राज ठाकरे को झटका, MNS के 6 पार्षदों ने थामा उद्धव की शिवसेना का दामन

0
21

मुंबई : ऐसे समय जब महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) सुप्रीमो राज ठाकरे राजनीति के मैदान में खुद को फिर से मजबूत करने जुटे हैं, उन्हें चचेरे भाई और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से तगड़ा झटका लगा है। शुक्रवार को मनसे के छह पार्षदों ने शिवसेना का दामन थाम लिया। यह सिर्फ मनसे ही नहीं बल्कि शिवसेना की पूर्व सहयोगी भाजपा के लिए भी झटका है।

इन पार्षदों के शामिल होने से बीएमसी की 227 में 90 सीटें शिवसेना की हो गईं हैं। उसे चार निर्दलीय पार्षदों का भी समर्थन प्राप्त है। भाजपा की 82 सीटें हैं। उसे दो निर्दलीय पार्षदों ने समर्थन दिया है। मनसे के सात पार्षद थे। अब उसका सिर्फ एक पार्षद बचा। कांग्रेस के 30 पार्षद हैं। दो सीटें विभिन्न कारणों से रिक्त हैं।

मनसे के छह पार्षदों के शिवसेना में शामिल होने की घोषणा उद्धव ठाकरे ने अपने आवास मातोश्री में एक प्रेस कांफ्रेंस में की। इस दौरान मनसे पार्षद दिलीप लांडे, हर्षला मोरे, दत्ताराम नरवणकर, अर्चना भालेराव, परमेश्वर कदम और अश्विनी माटेकर भी मौजूद थे।

उद्धव ठाकरे ने कहा, हर राजनीतिक दल खुद को मजबूत करता है। हम भी अपनी पार्टी मजबूत करने में लगे हैं। इसमें गलत क्या है। यदि भाजपा हमें अपना मित्र समझती है तो उसके पेट में क्यों दर्द हो रहा है। हमने उनकी पार्टी से किसी को तो शामिल नहीं किया। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लहर अब खत्म हो गई है। दो दिन पहले भाजपा की उम्मीदवार ने बीएमसी का जो चुनाव जीता था वह प्रत्याशी की सास की मृत्यु से मिली सहानुभूति वोट के कारण संभव हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here