मैट्रिक की वार्षिक परीक्षा आज से पटना जिले में 74 परीक्षा केंद्र, चार मॉडल

0
66
Patna-Feb.20,2019-Chairman, Bihar School Examination Board, Anand Kishore is holding governing body meeting at his chamber in Patna.

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति, पटना की वार्षिक माध्यमिक (मैट्रिक) परीक्षा 21 फरवरी को दोनों पालियों में अंग्रेजी (सामान्य) विषय की परीक्षा के साथ प्रारंभ होगी। परीक्षा का आयोजन राज्य के सभी 38 जिलों में बनाये गये कुल 1,418 परीक्षा केन्द्रों पर किया जायेगा। परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए कुल 16,60,609 विद्यार्थियों (8,37,075 छात्राएं एवं 8,23,534 छात्रों) ने परीक्षा फार्म भरा है। समिति के स्तर पर परीक्षा की सारी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं। स्वच्छ, नकलमुक्त एवं कड़ाई के साथ परीक्षा के आयोजन के लिए समिति द्वारा राज्य के सभी जिलों के जिला पदाधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक को आवश्यक निदेश दिया जा चुका है। राज्य के सभी जिलों में बनाये गये परीक्षा केन्द्रों पर त्रिस्तरीय मजिस्ट्रेट की प्रतिनियुक्ति यथा जोनल, सब जोनल तथा सुपर जोनल स्तर पर की गई है। साथ ही परीक्षा केन्द्रों पर पर्याप्त संख्या में पुलिस बल/ पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति कर ली गई है। इस संबंध में आनंद किशोर, अध्यक्ष, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने बताया कि परीक्षा में सम्मिलित होने वाले छात्र-छात्राओं की दो बार जांच करने का निर्देश दिया गया है। पहली बार गेट पर प्रवेश के समय तथा दूसरी बार परीक्षा हॉल में वीक्षकों द्वारा जांच की जाएगी। प्रत्येक 25 अभ्यर्थी पर एक वीक्षक सभी 25 अभ्यर्थियों की जांच करते हुए इस संबंध में एक घोषणा पत्र भी देंगे कि इन विद्यार्थियों के पास कोई अवांछित वस्तु नहीं पायी गयी है। परीक्षा केन्द्र के 200 मीटर की परिधि में धारा 144 प्रभावी रहेगी। परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षार्थियों के अतिरिक्त अनधिकृत व्यक्ति का प्रवेश वर्जित रहेगा। अध्यक्ष ने बताया कि केन्द्राधीक्षक/प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी की यह जिम्मेदारी होगी कि वे सुनिश्चित करें कि कर्त्तव्य पर प्रतिनियुक्त शिक्षक एवं अन्य कर्मी अपने साथ परीक्षा कायरे से संबंधित वैध कागजात के अलावा कोई अन्य कागजात परीक्षा केन्द्र पर नहीं ले जायें। मोबाइल का उपयोग भी वर्जित रखें।पहले दिन 21 फरवरी को प्रथम पाली में अंग्रेजी (सामान्य) विषय की परीक्षा 09:30 बजे पूर्वाह्न से 12:45 बजे अपराह्न तक आयोजित होगी। द्वितीय पाली में भी अंग्रेजी (सामान्य) विषय की परीक्षा 01:45 बजे अपराह्न से 05:00 बजे अपराह्न तक आयोजित की जायेगी। इस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए परीक्षा फॉर्म भरे हुए 16,60,609 विद्यार्थियों में कुल 8,42,888 विद्यार्थी (4,28,273 छात्राएं एवं 4,14,615 छात्र) पूरे परीक्षा के दौरान प्रथम पाली की परीक्षा में सम्मिलित होंगे। इसी प्रकार कुल 8,17,721 विद्यार्थी (4,08,802 छात्राएं एवं 4,08,919 छात्र) पूरे परीक्षा के दौरान द्वितीय पाली की परीक्षा में सम्मिलित होंगे। 
पटना। वार्षिक माध्यमिक परीक्षा 2019 के लिए पटना जिले में कुल 74 परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं। पटना जिला में 74 परीक्षा केन्द्रों पर दोनों पालियों को मिलाकर कुल 76,432 विद्यार्थी इस परीक्षा में सम्मिलित होंगे। सभी जिलों में चार की संख्या में मॉडल परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं। इन केन्द्रों पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी, वीक्षक सहित सभी सुरक्षाकर्मी भी महिलाएं हैं। पटना जिले में बनाये गये चार मॉडल परीक्षा केन्द्र बांकीपुर गर्ल्स हाई स्कूल, राजकीय बालिका उच्च विद्यालय, शास्त्रीनगर, राजकीय बालिका उच्च विद्यालय, गर्दनीबाग एवं कमला नेहरू बालिका उच्च विद्यालय, यारपुर, गर्दनीबाग हैं। 
परीक्षा संचालन के लिए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा नियंतण्रकक्ष स्थापित किया गया है, जो 20 से कार्यरत हो गया है और 28 फरवरी तक 24 घंटे कार्यरत रहेगा। नियंतण्रकक्ष की दूरभाष संख्या 0612-2230039, 0612-2235161 एवं फैक्स नं 0612-2222726 है। वार्षिक माध्यमिक (मैट्रिक) परीक्षा 2019 से संबंधित किसी भी प्रकार की सूचना इस नंबर पर दी जा सकती है। 

थम पाली के परीक्षार्थियों को परीक्षा प्रारंभ होने के समय (पूर्वाह्न 09:30 बजे) से 10 मिनट पूर्व अर्थात् पूर्वाह्न 09:20 बजे तक परीक्षा भवन में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। इसी प्रकार द्वितीय पाली में परीक्षार्थियों को द्वितीय पाली की परीक्षा प्रारम्भ होने के समय (अपराह्न 01:45 बजे) से 10 मिनट पूर्व अर्थात् 01:35 बजे तक ही परीक्षा भवन में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। ओएमआर उत्तर पत्रक एवं उत्तरपुस्तिका परीक्षार्थी को एक साथ उपलब्ध करायी जाएगी। सभी पालियों में 15 मिनट का आरंभिक समय परीक्षार्थी को प्रश्नों को पढ़ने व समझने के लिए दिया गया है। समिति द्वारा परीक्षा में प्रश्न पत्रों के 10 सेट तैयार किये गये हैं, जिससे सीटवार हर 10 विद्यार्थी तक अलग-अलग सेट में प्रश्न पत्र दिये जायेंगे। जूता-मोजा पहनकर परीक्षा केन्द्र में प्रवेश करना रहेगा वर्जित परीक्षार्थियों के लिए जूता-मोजा पहन कर परीक्षा केन्द्र में प्रवेश करना वर्जित रहेगा। परीक्षार्थी को परीक्षा केन्द्र में कैलकुलेटर, मोबाइल फोन, ब्लूटूथ, ईयरफोन या अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स आदि लाना अथवा प्रयोग करना वर्जित है। पहली बार ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि वार्षिक माध्यमिक परीक्षा 2019 के विद्यार्थियों के लिए उपलब्ध करायी जाने वाली उत्तरपुस्तिका एवं ओएमआर उत्तर पत्रक में परीक्षार्थी का नाम, रौल कोड, रौल नंबर, विषय कोड, विषय का नाम, पाली, पंजीयन संख्या एवं परीक्षा की तिथि आदि प्री-प्रिंटेड रहेगा।

यह भी पढ़े  पुण्यतिथि पर याद किये गये ब्रजनंदन बाबू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here