लंबित नहीं रखें स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड आवेदन :डीएम

0
26

पटना। जिलाधिकारी कुमार रवि की अध्यक्षता में आज समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक सम्पन्न हुई। अग्राणी जिला प्रबंधक ने बैठक में जमा ऋण अनुपात की स्थिति पर प्रकाश डालते हुए बताया कि वर्तमान में जमा ऋण अनुपात 37.58 प्रतिशत है, जो पिछली बार 36.28 प्रतिशत थी एवं बिहार राज्य के जमा ऋण अनुपात का 37.05 प्रतिशत से अधिक है। जिलाधिकारी ने सभी बैंको को मेगा क्रेडिट कैम्प करने जिसमें जीविका का सहयोग प्राप्त करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने अग्राणी जिला प्रबंधक की अध्यक्षता में गठित सव कमिटी का नियमित अंतराल पर बैठक कर जमा ऋण अनुपात की समीक्षा करते रहने का सलाह दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि सभी बैंकों का जमा ऋण अनुपात कम से कम 50 प्रतिशत हो। जिलाधिकारी ने स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड की समीक्षा के क्रम में पाया कि बैंको को जिला निबंधन-सह-परामर्श केन्द्र द्वारा इस तिमाही में 1984 आवेदन भेजे गये है। बैंकों द्वारा 1638 आवेदन स्वीकृत किये गये हैं। वहीं 386 आवेदन लंबित हैं। जिलाधिकारी ने सभी बैंकों को निर्देश दिया कि 100 प्रतिशत आवेदन स्वीकृत कर एक सप्ताह के अंदर प्रतिवेदित करें। जिलाधिकारी ने पीएमईजीपी की समीक्षा के क्रम में पाया कि जिला उद्योग केन्द्र द्वारा 1145 आवेदन भेजे गये हैं। जिसमें बैंकों द्वारा मात्र 126 आवेदन स्वीकृत हुए हैं। जिलाधिकारी ने सभी बैंकों को निर्देश दिया कि सारे आवेदन का रिजुम कराकर स्वीकृति प्रदान करें। बैंकों द्वारा प्राप्त किये गये आवेदन पर हर हालत में जुलाई तक आवेदनकर्ता से इंटरव्यू लेकर स्वीकृत करें। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के अंतर्गत 18 वर्ष से 70 साल तक के व्यक्ति 12 रुपये का सालाना प्रिमियम जमा करने पर एक्सीडेंटल डेथ या अजीवन अशक्त्तता की स्थिति में 200000 रुपये मिलने का प्रावधान है। जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना केअंतर्गत 18 से 50 साल के व्यक्तियों द्वारा 330 रुपये सालाना जमा करने पर नॉरमल डेथ होने पर 02 लाख रुपये मिलने का प्रावधान है। जीविका बीमा योजना में महिलाओं द्वारा 171 रुपये सालाना प्रिमियम जमा करने कर एक्सीडेंटल डेथ में 04 लाख तथा नॉरमल डेथ होने पर 02 लाख रुपये मिलने का प्रावधान है। इन बीमा योजनाओं की जानकारी नहीं रहने पर लाभुक इसका लाभ नहीं उठा पाता है। प्रत्येक लाभुक को इसका लाभ उठाना चाहिए। किसान क्रेडिट कार्ड योजना में जिला की उपलब्धि मात्र 19 प्रतिशत रहने से जिलाधिकारी ने सारे बैंकर्स एवं जिला कृषि पदाधिकारी से नाराजगी व्यक्त की तथा निर्देश दिया कि अगले वित्तीय वर्ष में अधिक से अधिक जिला के किसानों को किसानों को कार्ड योजना का लाभ मिलने के संबंध में कार्रवाई करें। जिलाधिकारी ने एसीपी की समीक्षा के क्रम में पाया कि इसकी उपलब्धि शत-प्रतिशत है। इसके लिए बैंकर्स को बधाई दी। जीविका महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए बेहतर योगदान कर रही है। उन्होंने सभी बैंकों के पदाधिकारियों को स्वयं सहायता समूह के माध्यम से अधिक से अधिक ग्रामीण महिलाओं को लाभांवित करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने सभी बैंकर्स को निर्देश दिया कि शिक्षा विभाग द्वारा चलाये जा रहे पोशाक एवं साईकिल योजना के लिए छात्रों को खाता खुलवाने में पूर्ण सहयोग दें, किसी तरह की लापरवाही न बरतें। बैठक में जिलाधिकारी कुमार रवि के अलावा उप विकास आयुक्त आदित्य प्रकाश, निदेशक लेखा सह प्रभारी पदाधिकारी बैंकिंग, पटना अवधेश राम, अपर समाहर्ता आपदा प्रबंधन मोईज उद्दीन, अग्रणी जिला प्रबंधक डॉ संधीर कुमार, पंजाब नेशनल बैंक के सहायक महाप्रबंधक राजीव कुमार, बैंक ऑफ इंडिया के सहायक महाप्रबंधक मिथिलेश कुमार श्रीवास्तव सहित सभी बैंकों के प्रतिनिधि एवं संबंधित पदाधिकारीगण उपस्थित थें।

यह भी पढ़े  लड़कियों के बाथरूम में झांकता था हॉस्टल संचालक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here