योगी आदित्यनाथ सरकार ने किया एलान साधु संतों को भी मिलेगा अब पेंशन

0
144

आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनज़र उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार प्रयागराज में चल रहे कुंभ को साधने में जुट गई है. योगी सरकार ने आज साधु संतों को पेंशन देने का बड़ा एलान किया है. योगी सरकार के इस एलान के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने तंज कसा है. उन्होंने कहा है कि इस योजना के तहत राम, सीता और रावण को भी पेंशन दी जाए.

योगी सरकार ने क्या एलान किया है?

दरअसल राज्य सरकार ने वृद्धावस्था पेंशन योजना के तहत सभी निराश्रित व्यक्तियों (महिलाओं, विकलांगों सहित) को पहले 400 रुपए की तुलना में 500 रुपए प्रति माह पेंशन देने का फैसला किया है. बड़ी बात यह है कि इसमें अब साधु संतों को भी शामिल किया गया है. बताया जा रहा है कि जल्द ही प्रदेश के सभी जिलों में शिविर लगाकर साधु-संतों का पंजीकरण कराया जाएगा.

कुंभ में होगी योगी सरकार की अगली कैबिनेट बैठक

यह भी पढ़े  फिलहाल NDA में ही रहेंगे उपेंद्र कुशवाहा

वहीं, योगी सरकार ने कैबिनेट की अगली बैठक कुंभ में कराने का फैसला भी किया है. ऐसा पहली बार होगा कि राज्य सरकार लखनऊ के बाहर कैबिनेट बैठक करेगी. बताया जा रहा है कि 29 जनवरी को होने वाली इस कैबिनेट बैठक से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संगम में डुबकी भी लगाएंगे.

अखिलेश यादव ने क्या कहा है?

बता दें कि योगी सरकार के पेंशन देने के फैसले पर अखिलेश यादव ने निशाना साधा है. उन्होंने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है, ‘’समाजवादी पार्टी की सरकार ने रामलीला के पात्रों को पेंशन देने की स्कीम शुरू की थी. सीएम योगी भी राम, सीता और रावण को पेंशन दें.’’ उन्होंने कहा, ‘’साधु-संतों को कम से कम 20 हजार रुपए महीने पेंशन मिले और यश भारती और समाजवादी पेंशन भी शुरू हो जाए.’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here