राजधानी के भंवर पोखर में बनेगा बाल भवन:राज्यपाल

0
98
PATNA MEIN BAL BHVAN BANANE KI PERYOJNA PER RAJBHVAN MEIN AYOJIT BAITHAK KO SAMBODHIT KERTE RAJPAL LAL JI TONDON

राजभवन ने अपनी लोकोन्मुखी कोशिशों के तहत राजधानी पटना में भंवर पोखर स्थित बिहार राज्य बाल कल्याण परिषद् की जमीन पर ‘‘बाल भवन’ के निर्माण के लिए आवश्यक प्रक्रिया शीघ्र पूरी करने के लिए भवन निर्माण विभाग से अनुरोध किया है। इस क्रम में आज राजभवन में एक उच्चस्तरीय बैठक भी राज्यपाल श्री लाल जी टंडन की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई, जिसमें राज्यपाल के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह,भवन निर्माण विभाग के मुख्य वास्तुविद अनिल कुमार सहित राज्यपाल सचिवालय के कई वरीय अधिकारी उपस्थित थे।बैठक में राज्यपाल को बताया गया कि प्रस्तावित ‘‘बाल भवन’ का निर्माण पर्यावरणीय एवं आपदा प्रबंधन के प्रावधानों के अनुरूप तथा भवन निर्माण के आधुनिक मानकों के आधार पर कराये जाने हेतु विशिष्टयां तैयार की जा रही हैं। स्थानीय खेतान मार्केट, पटना के समीप भंवर पोखर में बिहार राज्य बाल कल्याण परिषद् की भूमि पर प्रस्तावित इस बाल भवन में बच्चों के सर्वांगीण विकास हेतु हर प्रकार की आधारभूत संरचनाएं विकसित की जायेगी। अधिकारियों ने राज्यपाल को जानकारी दी कि प्रस्तावित इस बहुमंजिले भवन के दो ऊपरी तलों को व्यावसायिक उपयोग हेतु स्वीकृति प्रदान करते हुए इससे होने वाले उपार्जन से बच्चों के शारीरिक-मानसिक विकास हेतु पुस्तकालय, कम्प्यूटर लैब, सिनेमा हॉल, बैडमिंटन कोर्ट आदि की गुणवत्तापूर्ण व्यवस्था भी सुनिश्चित करायी जायेगी। बैठक में राज्यपाल ने कहा कि इस भवन के व्यावसायिक उपयोग के बावजूद बच्चों के लिए संचालित सभी गतिविधियां अबाध रूप से संचालित हों इसके लिए प्रस्तावित भवन-परिसर में फुलप्रूफ व्यवस्था होनी चाहिए। राज्यपाल ने बैठक में कहा कि इस भवन में ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए ताकि दिव्यांग बच्चों को भी ऊपरी तलों पर जाने में कोई कठिनाई नहीं हो। उन्होंने कहा कि यहां पर बुजुगरे के लिए भी समुचित व्यवस्था होनी चाहिए, ताकि बच्चे बुजुगरे के प्रति भारतीय संस्कृति के अनुरूप आचरण करने का अपना संस्कार विकसित करें। उन्होंने कहा कि इस ‘‘बाल भवन परिसर’ में ‘‘दादा-पोता-प्रकोष्ठ’ भी होना चाहिए। जिसमें बच्चे अपने बुजुगरे से ज्ञान एवं अनुभव की कथाएं एवं बातें सुनकर जीवन मंत्र प्राप्त कर सकें। राज्यपाल ने भवन में कम्प्यूटर लैब, सीसीटीवी कैमरे, कैफिटेरिया आदि की व्यवस्थाएं भी कराने को कहा। भवन में सोलर प्रकाश व्यवस्था कराये जाने का भी निर्णय हुआ। श्री टंडन ने कहा कि यह भवन पर्यावरण की दृष्टि से भी उत्कृष्ट तथा पूर्णत: ‘‘ इको फ्रेन्डली’ होना चाहिए। आज आयोजित बैठक में तीन भिन्न-भिन्न कार्य एजेन्सियों ने भवन निर्माण विभाग के मुख्य वास्तुविद् के साथ बाल भवन के निर्माण से संबंधित तीन प्रस्तुतीकरण दिये। इनके अनुसार ग्राउंड तल पर अतिमहत्वपूर्ण व्यक्तियों के कमरों के अतिरिक्त वेटिंग लॉज, ओपेन पार्किंग, प्रथम तल पर कम्यूनिटी हॉल, दो कमरे, लॉबी, द्वितीय तल पर कम्प्यूटर लैब, तीसरे तल पर इंडोर गेम एवं चेसरूम, चौथे तल पर मीटिंग हॉल, बैडमिंटन हॉल, कॉमन रूम, ऑडियो-वीडियो हॉल आदि के निर्माण का प्रस्ताव समर्पित किया गया। बैठक में राज्यपाल ने कहा कि मुख्य वास्तुविद एवं अन्य विशेषज्ञ पदाधिकारी अन्य उच्च अधिकारियों के साथ मिलकर शीघ्र ‘‘बाल भवन’ की परियोजना को अंतिम रूप देने का प्रयास करें ताकि योजना पर शीघ्र अमल शुरू हो सके।

यह भी पढ़े  Munger Rescue Operation: SDRF का वो जांबाज़ अधिकारी जिसने सना को सुरक्षित बाहर निकाला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here