मुश्किल में चंद्रबाबू नायडू, तोड़ा जा रहा 8 करोड़ का आलीशान बंगला

0
77

आंध्र प्रदेश के नए मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के आदेश के बाद प्रशासन ने पूर्व सीएम एन. चंद्रबाबू नायडू की ‘प्रजा वेदिका’ बिल्डिंग को तोड़ना शुरू कर दिया है. मंगलवार रात से ही ‘प्रजा वेदिका’ पर बुलडोजर चलना शुरू हो गया. बता दें कि तोड़फोड़ का काम शुरू होने के वक्त चंद्रबाबू नायडू मौके पर मौजूद नहीं थे. वह परिवार के साथ लंबी छुट्टी पर थे, सुबह ही लौटे हैं. अभी वह प्रजा वेदिका के अंदर ही हैं. नायडू के इस बंगले की कीमत 8 करोड़ बताई जा रही है.

जगनमोहन रेड्डी ने मंगलवार को अपने पूर्ववर्ती और नेता प्रतिपक्ष एन. चंद्रबाबू नायडू पर आरोप लगाया कि वह कृष्णा नदी के किनारे गैर-कानूनी घर में रह रहे हैं. उन्होंने नायडू के आवास से सटे ‘प्रजा वेदिका’ में जिला कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक की थी. इसके बाद उन्होंने घोषणा की थी कि नदी के तट पर अवैध संरचनाओं को ढहाने की शुरुआत ‘प्रजा वेदिका’ से होगी.

यह भी पढ़े  बीजेपी ने कर्नाटक चुनावों के लिए अपनी दूसरी लिस्ट घोषित की

इससे पहले परिसर में फर्नीचर और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को हटाने का काम किया गया था. साथ ही तेलुगू देशम पार्टी के नेताओं के विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए पुलिस की एक बड़ी टीम को भी परिसर के बाहर तैनात किया गया.

पूर्व मंत्रियों की सुरक्षा में हो रही कटौती
आंध्र प्रदेश की सत्ता से विदाई के बाद चंद्रबाबू नायडू को मिल रही सहूलियतें कम होती जा रही हैं. तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू के परिवार के सदस्यों की सुरक्षा में भी कटौती की गई है. बेटे नारा लोकेश को मिली जेड श्रेणी की सुरक्षा को हटा लिया गया है. पूर्व मंत्री नारा लोकेश की सुरक्षा को 5+5 से घटाकर 2+2 कर दिया गया है.

5 जून को जगनमोहन रेड्डी को लिखा था पत्र
बता दें कि ‘प्रजा वेदिका’ का निर्माण पिछली तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) सरकार द्वारा एन. चंद्रबाबू नायडू के आधिकारिक निवास के बगल में किया गया था. इसका उपयोग सरकार और पार्टी गतिविधियों दोनों के लिए किया जा रहा था. हाल ही में लोकसभा और विधानसभा चुनावओं में मिली करारी हार के बाद, नायडू ने 5 जून को मुख्यमंत्री वाई एस जगन मोहन रेड्डी को पत्र लिखा था, जिसमें उन्होंने अनुरोध किया था कि वह पूर्व आधिकारिक निवास के विस्तार के रूप में विचार करके भवन का उपयोग करने की अनुमति दें. नायडू ने कहा कि वह अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं और लोगों से मिलने के लिए भवन का उपयोग करना चाहेंगे.

यह भी पढ़े  कर्नाटक में बोपैया ही बने रहेंगे प्रोटेम स्पीकर, सभी चैनल फ्लोर टेस्ट का Live प्रसारण करें: सुप्रीम कोर्ट

विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार
बता दें कि आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनावों में तेलुगू देशम पार्टी को को जगन मोहन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) के हाथों बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा था. जिसने 151 सीटों पर जीत हासिल कर 175 सदस्यीय विधानसभा में पूर्ण बहुमत हासिल किया था.

लोकसभा चुनाव में भी मिली शिकस्त
टीडीपी को विधानसभा चुनाव के अलावा हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनावों में भी वाईएसआरसीपी से करारी शिकस्त मिली. वाईएसआरसीपी को 22 सीटें मिलीं, जबकि टीडीपी को सिर्फ तीन सीटें मिलीं थीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here