास फटकेंगे भी नहीं। (वार्ता) इसी सामाजिक व्यवस्था को तोड़ने की टीस एवं मनुवादी गुबार की एक किस्त कल निकली थी।

यह भी पढ़े  मुख्यमंत्री अस्वस्थ, समीक्षा यात्रा अब 12 दिसम्बर से

तथ्यों से आंख मूंदकर आरोप लगा रहे राजद के लोग : मोदी

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि कहा कि 1000 करोड़ के चारा घोटाला से जुड़े दूसरे मामले में लालू प्रसाद सहित जिन 16 लोगों को दोषी पाया गया, उनमें से आठ अभियुक्त ( 50 फीसद) ऊंची जातियों के हैं। जगन्नाथ मिश्र समेत जिन आठ लोगों को बरी किया, उनमें 4 (50 फीसद) दलित और पिछड़ी जातियों के लोग हैं। तयों से आंख मूंद कर राजद के लोग न्यायपालिका पर जातिवादी आरोप लगा रहे हैं।श्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि बेनामी सम्पत्ति के समर्थन की राजनीति के लिए संन्यास तोड़ने वाले एक समाजवादी नेता अब महसूस कर रहे हैं कि 21 साल पहले लालू प्रसाद के खिलाफ चारा घोटाले में जनहित याचिका दायर कर उन्होंने पाप किया था। दरअसल, पाप तो वे अब कर रहे हैं। संन्यास से पतन के बाद पाप-पुण्य का विवेक नष्ट हो जाता है।श्री मोदी ने कहा कि सरकारी खजाने से 89.4 लाख रुपये की अवैध निकासी के मामले में दोषी करार दिये गए लालू प्रसाद भ्रष्टाचार के चलते सातवीं बार जेल गए,लेकिन अपनी तुलना वे नेल्सन मंडेला और मार्टिन लूथर किंग जैसे नेताओं से कर रहे हैं। आत्म श्लाघा और अवैध सम्पत्ति बनाने में लोकलाज खो देने वाले लोग कैसा नेतृत्व करेंगे ।

शिवानंद तिवारी राजद के भस्मासुर : हम

हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (से) के प्रदेश मीडिया प्रभारी अमरेंद्र कुमार त्रिपाठी ने कहा कि शिवानंद तिवारी राजद के लिए भस्मासुर हो गये हैं। राज्य की राजनीति में अगर कोई सिद्धान्तविहीन है तो वो हैं शिवानंद तिवारी। ये अपने निहित स्वार्थ के लिए जनेऊ तोड़ने से लेकर किसी भी दांव पर अपनी मुहर लगा सकते हैं। आज पूर्व मुख्यमंत्री व राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले का जो दंश झेलना पड़ रहा है वह शिवानंद तिवारी जैसे स्वार्थी तत्व का ही देन है। यह श्री तिवारी की सोच का नतीजा है कि आज लालू प्रसाद जेल में हैं। उन्होंने राजद नेताओं को सलाह दी कि दूसरे दल के नेताओं पर उंगली उठाने के पहले शिवानंद तिवारी जैसे भ्रष्ट सोच वाले व्यक्ति को पार्टी के किसी भी दायित्व से हटाने की मांग करें।

यह भी पढ़े  ‘भाकपा की रैली से वाम व धर्मनिरपेक्ष दलों की एकता होगी सुदृढ़

दुस्तानी आवाम मोर्चा पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता ई.अजय यादव ने राजद शासन के 15 सालों में लोगों ने फिरौती, अपहरण, लूट, बलात्कार, हत्या जैसे जघन्य अपराधों का जंगलराज देखा है। टिकट के बदले रुपया, चारा, अलकतरा, मिट्टी जैसे घोटाले और बेहिसाब बेनामी संपत्ति जमा करने के कई मामले सामने आने से इनकी राजनीति के निहित स्वार्थ उजागर हुए हैं। लालू यादव को चारा घोटाला के दो मामलों में दोषी करार दिये जाने को न्याय और जनता की जीत बताया है। उन्होंने कहा कि उनके भ्रष्टाचार का परिणाम है कि आज उनके बेटी-दामाद पर भी प्र्वतन निदेशालय ने चार्जशीट दाखिल की है। उन्होंने कहा कि भ्रष्ट कांग्रेस की गोद में बैठ कर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने वाले किंगमेकर लालू प्रसाद अब चारा को लेकर कारावास में चिंतन करते रहेंगे कि जानवर का खाना हजम क्यों नहीं हुआ? इंजीनियर अजय ने कहा कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद का यह हाल अपने परिवार के नाम अकूत बेनामी संपत्ति बनाने और भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के कारण हुआ है। उन्होंने इसे जैसी करनी वैसी भरनी बताते हुए कहा कि पूरे परिवार को लालू प्रसाद ने खुद भ्रष्टाचार के दल-दल में धकेला है। उन्होंने कहा कि उनके भ्रष्टाचार का खामियाजा पूरे परिवार को भुगतना पड़ रहा है।

लालू प्रसाद के जेल जाने के बाद तेज प्रताप, तेजस्वी और मीसा भारती ने विरोधी दलों को जवाब देने के लिए मोर्चा संभाल लिया है। तीनों लगातार प्रतिक्रिया दे रहे हैं। रविवार को तीनों ने ट्वीट के जरिए अपने विरोधियों की खबर ली। फैसले के पहले से पिता के साथ रांची गए तेजस्वी ने वहीं से ट्वीट करके लालू का बचाव किया है।

तेजस्वी ने कहा कि बिना कुर्बानियों के अन्याय के खिलाफ जंग नहीं जीती जाती। 1तेज प्रताप ने दो कदम आगे बढ़कर राजद प्रमुख को सामाजिक न्याय का योद्धा करार दिया और कहा कि लालू प्रसाद नेता नहीं, विचारधारा हैं।

तेज प्रताप ने ट्वीट करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाने पर लिया और कविता में अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि रोक ना सकोगे वह तूफान बनकर आएगा। हर गुनाह, हर सितम का अंजाम बन कर आएगा। होश में आओ 56 इंच के सीना वाले साहिब, पहले एक लालू था, अब पूरा प्रदेश लालू बन कर आएगा।

यह भी पढ़े  दिसम्बर तक बदली-बदली नजर आएगी प्रदेश भाजपा की टीम

मीसा भारती ने अपने ट्वीट में सामाजिक विषमता को आधार बनाते हुए लालू की राजनीति को सामंती ताकतों के खिलाफ लड़ाई करार दिया है। उन्होंने लिखा है कि बिहार में 1990 से पहले यह निर्धारित होता था कि किस जाति के लोग पहले भोज खाएंगे। कौन उनका पत्तल उठाएगा..कौन अंत में खाएगा और कौन आसपास फटकेगा भी नहीं। इसी सामाजिक व्यवस्था को तोड़ने की टीस एवं मनुवादी गुबार की पहली किस्त शनिवार को झारखंड की राजधानी रांची में निकली थी। एक अन्य ट्वीट में तेज प्रताप ने लिखा है कि नरेंद्र मोदी सरकार लालू यादव के नाम से थरथर कांप रही है।

बिहार कांग्रेस ने साफ किया है कि वह लालू प्रसाद और राजद पर आई मुसीबत में उनके साथ है। कांग्रेस ने कहा कि बिहार और देश को भाजपा मुक्त बनाने की जो लड़ाई कांग्रेस लड़ रही है उसमें राजद प्रमुख कांग्रेस के प्रमुख सहयोगी हैं। बिहार कांग्रेस के प्रभारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने रविवार को कहा कि राजद प्रमुख हमेशा से साम्प्रदायिक शक्तियों के खिलाफ रहे हैं और कांग्रेस की भी यही नीति और सिद्धांत रहा है। कांग्रेस-राजद पिछले कई सालों से भगवाकरण के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। बिहार में इसी भगवाकरण को रोकने के लिए कांग्रेस-राजद और जदयू ने महागठबंधन बनाया था। जिसके परिणाम भी निकले, लेकिन बाद में महागठबंधन में शामिल नीतीश कुमार कुमारी भाजपा के हमराही बन गए। जिसके बाद से बिहार में भी भगवाकरण के लिए जोर लगाया जा रहा है। कांग्रेस राजद के साथ खड़ी और इन दोनों के सहयोग से भगवाकरण के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी। कादरी ने कहा लालू प्रसाद को चारा घोटाले में आरोपी मानकर जेल भेजा गया है। लेकिन कांग्रेस को पूरा भरोसा है कि उन्हें ऊपरी अदालत से न्याय मिलेगा। कादरी ने कहा कांग्रेस वैसी राजनीतिक पार्टी नहीं जो सत्ता के लिए साथ छोड़ दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here