मैट्रिक और इंटर के टॉपर सम्मानित

0
15
Patna-Dec.3,2018-Bihar Education Minister Krishna Nandan Prasad Verma is honouring students during Medha Diwas Samaroh at Gyan Bhawan in Patna.

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति, पटना की ओर से ज्ञान भवन, सम्राट अशोक कन्वेंशन केन्द्र में मेधा दिवस समारोह का आयोजन किया गया। शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा समारोह के मुख्य अतिथि थे। इस अवसर पर आरके महाजन, अपर मुख्य सचिव, शिक्षा विभाग, बिहार, आनंद किशोर, अध्यक्ष, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति भी उपस्थित थे। कार्यक्रम स्थल के बाहर कॉरिडोर में देशरत्न डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की जीवनी पर आधारित प्रदर्शनी लगायी गयी थी। इस अवसर पर इंटरमीडिएट एवं मैट्रिक वार्षिक परीक्षा 2018 के मेधावी विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया। पुरस्कार पाने वाले विद्यार्थियों में टॉप-10 विद्यार्थी मैट्रिक तथा इंटरमीडिएट के तीनों संकायों यथा वाणिज्य, कला एवं विज्ञान के टॉप 05 विद्यार्थी थे। पुरस्कृत इंटरमीडिएट (वाणिज्य, कला एवं विज्ञान संकाय के विद्यार्थियों को अलग-अलग) एवं मैट्रिक परीक्षा के प्रथम परीक्षार्थी को एक लाख रुपये, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले परीक्षार्थी को 75 हजार रुपये तथा तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले परीक्षार्थी को 50 हजार रुपये प्रदान किये गये। साथ ही उन्हें एक-एक लैपटॉप, कैंडल ई-बुक रीडर, प्रशस्ति-पत्र तथा मेडल देकर अतिथियों ने सम्मानित किया। इसके अतिरिक्त इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा में चतुर्थ एवं पंचम स्थान प्राप्त करने वाले परीक्षार्थियों को 115 हजार रुपये, प्रशस्ति-पत्र, मेडल एवं लैपटॉप प्रदान किया गया। साथ ही वार्षिक माध्यमिक परीक्षा में चतुर्थ स्थान से दशम स्थान तक प्राप्त करने वाले परीक्षार्थियों को 10 हजार रुपये, प्रशस्ति-पत्र, मेडल एवं लैपटॉप से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर वार्षिक माध्यमिक एवं इंटरमीडिएट परीक्षा 2018 के उत्कृष्ट संचालन में सर्वश्रेष्ठ योगदान देने वाले राज्य के 10 जिलों के जिला पदाधिकारियों एवं जिला शिक्षा पदाधिकारियों को भी पुरस्कृत किया गया। इनमें बेगूसराय, भागलपुर, पूर्वी चम्पारण, दरभंगा, गया, जहानाबाद, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, नालंदा एवं पटना जिला शामिल हैं। इस अवसर पर शिक्षा मंत्री ने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति में परीक्षा पद्धति एवं पूरी व्यवस्था में कम्प्यूटरीकृत व्यवस्था के तहत किये जा रहे कायरे के लिए समिति अध्यक्ष की प्रशंसा की। सरकारी विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने की मुख्यमंत्री के लक्ष्य की विस्तारपूर्वक र्चचा की। इस अवसर आरके महाजन ने शिक्षा विभाग एवं बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की उपलब्धियों का उल्लेख किया। इस अवसर पर आनंद किशोर ने कम्प्यूटरीकृत व्यवस्था के तहत समिति में परीक्षा व्यवस्था में किये जा रहे आमूल-चूल बदलावों पर विशेष बल दिया। डॉ. राजेन्द्र प्रसाद स्मृति व्याख्यान में दिया गया मूल्यों व संस्कारों पर जोरमेधा दिवस 2018 के अवसर पर आयोजित इस कार्यक्रम में पद्मश्री (प्रो.) जगमोहन सिंह राजपूत, विख्यात शिक्षाविद् द्वारा डॉ. राजेन्द्र प्रसाद स्मृति व्याख्यान दिया गया, जिसमें उनके द्वारा मानव मूल्यों एवं संस्कारों पर विशेष बल दिया गया। कार्यक्रम के अंत में पटना जिला के विभिन्न शिक्षण संस्थानों के विद्यार्थियों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई। किलकारी बाल भवन के बच्चों ने ‘‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ थीम पर नृत्य की प्रस्तुति की। अधोर प्रकाश, शिशु सदन के बच्चों ने देशभक्ति नृत्य प्रस्तुत किये। झांसी की रानी की प्रस्तुति गुरु गोविंद सिंह उच्च विद्यालय, पटना सिटी के छात्र-छात्राओं द्वारा दी गई। रामलखन सिंह उवि, पुनाईचक, राजकीय कन्य उवि, गर्दनीबाग, बांकीपुर राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थियों ने क्रमश: सृष्टि की जननी, राष्ट्रीय एकता, यूजन थीम पर नृत्य प्रस्तुत किया तथा दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

यह भी पढ़े  गांधी मैदान में आयोजित वसंत उत्सव में पेश किया गया रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here