ये लोग देशद्रोह कानून खत्म करना चाहते हैं ये सुनकर मेरा खून गर्म हो जाता है :प्रधानमंत्री

0
108

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार के चम्पारण में एक रैली को संबोधित किया. इसमें उन्होंने विपक्षी दलों को अपने निशाने पर लिया. कांग्रेस के घोषणा पत्र पर पीएम मोदी ने कहा कि ये लोग देशद्रोह कानून खत्म करना चाहते हैं. सेना को दिए गए विशेषाधिकार (AFSPA) वापस लेना चाहते हैं. ये सुनकर मेरा खून गर्म हो जाता है कि 70 साल तक राज करने वाली पार्टी इतना नीचे कैसे गिर गई.

‘नक्‍सलवाद और आतंकवाद पर हमारी नीति साफ’

पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद और नक्सलवाद को खत्म करने लिए हमाीर नीति साफ है. हमारी नीति और रणनीति का दम आज पूरी दुनिया देख रही है. देश में आतंकवाद पर लगाम लग गई है. रोज होने वाले बम धमाके अब बंद हो चुके हैं. सुरक्षा एजेंसियां आज चौकन्नी होकर काम कर रही हैं और मैंने आदेश दिया है कि सेना के हाथ बांधे नहीं जाएंगे.

भारत अब चुप नहीं बैठेगा

यह भी पढ़े  राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों का हुआ ऐलान, 'अंधाधुन' को मिला बेस्ट हिंदी फिल्म का अवॉर्ड

पीएम मोदी ने एक बार फिर दोहराया कि भारत अब आतंकी हमलों को सहन नहीं करेगा. अब भारत चुप नहीं बैठेगा. हम पर जो बुरी नजर डालेगा उसपर उतनी ही सख्ती से वार किया जाएगा. आतंकी हो या आतंक के मददगार घर में घुसकर मारा जाएगा. वो गोली चलाएंगे तो मोदी गोला चलाएगा.

उन्होंने कहा कि सत्ता हमारे लिए सेवा का माध्यम है, वहीं विरोधी दलों के लिए यह मेवा कमाने का जरिया. पीएम मोदी ने कहा कि चार चरणों के चुनाव खत्म होने के बाद विपक्ष ने हार का बहाना ढूंढ़ना शुरू कर दिया है. पहले मुझे दिन-रात गाली देने वाले लोग अब ईवीएम और चुनाव आयोग को गाली दे रहे हैं. पीएम मोदी के साथ इस रैली में सीएम नीतीश कुमार और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान भी मौजूद थे.

पीएम मोदी ने कहा कि विरोधी दलों के नेताओं ने अब प्रधानमंत्री पद का सपना देखना बंद कर दिया है. अब विपक्ष का नेता कौन बने इसके लिए लड़ाई हो रही है. उन्होंने कहा कि विपक्ष का नेता पद पाने के लिए कम से कम 54 सीटें चाहिए, लेकिन लोगों की ताकत से 2014 में जनता ने इन्हें संसद में इस लायक भी नहीं छोड़ा था.

यह भी पढ़े  सुश्री बछेन्द्री पाल के नेतृत्व में पटना के गांधी घाट पहुंची ‘‘मिशन गंगे’ की टीम

पीएम मोदी ने कहा कि देश में चार चरणों के मतदान के बाद सारे महामिलावटी दलों के झूठे दावों की पोल खुल गई है. वंशवाद और भ्रष्टाचार की काली कमाई से इन लोगों में जो अहंकार पैदा हुआ है उसे बिहार के लोगों ने ठीक करने का ठान लिया है. इसलिए हारे लोग अब इससे बाहर निकलने का रास्ता तलाश रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here