मोतिहारी में पटना के व्यवसायी की हत्या

0
23

पूर्वी चंपारण जिले में मोतिहारी थाना क्षेत्र के सुगौली-छपरा बहास सड़क पर सोमवार को अपराधियों ने पटना शहर के मोबाइल फोन कारोबारी की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस सूत्रों ने यहां बतया कि व्यवसायी अर¨वद चौधरी कार से पटना से नेपाल जा रहे। रास्ते में सुगौली-छपरा बहास सड़क पर अपराधियों ने वाहन रुकवाकर उन्हें गोली मार दी। इस घटना में कारोबारी की मौके पर ही मौत हो गई जबकि अपराधियों की गोलीबारी में वाहन के चालक वीरू प्रसाद को भी गोली लगी। उसे गंभीर हालत में निकट के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। सूत्रों ने बताया कि अपराधी व्यवसायी की लाश को उनकी ही कार से लेकर भागने लगे, लेकिन वेलोग लोग ज्यादा दूर नहीं जा सके, क्योंकि गाड़ी पूर्वी चंपारण के रमगढ़वा के त्रिवेणी गांव के पास जाकर एक गड्ढे में फंस गई। इसके बाद अपराधी फरार हो गए। स्थानीय लोगों से सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

पटना/पूर्वी चंपारण : बोरिंग रोड निवासी व्यवसायी अरविंद चौधरी  (40 वर्ष) की मोतिहारी जिले के सुगौली-छपरा बहास रोड पर सोमवार को पटना से  रक्सौल जाने के दौरान दिनदहाड़े गाेली मारकर हत्या कर दी गयी. इस दौरान ड्राइवर बीरू प्रसाद सीने में गोली लगने से  गंभीर रूप से घायल हो गया.
ड्राइवर गोली लगने के बाद गाड़ी से कूद गया. वहीं अपराधी व्यवसायी की लाश को उसकी ही गाड़ी में ही रखकर भागने  लगे. हालांकि गाड़ी पूर्वी चंपारण के रामगढ़वा  के त्रिवेणी गांव के समीप भुलोटना माई स्थान के पास कच्ची सड़क पर फंस  गयी, इसलिए अपराधी गाड़ी छोड़कर फरार हो गये. पुलिस ने व्यवसायी की लाश और  गाड़ी को कब्जे में लिया है.
वहीं चालक को इलाज के लिए रहमानिया नर्सिंग होम में भर्ती कराया है. ड्राइवर पटना के लोदीपुर का रहने वाला है. घटना सोमवार दोपहर एक  बजे की बतायी जा रही है. अरविंद चौधरी पटना के बड़े मोबाइल फोन व्यवसायियों में शुमार थे. बोरिंग रोड व बाकरगंज में ही उनका मोबाइल शॉप व कारोबार है.
आनंदपुरी के शिवकुंज अपार्टमेंट में है व्यवसायी का फ्लैट: मोबाइल व्यवसायी अरविंद चौधरी का एसकेपुरी थाना क्षेत्र के गांधीनगर आनंदपुरी में शिवकुंज अपार्टमेंट में फ्लैट है. वह यहां पर अपनी फैमिली के साथ रहते थे. यहां अरविंद चौधरी की हत्या के बाद मातम छाया हुआ है.
घटना के बाद फैमिली के लोग मोतिहारी के लिए निकल गये हैं, जबकि उनके रिश्तेदार यहां मौजूद हैं. हत्या की घटना से सभी हतप्रभ हैं. अपार्टमेंट के लोगों का कहना है कि अरविंद काफी मिलनसार थे, किसी प्रकार का विवाद या दुश्मनी की बात सामने नहीं आयी है.
मोतिहारी पुलिस ने पटना के एसकेपुरी थाने से संपर्क किया है और मृतक के बारे में जानकारी प्राप्त की है. वहीं ड्राइवर बीरू के घरवाले भी मोतिहारी के लिए निकल गये हैं. उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है. लेकिन जिस तरह से घटनाक्रम सामने आया है उससे लूट की वजह से हत्या की बात कही जा रही है.
गाड़ी लूटने के प्रयास का शक
जिस तरह से अपराधी गाड़ी और  व्यवसायी की लाश को लेकर भाग रहे थे उससे इस बात के संकेत मिल रहे हैं कि  गाड़ी लूटने का प्रयास था. इसलिए दोनों पर हमला किया गया. अपराधी लाश लेकर  नेपाल बाॅर्डर तक जाते, लाश को कहीं फेंक देते और गाड़ी को नेपाल लेकर चले  जाते. हालांकि पुलिस अभी कुछ भी बोलने से इन्कार कर रही है. मामले की जांच  कर रही है. उधर चालक का रहमनिया अस्पताल में इलाज चल रहा है.
दो परिचितों ने ही रुकवायी गाड़ी 
जानकारी के अनुसार पटना  बोरिंग रोड के शिवकुंज  अपार्टमेंट में रहनेवाले व्यवसायी अरविंद चौधरी अपनी  कार महिंद्रा केयूवी (बीआर 01-पीजे-1064) से रक्सौल जा रहे  थे. इस दौरान  मोतिहारी में दो  परिचित उनका इंतजार कर रहे थे.
बंजरिया रेलवे गुमटी के पास  उन्होंने गाड़ी  रुकवायी और बैठ गये. सुगौली के छपवा  बहास गांव के  पास पहुंचते ही गाड़ी में बैठे व्यवसायी के दोनों परिचितों ने  पहले चालक  को गोली मारी, उसके बाद व्यवसायी को. व्यवसायी की गाड़ी में ही  मौत हो  गयी.
गोली लगने के बाद चालक गाड़ी से कूद गया. अपराधी गाड़ी सहित व्यवसायी के शव को लेकर सुगौली होते  हुए  रामगढ़वा की तरफ भाग निकले.
कच्ची सड़क में कीचड़ होने से त्रिवेणी  गांव के समीप भुलोटना माई स्थान के पास कार फंस गयी, जिससे  अपराधी  गाड़ी में शव छोड़ फरार हो गये. सूचना पर एसपी क्षत्रनील सिंह ने  छानबीन की. व्यवसायी के पॉकेट से तीन मोबाइल बरामद  हुआ है.  पुलिस मोबाइल का सीडीआर निकाल अपराधियों तक पहुंचने की कोशिश में  लगी है.
हत्या के कारणों का अबतक पता नहीं चल  सका है. व्यवसायी मूल रूप से वैशाली के लालगंज के चिमनापुर का रहने वाला  था. पटना में मोबाइल व मेमोरी कार्ड का कारोबार था. वह परिवार के साथ पटना  में रहता था. घटना को उसके जानने वालों ने अंजाम दिया है. उनकी पहचान की जा  रही है. बहुत जल्द आरोपित को गिरफ्तार कर लिया जायेगा.
क्षत्रनील सिंह, एसपी, पूर्वी चंपारण
 
मोतिहारी : पुलिस ने खंगाली व्यवसायी के मोबाइल की कॉल डिटेल
मोतिहारी : मोबाइल व्यवसायी अरविंद चौधरी  सोमवार को पटना से केयूबी गाड़ी से रक्सौल के लिए करीब 6:30 बजे निकले. पुलिस ने उनका मोबाइल टावर  लोकेशन व कॉल डिटेल निकाला  तो 10:45 बजे के आसपास  उनका  लोकेशन जीवधारा में मिला है. जीवधारा में 20 मिनट तक रुकने के बाद 11:25 के लगभग उनका लोकेशन बलुआ में मिला.
पटना से  सुगौली के बीच उनके मोबाइल पर दर्जन भर से अधिक कॉल आया. उसमें दो नंबर को पुलिस संदिग्ध  मान अनुसंधान करने में जुटी है. संदिग्ध  दोनों नंबर व्यवसायी के मोबाइल में नाम से सेव हैं. उसमें एक नंबर रक्सौल के मोबाइल व्यवसायी की है. पुलिस हत्याकांड को प्रथम दृष्टया व्यवसायी विवाद से  जोड़ कर देख रही है. सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराने  आये व्यवसायी के भाई शशि चौधरी ने बताया कि उनकी किसी से दुश्मनी नहीं थी.
ऐसे में पुलिस के सामने हत्या की गुत्थी सुलझाना चुनौती से कम    नहीं है. एसपीक्षत्रनील सिंह ने बताया कि हत्याकांड के उद्भेदन को लेकर एसआईटी का गठन किया गया है. वैज्ञानिक पद्धति से अनुसंधान किया जा रहा है. बहुत जल्द हत्यारों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया जायेगा.
मोबाइल व्यवसायी अरविंद चौधरी  सोमवार को पटना से केयूवी गाड़ी से रक्सौल के लिए करीब 6:30 बजे निकले थेसदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराने आये व्यवसायी के भाई शशि चौधरी ने बताया कि उनकी किसी से दुश्मनी नहीं थी.
बेटे ने तीन अज्ञात पर करायी प्राथमिकी
मोतिहारी. अरविंद चौधरी  को चलती गाड़ी में गोली मार हत्या मामले में उनके पुत्र प्रेमदीप कुमार ने तीन अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी है. उसने पुलिस को बताया है  कि सुबह में उसके पिता गाड़ी से चालक बीरू प्रसाद के साथ रक्सौल जाने के लिए निकले.
हत्या कर कैश व शरीर से उतार लिये लाखों रुपये व गहने : पटना बाकरगंज के मोबाइल व्यवसायी अरविंद चौधरी ससुराल वालों से मिलने के साथ बिजनेस के सिलसिले में रक्सौल जा रहे थे. सदर अस्पताल पहुंचे भाई शशि चौधरी ने बताया कि उनके पास लगभग ढाई-तीन लाख रुपये थे. वहीं गले में सोने का चेन व ब्रासलेट भी था. हत्या के बाद न तो रुपये से भरा  बैग मिला, न ही चेन व ब्रासलेट.
इस दौरान मोतिहारी  में उनके किसी दो-तीन परिचित  मिल गये, जो उनके साथ गाड़ी में बैठ रक्सौल के लिए चले. दो बजे के आसपास चालक ने फोन कर बताया कि मालिक को मोतिहारी में गाड़ी पर बैठे अपराधियों ने गोली मार हत्या कर दी है.
उसने यह भी बताया कि गोली उसे भी लगी है. उसने पुलिस को आगे बताया है कि पटना के बाकरगंज में मोबाइल व मेमोरी कार्ड होलसेल दुकान है. पटना से मामा के घर रक्सौल जाने के लिए निकले थे.
इस दौरान  उनकी हत्या कर दी गयी. थानाध्यक्ष सुनील कुमार ने  बताया कि मृतक के पास से तीन मोबाइल बरामद हुआ है. तीनों का आउटगोइंग व इनकॉमिंग कॉल का डिटेल निकाला जा रहा है. कुछ संदिग्ध मोबाइल नंबर मिले है, जिससे पटना से चलने के बाद उनकी बातचीत हुई है. अनुसंधान चल रहा है. बहुत जल्द खुलासा कर लिया जायेगा.
यह भी पढ़े  प्रधानमंत्री के पटना दौरे में 5000 करोड़ की योजनाओं का होगा शिलान्यास

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here