राज्य सरकार का बजट महज जादूगरी : कांग्रेस

0
67
file photo

बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा ने एक बयान जारी कर कहा कि बिहार सरकार द्वारा वर्ष 2019-20 के लिए जो बजट प्रस्तुत किया गया है वह अांकड़ों की जादूगरी के अतिरिक्त कुछ नहीं है। यह चुनावी बजट है जो जनता को ठगने के लिए बनाया गया है। हम 37000 नौकरियों की बात करें जिसका प्रावधान इस बजट में किया गया है तो यह भी भ्रामक है क्योंकि मुख्यमंत्री ने मात्र छह महीने पहले सारे कन्ट्रेक्ट वर्करों को नियोजित करने की घोषणा की थी जो कि अभी भी पूरा नहीं हो पायी। फिर कैसे सरकार इस नयी घोषणा को पूरा करेगी इसका कोई जवाब इस बजट में नहीं है या फिर उन्हीं कांट्रेक्ट वर्करों के समायोजन को यह नौकरियों का सृजन बता रहे हैं। उन्होंने कहा कि सब्जियों की जैविक खेती के लिए 42 करोड़ रुपये मात्र का प्रावधान है जो 17666 किसानों के लिए तर्क संगत नहीं लगता। नीतीश सरकार ने कृषि रोडमैप की शुरुआत की थी जिसका जिक्र इस बजट में नहीं है, और न ही इसकी र्चचा है कि वे 17666 किसान किस तरह के होंगे इनकी क्या प्रक्रिया होगी। मतलब कुछ भी स्पष्ट नहीं है। सरकार न तो न्यूनतम मूल्य पर किसान के अन्न खरीद की बात कर रही और न ही भंडारण की। उन्होंने कहा कि सरकार ने शिक्षा बजट को बढ़ा कर यह दिखाने की कोशिश की है कि सरकार शिक्षा के प्रति काफी सजग है लेकिन बजट में यह नहीं बताया कि बढ़ा हुआ शिक्षा बजट क्या सरकारी स्कूलों के भवन निर्माण या लाइब्रेरी के लिए या नए स्कूलों के लिए या पुरानी बिल्डिंग की मरम्मत या सैलरी के लिए रखा गया है। पिछले साल की तुलना में इस वर्ष महंगाई भी बढ़ी है। खास बात है कि इस बजट में योजना का आकार बढ़ा है जो कि सभी जानते हैं कि जिनकी परमानेंट नौकरी नहीं होती है सरकार उनको योजना से ही सैलरी देती है।

यह भी पढ़े  अंतरात्मा से बात कर फिर पलटी मारने की सोच रहे हैं ना चाचा जी :तेजस्वी यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here