लालू को सजा का सदमा नहीं सह सकीं बड़ी बहन ,सुन लालू की आंखों में आया आंसू

0
9
Patna-Jan.7,2018-RJD leaders Tejasvi Prasad Yadav and Tej Pratap Yadav are carrying dead body of RJD Chief Laloo Prasad�s elder sister Gangotri Devi near Veterinary College in Patna after she passed away.

पटना – राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद को न्यायालय द्वारा सजा दिये जाने के सदमे से उनकी बड़ी बहन गंगोत्री देवी का रविवार को उनके वेटनरी कॉलेज स्थित आवास पर निधन हो गया। वह लालू जी के छह भाइयों में एक मात्र बहन थीं। उनके निधन की खबर सुनकर राजद परिवार में शोक की लहर दौड़ गयी। मृत्यु का सामाचार सुनते ही पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव, पूर्व स्वास्य मंत्री तेजप्रताप यादव, प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन, आभा लता, चन्देश्वर प्रसाद सिंह, संजय यादव, मदन शर्मा, प्रमोद कुमार राम, राजेश सिंह, निराला यादव, ई.अशोक यादव, विनोद श्रीवास्तव, इन्द्रदेव सिंह, संजीव मिश्रा, जावेद अख्तर सहित सैकड़ों राजद कार्यकर्ताओं ने उनके आवास पर पहुंचकर उनके पार्थिव शरीर पर श्रद्धासुमन अर्पित किये। इस बीच, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनकी मृत्यु पर गहरी शोक संवेदना प्रकट की है तथा मृतका के परिजनों को धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईर से प्रार्थना की है।

यह भी पढ़े  पटना पहुंचे नवनियुक्त राज्यपाल सतपाल मल्लिक, नीतीश ने किया स्वागत

चारा घोटाला मामले में साढ़े तीन साल की सजा मिलने के बाद वह न्याय के लिए उच्च अदालत का रुख करेंगे. बड़ी बहन गंगोत्री देवी की मौत के बाद जेल से बाहर निकलने के लिए लालू प्रसाद यादव पैरोल पर बाहर आने के बजाये उच्च न्यायालय से जमानत लेकर बाहर आना चाहते हैं. रविवार को दिन में लालू प्रसाद यादव से उनके अधिवक्ता प्रभात कुमार ने मुलाकात की. साथ ही हाइकोर्ट से जमानत लिये जाने पर उन्होंने जोर दिया. इसके बाद उनके अधिवक्ता ने उच्च अदालत में पिटीशन फाइल करने के लिए वकालतनामे पर हस्ताक्षर कराये. वहीं, बहन के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए पैरोल की कार्यवाही रविवार होने के कारण नहीं हो सकी. इसलिए लालू प्रसाद यादव की कोशिश अब हाइकोर्ट से जमानत लेने पर ज्यादा है.

इस संबंध में लालू प्रसाद यादव के अधिवक्ता प्रभात कुमार के मुताबिक, लालू प्रसाद यादव की जमानत के लिए जल्द ही हाइकोर्ट में पिटीशन फाइल किया जायेगा. चूंकि सीबीआई की विशेष अदालत का फैसला सौ पन्ने से ज्यादा का है, इसलिए इसका अध्ययन करने में थोड़ा वक्त लगेगा. सीबीआई की विशेष अदालत के जजमेंट का अध्ययन करने के बाद हाईकोर्ट मूव करेंगे.

यह भी पढ़े  लोक संवाद कार्यक्रम में छह लोगों ने दिये सुझाव

जेल में किसी ने नहीं उठाया तेजस्वी यादव का फोन, भोला यादव के जरिये लालू को भेजी गयी सूचना

गंगोत्री देवी की मौत की सूचना देने के लिए तेजस्वी यादव ने जेल प्रशासन के दूरभाष नंबर पर फोन किया, लेकिन जब फोन रिसीव नहीं किया गया, तो बाद में विधायक भोला यादव को गंगोत्री देवी की मौत की सूचना देते हुए कहा गया कि पिताजी तक यह सूचना पहुंचा दें. इसके बाद भोला यादव ने जेल अधीक्षक के जरिये लालू प्रसाद तक सूचना भिजवायी. इस संबंध में विधायक भोला यादव ने बताया कि लालू प्रसाद यादव की बड़ी बहन गंगोत्री देवी की मौत की खबर जेल प्रशासन को दी गयी. जेल प्रशासन को सूचना मिलने पर जेल अधीक्षक के माध्यम से लालू प्रसाद तक खबर पहुंचायी गयी. खबर मिलने पर लालू प्रसाद की आंखों में आंसू आ गये. उन्हें बड़ी बहन से बहुत लगाव था. वे लालू प्रसाद की एक मात्र बहन थीं. पैरोल पर बाहर आने के सवाल पर उन्होंने कहा कि अभी उम्मीद है पैरोल के बजाये उच्च अदालत से जमानत के लिए गुहार लगायी जायेगी. मालूम हो कि सोमवार को गंगोत्री देवी का अंतिम संस्कार किया जाना है. इसलिए लालू प्रसाद का अंतिम संस्कार के मौके पर उपस्थित होना मुश्किल है.

यह भी पढ़े  गांधी मैदान में आज पतंग उमंग उत्सव मनाने जुटेंगे लोग

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here