लालू प्रसाद को तो कानू-वैश्य के नाम से ही चिढ़ है : सुशील कुमार मोदी

0
408
SK MEMORAIAL ME SHAHEED VANSHI SHAH KA JANKI SHAHADAT DIWAS SAMAROH KA OPENING KERTE SHUSHEEL KUMAR MODI AND RADHAMOHAN SINGH

पटना – महान स्वतंत्रता सेनानी अमर शहीद वंसी साह की याद में सोमवार को राजधानी पटना में शहादत समारोह का आयोजन किया गया। जहां, बिहार बीजेपी के तमाम नेता मौजूद थे।  इस मौके पर उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि लालू-राबड़ी के राज में पुल बनवाने के लिए स्वतंत्रता सेनानी वंशी साह को आत्मदाह करनी पड़ी. लालू प्रसाद को तो कानू-वैश्य के नाम से ही चिढ़ है. राजद-कांग्रेस वंशवाद की राजनीति करने वाली पार्टी हैं. 1997 में गठित राजद का लालू प्रसाद 10वीं बार राष्ट्रीय अध्यक्ष बने हैं. लालू प्रसाद के बाद उनकी पत्नी और बेटे अध्यक्ष बनेंगे. इसी प्रकार सोनिया गांधी 19 साल से कांग्रेस की अध्यक्ष हैं और अब राहुल गांधी अध्यक्ष बनेंगे.

भाजपा ऐसी पार्टी है कि जिसमें चाय बेचने वाला गरीब का बेटा भी देश का प्रधानमंत्री बन सकता है. लालू प्रसाद पटना में बैठे-बैठे गुजरात में भाजपा को हराने की अपील कर रहे हैं जबकि वहां न तो उनका संगठन है, न कार्यकर्ता और न ही कोई उम्मीदवार. राजद-कांग्रेस जैसी पार्टी चाहे जितना जोर लगा लें गुजरात में भाजपा को एक बार फिर आने से नहीं रोक सकती हैं.

यह भी पढ़े  भाजपा ऑफिस के बाहर आरक्षण को लेकर जमकर चली लाठियां

वहीं, केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि हम लोग वंसी चाचा की शहादत दिवस मना रहे हैं। उन्होंने कहा कि 47 साल में पुल नहीं बनने के चलते वंसी चाचा ने शहादत दी थी। राधा मोहन सिंह ने कहा कि उनके सपनों को साकार एनडीए की सरकार ने किया और कानू समाज के विकास के लिए केंद्र सरकार प्रतिबद्ध है। इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने केंद्र सरकार की योजनाओं का भी जिक्र किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here