राज ठाकरे का प्रधानमंत्री मोदी पर तीखा हमला

0
59

मुंबई : महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने आज एलफिंस्टन रेल ब्रिज पर बीते सप्ताह 29 सितंबर को हुई भगदड़ के खिलाफ आज यहां मेट्रो सिनेमा से चर्च गेट तक रैली निकाली. इस रैली में उन्होंने एक बार फिर दोहराया कि जबतक मुंबई में लोकल ट्रेनों को व्यवस्था सुदृढ़ नहीं हो जाती है, तब तक बुलेट ट्रेन के लिए एक ईंट नहीं रखने देंगे. उन्होंने बारिश के कारण रेल ब्रिज पर हादसा होने के दावों को खारिज करते हुए कहा कि मुंबई में उस दिन पहली बार बारिश नहीं हुई थी. मालूम हो कि उक्त हादसे में 23 लोगों की मौत हो गयी थी. राज ठाकरे ने कहा कि इस बार वे लोग शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन अगली बार उनका विरोध शांतिपूर्ण नहीं होगा.

राज ठाकरे ने कहा कि जब मोदी ने बुलेट ट्रेन के बारे में घोषणा की थी उसी समय उनकी नीयत समझ मेें आ गयी थी. उन्होंने कहा कि मुंबई वाले ढोकला खाने अहमदाबाद जायेंगे क्या, वहां से से अच्छा ढोकला तो यहां मिलता है. राज ठाकरे ने मोदी पर तीखा कटाक्ष करते हुए कहा कि आज तक मैंने इतना झूठ बोलने वाले प्रधानमंत्री नहीं देखा था, जो पहले कुछ बोलता है और बाद में कुछ और. उन्होंने कहा कि मोदी ने नोटबंदी और मेक इन इंडिया जैसे प्रयोग कर देश को गड्ढे में डाल दिया. ध्यान रहे कि दो अक्तूबर को गांधी जयंती के मौके पर राज ठाकरे ने गांधीजी के साथ मोदी का कार्टून बना कर उन पर निशाना साधा था. उक्त कार्टून में बापू अपनी पुस्तक सत्य के प्रयोग के साथ दिखाया गया था जबकि मोदी के हाथ में जो पुस्तक दिखायी गयी थी, उसमें लिखा था असत्य के साथ प्रयोग.

यह भी पढ़े  भीमा-कोरेगांव हिंसा: दलित संगठनों का आज महाराष्ट्र बंद, पुणे में ट्रेन रोकी, नासिक-औरंगाबाद में स्‍कूल बंद

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख ने इस दौरान भाजपा सांसद किरीट सोमैया पर निशाना साध और कहा कि यूपीए शासन में वह शख्स प्लेटफॉर्म की ऊंचाइयां नापता था, लेकिन भाजपा शासन में ऐसे हादसे होने पर वह कहा है? मनसे प्रमुख ने अपनी रैली के क्रम में जगह-जगह लोगों को संबोधित किया. चर्च गेट पर पहुंचने के बाद वे रेल अधिकारियों से मिले और उनके सामने शिकायतें रखीं.

महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के कार्यकर्ताओं ने इससे पहले मेट्रो सिनेमा के सामने वेस्टर्न रेलवे हेडक्वार्टर के समक्ष प्रदर्शन की अनुमति नहीं मिलने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. पुलिस ने उन्हें इसके लिए अनुमति नहीं दी थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here