मुजफ्फरपुर विवि में छात्रों का हंगामा, तालाबंदी

0
351

मुजफ्फरपुर :बिना कोई सूचना और प्रक्रिया पूरी किये विवि प्रशासन द्वारा आउटसोर्शिग में बैक डोर से 15 लोगों की नियुक्त कर लेने के सवाल पर विवि की छात्रों ने शुक्रवार को विवि प्रशासनिक भवन में जमकर हंगामा किया तथा बेक डोर से किये गए बहाली के विरोध में विवि को बंद कराय दिया। छात्रों को हंगामा और तालाबंदी को लेकर शुक्रवार को विवि का काम काज पूरी तरह ठप रहा। दूरस्थ शिक्षा निदेशालय को लेकर बीआरए बिहार विविद्यालय एक बार फिर सवालों में फंसता दिख रहा है। डीडीई में करीब डेढ़ दर्जन अवैध बहाली का आरोप पीजी हॉस्टल के छात्रों ने लगाया हैं। बताया जाता है कि कुछ छात्र विवि के एकाध अधिकारी से मिलकर इस बहाली का विरोध कर रहे हैं। छात्रों का आरोप है कि विवि ने नियमों की अनेदखी कर डीडीई में गलत तरीके से बहाली हुई है। इसके साथ ही इसकी कॉपी यूजीसी को भेजी गई है। दरअसल, डीडीई के मान्यता के लिए विवि की ओर से यूजीसी को एक शपथ भेजा गया है। इससे नियमों के तहत डीडीई के संचालन की बात कही गई है। आरोप है कि इसी के साथ बहाली की कॉपी भी भेजी गई है। छात्रों ने अपने पास बहाली से संबंधित कुछ कागजात होने का दावा भी किया है। इस बहाली को लेकर विवि में राजनीति के साथ साथ आंदोलन फिर से गरम होने लगा है। जिसके कारण पठन पाठन और कार्यलय संबंधी कार्य प्रभावित होने लगे है। बहाली का विरोध कर रहे छात्रों का तर्क है कि 15 नियुक्ति के संबंध मे विवि प्रशासन द्वारा अगर पहले विज्ञापन या नोटिस जारी गई होती तो दर्जनों बेरोजगार डिग्रीधारी युवकों को रोजगार मिल जाता, परंतु ऐसा नहीं कर विवि प्रशासन द्वारा सेटिग गेटिग कर इस नियुक्ति की प्रक्रिया को पूरा कर लिया गया।

यह भी पढ़े  63वीं बीपीएससी परीक्षा का परिणाम जारी,श्रीयांश तिवारी बने बीपीएससी टॉपर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here