रिपोर्टर से बदतमीजी करने‌ के मामले में पत्रकारों ने लिया कंगना रनौत को बायकॉट करने का फैसला

0
82

फिल्म ‘जजमेंटल है क्या’ के सॉन्ग लॉन्च के दौरान पत्रकार जस्टिन राव पर तरह-तरह के इल्जाम लगाकर उन्हें बेइज्जत करने वाली कंगना रनौत को बायकॉट करने का फैसला किया गया है. ये फैसला उनके द्वारा अब तक माफी नहीं मांगने और आगे भी माफी नहीं मांगने के इरादे को देखते हुए लिया गया है.

फिल्म पत्रकारों के नवनिर्मित समूह ‘एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट्स गिल्ड ऑफ इंडिया’ ने ‘जजमेंटल है क्या’ समेत उनकी आनेवाली सभी फिल्मों और उनके तमाम कार्यक्रमों का बहिष्कार करने का निर्णय मुम्बई में मंगलवार को वरिष्ठ पत्रकारों के बीच हुई एक मीटिंग में लिया गया.
इस मुलाकात के बाद पत्रकारों के एक समूह ने ‘जजमेंटल है क्या’ की प्रोड्यूसर एकता कपूर को सामूहिक रूप से एक ज्ञापन सौंपा और कंगना द्वारा पत्रकार के साथ की गई बदतमीजी पर आधिकारिक रूप से अपनी चिंता जताई.
उल्लेखनीय है कि 7 जुलाई को फिल्म के प्रमोशन के दौरान जब ये पूरा बखेड़ा खड़ा हुआ, तब मंच पर कंगना रनौत के साथ खुद एकता कपूर भी मौजूद थीं और उन्होंने मामले को शांत करने की भी कोशिश की थी.

यह भी पढ़े  मुख्यमंत्री ने किया जलजमाव वाले इलाकों का मुआयना,जलजमाव को लेकर विपक्ष हुआ हमलावर

‘एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट गिल्ड्स ऑफ इंडिया’ के तहत चुनिंदा वरिष्ठ पत्रकारों के साथ हुई एकता कपूर की हुई मीटिंग में एकता कपूर ने कहा कि फिल्म के गाने के लॉन्च के दौरान जो कुछ भी हुआ, उसके लिए वो खुद माफी मांगने के लिए तैयार हैं और इससे संबंधित वो एक लिखित माफीनामा भी जल्द ही सार्वजनिक करेंगी.
उधर, कंगना की बहन रंगोली ने अपने ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करके कह दिया है कि वो किसी भी पत्रकार से कोई माफी नहीं मांगेंगी. उन्होंने ट्वीट में पत्रकारों के खिलाफ अभद्र और आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करते हुए लिखा – “एक बात मैं वादा करती हूं कि कंगना से माफी तो नहीं मिलेगी… तुमने गलत इंसान से माफी मांगी है.”

इससे साफ हो जाता है कि ‘जजमेंटल है क्या’ की प्रोड्यूसर होने के नाते एकता कपूर भले ही इस विवाद पर माफी मांगने के लिए तैयार हैं और कंगना और पत्रकार जस्टिन राव के बीच हुई इस घटना का उन्हें बेहद अफसोस हैं, मगर कंगना को अपने किए पर कोई पछतावा नहीं हैं और वो पत्रकार के साथ किए गये अपने दुर्व्यवहार के लिए माफी मांगने के कतई मूड में नहीं हैं. ऐसे में फिल्म पत्रकारों के पास उनका बायकॉट करने के अलावा कोई चारा नहीं था.

यह भी पढ़े  भारत-पाकिस्तान के बीच हालात सामान्य होने पर रिहाई को लेकर विचार किया जा सकता है:महमूद कुरैशी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here