लालू-तेजस्वी को 3 और 4 अक्टूबर को दिल्ली स्थित अपने मुख्यालय में पूछताछ के लिए तलब

0
547

आइआरसीटीसी के टेंडर घोटाले में फंसे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और उनके छोटे पुत्र तेजस्वी प्रसाद यादव को सीबीआइ की तीसरी नोटिस भारी पड़ सकती है। यदि वे तीसरी नोटिस पर भी पूछताछ के लिए उपस्थित नहीं होते हैं तो सीबीआइ दोनों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई कर सकती है। सीबीआइ ने उन्हें आगामी 3 और 4 अक्टूबर को दिल्ली स्थित अपने मुख्यालय में पूछताछ के लिए तलब किया है।

इससे पहले सीबीआइ ने लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव को 11 और 12 अगस्त को पूछताछ के लिए तलब किया था। तब उन्होंने पूछताछ में शामिल होने से यह कहकर इन्कार कर दिया था कि वे पटना में 27 अगस्त को राजद की रैली में व्यस्त हैं। उसके बाद सीबीआइ ने दोनों को दूसरी नोटिस जारी कर 25 व 26 सितंबर को तलब किया।

फिर दोनों ने पूछताछ में शामिल न होकर अपने वकील के मार्फत एजेंसी को सूचित किया कि वे अपनी व्यस्तता के कारण 25 और 26 सितंबर को भी उपस्थित होने में असमर्थ हैं। उसके बाद सीबीआइ ने दोनों को तीसरी बार 3 और 4 अक्टूबर को नोटिस जारी कर उपस्थित होने को कहा है।

यह भी पढ़े  गंगा को हवाड़ा, पटना, भागलपुर सहित दस शहर सर्वाधिकरूप से प्रदूषित कर रहे

अदालत में शिकायत कर सकती सीबीआइ 

सीबीआइ अब लालू और तेजस्वी के खिलाफ अदालत में आइआरसीटीसी की होटलों को लीज पर दिए जाने में हुए भ्रष्टाचार की जांच में सहयोग न करने तथा सबूतों को नष्ट करने की शिकायत दर्ज करा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here